Bhopal news

प्रशिक्षण से हर स्तर पर पुलिस बल दक्ष और प्रभावी होगा: सिंह

31 may 2018

* अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था में टेक्नोलॉजी की भूमिका महत्वपूर्ण 
केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के प्रमुख अंग न्याय, पुलिस और अभियोजन का औपचारिक प्रशिक्षण भी आवश्यक हैं. इस दिशा में भी पहल की जानी चाहिए. हर स्तर का पुलिस बल दक्ष और प्रभावी हो, इसके लिये उनके नियमित प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए. 
राजनाथ सिंह भोपाल में केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी का उद्घाटन कर रहे थे. सिंह ने कहा कि पुलिसकर्मी को सेवा अवधि के दौरान पांच-पांच वर्ष के अंतराल पर प्रशिक्षण मिले. प्रशिक्षण की इस व्यवस्था के लिए करीब दस हजार प्रशिक्षकों की आवश्यकता का आंकलन किया गया है. ब्यूरो आॅफ पुलिस रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट को इस दिशा में पहल के लिए कहा गया है. केन्द्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्मार्ट पुलिस निर्माण के प्रयासों में ब्यूरो की भूमिका बताते हुए कहा कि टेक्नोलाजी का अधिकतम उपयोग किया जाना चाहिए. अकादमी के पूर्णत: टेक्नोलाजी आधारित होने, फाइलों का आॅनलाईन मूवमेंट, जीरो वेस्ट और ट्रीटेड सीवेज वाटर से सिंचाई आदि प्रयासों की सराहना की. उन्होंने संस्थान में व्यापक वृक्षारोपण की आवश्यकता बतायी और इस काम में राज्य सरकार से सहयोग का अनुरोध किया. उन्होंने मुख्यमंत्री चौहान का अकादमी के लिये नि:शुल्क भूमि उपलब्ध कराने के लिए आभार माना.  सिंह ने कहा कि पुलिस के प्रति आम जनता में विश्वास का ऐसा वातावरण निर्मित हो, जिसमें आमजन थानों को न्याय के मंदिर के रूप में देखें.
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आंतरिक सुरक्षा की आधुनिक चुनौतियों से निपटने के लिये पुलिस का नियमित प्रशिक्षण जरूरी है. उन्होंने कहा है कि प्रदेश में आगामी अगस्त माह में वृक्षारोपण अभियान चलाया जाएगा. राज्य पुलिस द्वारा 15 अगस्त को अकादमी में वृक्षारोपण किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्थान के प्रदेश में स्थित होने का लाभ राज्य के पुलिस बल को भी मिलेगा. हाक पुलिस बल का प्रशिक्षण संस्थान में होगा. उन्होंने कहा कि देश में नक्सलवादी, आतंकवादी और राष्ट्रविरोधी शक्तियों से ताकत के साथ निपटने के लिए संचालित अभियान की सफलताएं दिख रही हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस का कार्य अत्यंत चुनौतीपूर्ण हैं. इस कार्य में प्रशिक्षण की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है. अपराधों के नियंत्रण और कानून-व्यवस्था में टेक्नोलॉजी की भूमिका निरंतर महत्वपूर्ण होती जा रही है. आवश्यक है कि पुलिस बल को भी समय-समय पर अत्याधुनिक साधन-संसाधनों से सम्पन्न किया जाए.
समारोह में अकादमी की परिकल्पना से व्यवहारिक रूप में सामने आने के विभिन्न चरण पर आधारित वृत्त चित्र का प्रदर्शन किया गया. अकादमी 401 एकड़ भू-भाग में फैली है. अकादमी के भवन निर्माण पर 187 और मशीन एवं संसाधनों पर 37 करोड़ रुपए व्यय किए गए हैं. शुरूआत में केन्द्रीय गृह मंत्री और मुख्यमंत्री ने पूजन-अर्चन कर परिसर का अवलोकन किया. 

कलेक्टर ने पहले पिलाया शरबत, फिर सुनी समस्याएं

30 May 2018

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले की कलेक्टर ने समस्याएं लेकर आए लोगों को पहले तो शरबत पिलाया और फिर उसके बाद उनकी समस्याएं सुनी. यह देख समस्या लेकर आए लोग भावुक हो गए और उन्होंने कलेक्टर के इस कदम की सराहना भी की.
हाल ही में पदस्थ हुई शहडोल कलेक्टर अनुभा श्रीवास्तव ने मंगलवार को पहली ही सुनवाई में अभिनव प्रयोग करते हुए जिले भर से आए आवेदकों को अपने हाथों से शरबत पिलाया. आवदेक ने पहली बार किसी शासकीय संस्थान में स्वागत पाकर अत्यन्त प्रसन्न थे. जन सुनवाई में बैठे अधिकारियों को कलेक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए कि आवेदकों की समस्याओं का त्वरित निदान किया जाए, किसी भी परिस्थिति में आवेदक को अपनी समस्या के निराकरण लिए दुबारा कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़े. जनसुनवाई में कलेक्टर के अतिरिक्त अपर कलेक्टर  सरोधन सिंह, एस.डी.एम. सोहागपुर रमेश सिंह, डिप्टी कलेक्टर प्रशांत त्रिपाठी, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे.
जनसुनवाई में बुढार में एन.आर.सी. में रसोइयां पद पर कार्यरत गीता बाई पनिका ने आवेदन दिया कि उसे पद से पृथक कर दिया गया. कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को तत्काल प्रतिवेदन देने के निर्देश दिए. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय ने तत्काल समस्या का निराकरण करते हुए उसे सेवा में रखने के निर्देश बी.एम.ओ. बुढार को दिए. इस तरह समस्या का निराकरण किया गया. जन सुनवाई में प्रमुख रुप से जमीन से संवंधित मामले, पेंशन, प्रधानमंत्री आवास, गरीबी रेखा में नाम जोड़ने से संवंधित प्रकरण प्राप्त हुए.

देश की जनता निराश थी कांग्रेस के राज से: एम.जे.अकबर

27 May 2018

केन्द्रीय मंत्री एम.जे.अकबर ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव के वक्त जो माहौल था, उसे सबने देखा. देश की जनता कांग्रेस के शासनकाल से निराश हो गई थी. देश में बदलाव के चलते मोदी प्रधानमंत्री बने, जो हर मर्ज के साथ उसका इलाज भी जानते हैं.

अकबर ने ये बात आज राजधानी में मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम प्रबुद्धजन सम्मेलन में कही. उन्होंने कहा कि 2014 में मुझे लगता था कि कहीं अगर चुनाव का परिणाम निर्णयी नहीं हुआ तो देश का क्या होगा? 1970 में दूर-दूर तक कोई रोशनी नहीं थी, लेकिन अब हमें ऐसा प्रधानमंत्री मिला है, जो हर मर्ज के साथ उसका इलाज भी जानता है.  उन्होंने कहा कि बीते चार सालों में मोदी ने बहुत सोच समझकर और तर्क के साथ काम किया है. आज दो ही चीजें महत्वपूर्ण हैं, जिसके लिए मोदीजी ने काम किया है. गरीबी देश को खा रही थी, गरीबी का मिटाने के लिए वे सक्रिय हैं. उन्होंने कहा कि आज देश की सबसे बड़ी कमजोरी गरीबी है और गरीबी को दूर करने के लिए आप सबका साथ जरूरी है. देश से गरीबी दूर करने के लिए जाति, धर्म के भेदभाव को भुलाकर साथ आगे बढ़ना होगा. 
केन्द्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस हमेशा गलत आरोप लगाती है. आंकड़ों को लेकर गलत बयानी बात कही जाती है. हम आंकड़े खायेंगे क्या? आकड़े अपनी जगह हैं. उन्होंने कहा कि आज यूरोपीय देश मोदीजी से सीखने के लिए आ रहे हैं. मोदी सरकार ने भष्टाचार को रोका है. बेहतर स्वास्थ्य के लिए काम किया है. आज देश के हर राज्य में अच्छी सड़कें हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और विरोधी दल चाहे जो कहें, अगले चुनाव में एक फिर मजबूत सरकार चुनने का मौका देश की जनता हमें देगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी हमेशा ही गैर जिम्मेदाराना बयान देते रहे हैं, जब मोदी सरकार ने आम लोगों के बैंक अकाउंट खुलवाए थे, तब भी वे हंसते थे, लेकिन आज जो परिणाम है वह आप सभी के सामने हैं. 
पड़ौसी देशों को लेकर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को उन पड़ौसी देशों की ज्यादा चिंता होती थी, जो आज हम पर ज्यादा हमले कर रहे हैं. मोदी की विदेश नीति की उन्होंने सराहना की और कहा कि उन्होंने विदेशों में हमारे संबंधों को सुधाने कहा काम किया है.
भूल गए शिवराज सिंह कितने शाल से हैं मुख्यमंत्री
केन्द्रीय मंत्री एम.जे.अकबर वैसे तो मध्यप्रदेश से ही राज्यसभा सदस्य हैं, मगर आज प्रबुद्धजन सम्मेलन के दौरान वे मध्यप्रदेश की जानकारी ही नहीं रख पाए. सम्मेलन में संबोधन के दौरान जब उन्होंने मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार के कार्यकाल की बात की और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के कामों की सराहना कर रहे थे, तभी वे यह भूल गए कि मुख्यमंत्री के रुप में शिवराजसिंह चौहान को कितना समय हो गया. उन्होंने बीच में अपना भाषण रोका और भाजपा के उपाध्यक्ष विजेश लुनावत से पूछा कि शिवराज सिंह को कितना समय हो गया मुख्यमंत्री पद पर. जब लुनावत ने जानकारी दी तो उन्होंने अपना भाषण आगे बढ़ाया.

कांग्रेस की न्याय यात्रा का तीसरा चरण 29 मई से

सोमवार, 28 मई 2018

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह 29 मई से विंध्य क्षेत्र के रीवा, सीधी, सिंगरौली से न्याय यात्रा के तीसरे चरण की शुरूआत करने जा रहे हैं. यात्रा में विधायक सुंदरलाल तिवारी और पूर्व मंत्री इंद्रजीत पटेल भी शामिल होंगे.
 यात्रा की तैयारियों के लिए मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश पर प्रभारी नियुक्त किए गए हैं. सतना के पूर्व महापौर राजाराम त्रिपाठी को रीवा, पूर्व संसदीय सचिव राजेंद्र मिश्रा को सीधी और राजेन्द्र भदौरिया को सिंगरोली में यात्रा का प्रभारी बनाया गया है. दरअसल, भारतीय जनता पार्टी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनविरोधी नीतियों और कुशासन के खिलाफ निकलने वाली पहली न्याय यात्रा की शुरूआत पांच अप्रैल को उदयपुरा से हुई थी. यहां मंत्री रामपाल सिंह की पुत्रवधु द्वारा आत्महत्या करने के दोषी मंत्री और उनके पुत्र पर कोई कार्यवाही न करने साथ ही महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के विरोध में यात्रा शुरू हुई थी.  न्याय यात्रा का दूसरा चरण 15 अप्रैल से विंध्य क्षेत्र में भगवान राम की तपोभूमि चित्रकूट से शुरू हुई थी। यह यात्रा शहडोल, सतना, उमरिया और अनूपपुर में निकाली गई थी. यात्रा के दौरान एक हजार किलोमीटर से अधिक दूरी तय की गई और 30 से अधिक जनसभाएं आयोजित की गईं थी. यात्रा के दूसरे चरण का समापन 20 अप्रैल को हुआ था, इसी कड़ी में न्याय यात्रा का तीसरा चरण 29 मई को रीवा जिले के गढ़ विधानसभा क्षेत्र के गोविंदगढ़ से शुरू होगी, जिसका समापन दो जून को सिरमौर में होगा.

इंदौर चिड़िया-घर को हुई 1 करोड़ 42 लाख की आमदनी

24 May, 2018

स्वच्छता में देश में परचम लहराने के बाद इंदौर के प्राणी संग्रहालय में भी दर्शकों की संख्या में अभूतपूर्व इजाफा हुआ है. पिछले सालों की अपेक्षा इस वर्ष यहाँ पर्यटकों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी हुई है. इस वर्ष लगभग 13 लाख दर्शकों ने इंदौर चिड़िया-घर का लुत्फ उठाया. नगर निगम को इससे एक करोड़ 42 लाख रुपए की आय हुई है.
इंदौर के बीचों-बीच स्थित प्राणी संग्रहालय में नये जानवरों को लाना, उनके लिये प्राकृतिक वातावरण का निर्माण करना, उनके नवजात शिशुओं की देख-रेख करने के साथ बीमार होने पर त्वरित इलाज किया जाता है. पार्क में आने वाले पर्यटकों के लिये भी सभी सुविधाएँ उपलब्ध हैं. प्राणी संग्रहालय में प्राकृतिक सुंदरता को बढ़ाने के लिये 2 नये बगीचों का विकास करने के साथ 10 हजार पौधों का रोपण किया गया है. इनमें औषधीय, फलदार, फूलदार और सजावटी पौधे शामिल हैं. 
टाइगर बाड़े के पास नवीन फव्वारे का निर्माण किया गया है. इसी के समीप पेड़ पर बना लकड़ी का मचान पर्यटकों का पसंदीदा सेल्फी प्वाइंट बन गया है. खाली पड़ी जगह पर विशाल लॉन बनाया गया है. नगर निगम एवं क्षेत्र में रखे कबाड़ का खूबसूरती से उपयोग करते हुए सभी बगीचों और लॉन की बाउण्ड्री बनाई गई है.
प्राणी संग्रहालय की रिक्त पड़ी 8 एकड़ भूमि पर निगम शाकाहारी वन्य-प्राणियों के लिये मक्का, चरी, बरसीम घास उगा रहा है. इससे प्राणियों को पौष्टिक और ताजा चारा मिलने के साथ प्रति वर्ष 10 लाख रुपये की बचत भी हो रही है.  चिड़िया-घर में सफेद बाघ के लिये बाड़ा, रेप्टाइल हाउस, मंकी आयलैण्ड और शोवर्नियर शॉप निर्माण कार्य प्रगति पर है. बर्ड एवियरी निर्माण कार्य और बेट्री आॅपरेटेड कार प्रस्तावित है. स्वस्थ एवं प्राकृतिक वातावरण और अच्छी देखभाल के चलते इंदौर के चिड़िया-घर में पिछले एक साल में 4 सिंह, 8 भेड़िया, 2 चिंकारा, एक जंगली बिल्ली, 8 सफेद मोर, 3 बजरिंगर, 4 लव बर्ड और 2 पेंटेड स्टार्क हैं. चिड़िया-घर में झाबुआ, धार, देवास, खण्डवा, खरगोन आदि रेंज से घायल और बीमार वन्य-प्राणियों को लाकर इलाज भी किया जाता है. पिछले साल रेस्क्यू कर यहाँ 12 उल्लू, 7 पहाड़ी कछुए, 4 बिल्ली, बाज, मोर, लंगूर, हिरण, नील गाय और सियार लाये गये, जिनका उपचार यहाँ उपचार किया गया.

देश की गरिमामयी संस्कृति की रक्षा में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका

24 May, 2018जनसम्पर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज बालाघाट में पत्रकार महाअधिवेशन में वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान किया. डॉ. मिश्र ने कहा कि राष्ट्रीय महत्व के कार्यों में पत्रकार बंधुओं की महत्वपूर्ण भूमिका है. भारतीय संस्कृति को जीवंत और सम्माननीय बनाए रखने में मीडिया का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है. आधुनिक समाज और संचार क्रांति के इस दौर में यह आवश्यक है कि देश की गरिमामय संस्कृति की रक्षा की जाए. इसके लिए सम्पूर्ण मीडिया जगत को सजग रहकर निरंतर कार्य करना होगा.
मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने पत्रकारों के हित में अनेक कदम उठाए हैं. अधिमान्यता कार्ड की नवीनीकरण अवधि एक वर्ष के स्थान पर दो वर्ष कर दी गई है. स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना में अब दो लाख के स्थान पर चार लाख रुपए तक कैशलेस उपचार और आकस्मिक दुर्घटना की दशा में असमय मृत्यु हो जाने पर पांच के लाख स्थान पर दस लाख रुपए की राशि का प्रावधान किया जा रहा है. कार्यक्रम के विशेष अतिथि किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने पत्रकाऐं को संबोधित किया.

आदिवासियों को और अधिक सशक्त बनाया जाएगा

Bhopal, 23 May .मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आदिवासी समुदाय के उत्थान की दिशा में शिक्षा को और आगे बढ़ाने के निरंतर प्रयास किए जा रहे है. जिसमें बच्चो की पढ़ाई-लिखाई का खर्चा राज्य सरकार उठा रही है. समुदाय के व्यक्ति अपने बच्चों की पढ़ाई पर अधिक ध्यान देकर उनको सक्षम बनाये. जिससे वे उच्च पदों पर पहुँचकर आदिवासी समुदाय का नाम रोशन करने में सक्षम बन सके. मुख्यमंत्री  चौहान गत दिवस श्योपुर जिले के सैसईपुरा में ग्वालियर एवं चम्बल संभाग के जिलो से आए आदिवासी समुदाय के व्यक्तियों से सहरिया विकास विमर्श की दिशा में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री  नरेन्द्र तोमर, श्योपुर क्षेत्र के विधायक  दुगार्लाल विजय, पोहरी क्षेत्र के विधायक  प्रहलाद भारती भी मौजूद थे.
    मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार के माध्यम से आदिवासियों के उत्थान की दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे है. उन्होंने कहा कि सहरिया बस्तियों के सर्वांगीण विकास की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है. राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में आदिवासी समुदाय के हितों को ध्यान में रखते हुए कई कल्याणकारी एवं जनहितेषी कार्यक्रम संचालित किए जा रहे है. मुख्यमंत्री  ने कहा कि सहरिया जाति को सशक्त बनाने की दिशा में सहरिया विकास अभिकरण के माध्यम से अनेक प्रकार की सुविधाऐं प्रदान की जा रही है. उन्होंने कहा कि आदिवासी समुदाय की महिलाओं को एक हजार रूपए की सहायता राशि उपलब्ध कराई जा रही है. इसके साथ ही आदिवासियों को राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत सब्सिडी प्रदान की जा रही है.
 मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी समुदाय के व्यक्तियों को शिक्षा के अवसर दिलाने के लिए छात्रावास, आश्रम संचालित किये जा रहे है. उन्होंने कहा कि आदिवासियों में कौशल उन्नयन के लिये प्रशिक्षण की भी सुविधा दी जा रही है. मुख्यमंत्री  चौहान ने सहरिया समुदाय के ग्वालियर चंबल संभाग से आए व्यक्तियों के सुझाव प्राप्त किए.

जैव विविधता को बढ़ावा देने की नई पहल

22 May 2018पहली बार राज्य स्तरीय जैव विविधता पुरस्कार वितरित
अन्तर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस पर राज्य जैव विविधता बोर्ड ने जैव विविधता संरक्षण को प्रोत्साहन देने की नई पहल की है. बोर्ड ने आज इस दिशा में उत्कृष्ट कार्य कर रहे शासकीय, अशासकीय संस्थान, व्यक्ति और जैव विविधता वाले विभागों को राज्य स्तरीय वार्षिक जैव विविधता पुरस्कार योजना-2018 के तहत पुरस्कृत किया. अपर मुख्य सचिव वन के.के. सिंह के मुख्य आतिथ्य में हुए कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख श्री रवि श्रीवास्तव ने की. कार्यक्रम का संचालन बोर्ड के सदस्य सचिव श्री आर श्रीनिवास मूर्ति ने किया.
 पं. उदित नारायण शर्मा पुरस्कृत
व्यक्तिगत श्रेणी में छिन्दवाड़ा के राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित सेवा निवृत्त शिक्षक पं. उदित नारायण शर्मा को प्रथम पुरस्कार के रूप में 3 लाख रुपए, प्रशस्ति पत्र और ट्रॉफी से पुरस्कृत किया गया. श्री शर्मा पिछले 38 सालों से ‘एक छात्र एक पौधा लगाये अभियान’ का संचालन कर रहे हैं. स्कूली छात्र-छात्राओं में पर्यावरण जैव विविधता एवं जल संरक्षण जागरूकता के लिये वह अनवरत कार्य कर रहे हैं. उन्होंने हरियाली गीत माला की भी रचना की है.
डॉ. कनोजिया ने भोपाल में विकसित किया वन
व्यक्तिगत श्रेणी में डॉ. डी. पी. कनोजिया को भोपाल की आवासीय कालोनी रचना नगर में साल, सागौन, शीशम, हर्रा, बहेड़ा, अचार, महुआ, गूलर, पाखर, पीपल, नीम आदि के 60 से अधिक पौधे रोपने के लिये 2 लाख रुपए के द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया. डॉ. कनोजिया पौधों से वृक्ष में तब्दील हो चुके पेड़ों की पिछले 20 सालों से नियमित सिंचाई और सुरक्षा कर रहे हैं.
कृत्रिम प्रजनन के लिए बड़वाह पुरस्कृत
शासकीय संस्थागत श्रेणी में खरगौन जिले के वन मण्डल बड़वाह को मध्यप्रदेश की राज्य मछली महाशीर के संरक्षण एवं संवर्धन कर कृत्रिम प्रजनन द्वारा संख्या बढ़ाने के लिये द्वितीय पुरस्कार दिया गया.
 जैवविविधता प्रबंधन समिति पुरस्कृत
जैव विविधता प्रबंधन समिति श्रेणी में एक लाख रुपए का पुरस्कार होशंगाबाद जिले की जैव विविधता प्रबंधन समिति मटकुली को दिया गया. समिति द्वारा जैव विविधता से आजीविका को जोड़ते हुए लेंटाना से फर्नीचर निर्माण, पॉलीथीन के स्थान पर नॉन वोवेन बेग बढ़ावा देने, पौधरोपण, गर्मियों में पक्षियों के लिये दाना-पानी इंतजाम और जैव विविधता संरक्षण के प्रति जागरूकता के काम किये जा रहे है.
आस्था ग्राम ट्रस्ट को 3 लाख रुपए का प्रथम पुरस्कार
अशासकीय संस्थागत श्रेणी में खरगौन के आस्था ग्राम ट्रस्ट को 3 लाख रुपए प्रशंसा पत्र और ट्रॉफी से पुरस्कृत किया गया. ट्रस्ट वर्ष 1999 से बारह एकड़ बंजर भूमि पर वृक्षारोपण, वॉटरशेड प्रबंधन, जैविक खेती, ड्रिप इरीगेशन और केचुआ खाद निर्माण कर जैव विविधता से भरपूर क्षेत्र का विकास कर रहा है. ट्रस्ट ने क्षेत्र में जैव संसाधनों के संवहनीय उपयोग के लिये विविध प्रयास किये हैं.
मुरैना की सुजाग्रति समाजसेवी संस्था को द्वितीय पुरस्कार
अशासकीय संस्थागत क्षेणी में दो लाख रुपए का द्वितीय पुरस्कार मुरैना के सुजाग्रति समाज सेवी संस्था को दिया गया. संस्था पिछले 15 सालों से जैव विविधता संरक्षण, संवर्धन, वृक्षारोपण के साथ विशेष रूप से चम्बल क्षेत्र में संकटग्रस्त औषधीय प्रजाति गुग्गुल के संरक्षण और संवर्धन के कार्य कर रही हैं.
पर्यावरण की अदभुत चित्रकारी करने वाले विद्यार्थी पुरस्कृत
बोर्ड द्वारा जैव विविधता संरक्षण एवं संवंर्धन के प्रति स्कूल-कॉलेज के छात्र-छात्राओं को जागरूक करने के लिये गत् 12 मई को ‘जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता एवं मानव अस्तित्व’ विषय पर चार श्रेणी में चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई. कक्षा 1 से 5 तक की श्रेणी में शीतल गुप्ता, निरंजन थापा और तनीषा डोंगरे को क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिया गया. कक्षा 6 से 8 तक की श्रेणी में कार्तिक शर्मा को प्रथम, प्रियल जैन को द्वितीय, मीत चावला को तृतीय, कक्षा 9 से 12 तक श्रेणी में रिचा शाक्य को प्रथम अन्तरिक्ष सेठिया को द्वितीय और आयुष विश्वकर्मा को तृतीय पुरस्कार दिया गया. कक्षा 12 से ऊपर की श्रेणी में विजय गहरवार को पहला, साबिर हलीम को दूसरा और शुभम वर्मा को तीसरा पुरस्कार मिला. अन्तर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस के 25 साल पूरे होने पर इस बार संयुक्त राष्ट्र के निर्णयानुसार ’25 साल – जैविक विविधता सम्मेलन – पृथ्वी पर जीवन की सुरक्षा’ के रूप में मनाया जा रहा है. 

मुख्यमंत्री ने कोलांस नदी में श्रमदान कर महाअभियान की शुरूआत की

श्रमदान में हिस्सा लेते मुख्यमंत्री तथा अन्य

श्रमदान में हिस्सा लेते मुख्यमंत्री तथा अन्य

भोपाल : सोमवार, अप्रैल 30, 2018,  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भू-जल स्तर निरंतर गिर रहा है। इसे रोकने के लिये प्रदेश में जन-सहयोग से जल-संरक्षण और संवर्धन का महाभियान चलाया जायेगा। पुराने तालाबों और नदियों का गहरीकरण किया जायेगा। साथ ही इस वर्ष 500 करोड़ रूपये से नये तालाबों का निर्माण किया जायेगा। इस वर्ष 15 जुलाई से वृक्षारोपण का अभियान भी शुरू होगा। श्री चौहान ने इस महती कार्य में शामिल होने के लिये संपूर्ण समाज का आव्हान किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज सीहोर जिले के ईंटखेड़ी छाप में आयोजित जल-संसद को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कोलांस नदी के गहरीकरण के लिये श्रमदान का शुभारंभ भी किया। उन्होंने स्वयं श्रमदान कर लोगों को श्रमदान के लिये प्रेरित भी किया।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मनुष्य द्वारा औद्योगिकीकरण और भौतिकता की चाह में प्राकृतिक संसाधनों का अँधाधुँध दोहन किया गया है। इससे अनेक प्राकृतिक आपदाएँ उत्पन्न हुई हैं। वृक्षों की अँधाधुँध कटाई से वर्षा कम और अनियमित होने लगी है। आज पर्यावरण बिगड़ रहा है, नदियाँ सूख रही हैं और सतही जल लगातार घट रहा है। धरती पर सूखे का संकट पैदा हो रहा है। धरती की सतह का तापमान लगातार बढ़ रहा है, जो वर्ष 2050 तक दो डिग्री सेल्सियस तक बढ़ जायेगा। इससे ग्लेशियर पिघलेंगे, समुद्र का जल-स्तर बढ़ेगा और बाढ़ जैसी समस्याएँ पैदा होंगी।

बेटियों को बचाने के साथ स्वस्थ बनाना भी आवश्यक

सरोजनी नायडू कन्या उ. मा. विद्यालय के पुरस्कार वितरण समारोह में राज्यपाल 

पुरुस्कार वितरित करतीं राज्यपाल तथा मंत्रीद्वय

पुरुस्कार वितरित करतीं राज्यपाल तथा मंत्रीद्वय

भोपाल : सोमवार, अप्रैल 30, 2018,  राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने शिक्षकों से कहा है कि छात्राओं की रूचि के विषयों पर अधिक ध्यान दें और उन्हें प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि मुझे यह जानकर हर्ष और प्रसन्नता होती है कि गरीबों की बच्चियाँ भी प्रतियोगिता परीक्षा में उच्च स्थान प्राप्त कर रही है। कन्या शिक्षा का समाज और देश के विकास को नई दिशा देने में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि छात्राओं की प्रतिभा को उभारने के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जाना चाहिए। राज्यपाल श्रीमती पटेल आज सरोजनी नायडू कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में पुरस्कार वितरण कर रही थी।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि बेटियों को बचाना ही काफी नहीं है। उनके स्वास्थ्य पर भी ध्यान देना जरूरी है। इसके लिए विद्यालयों में स्वास्थ्य शिविर लगाकर सम्पूर्ण जाँच कराई जाए।

राज्यपाल ने कहा कि छात्राओं को शिक्षा देने के साथ सांस्कृतिक और अन्य कार्यक्रम और गतिविधियाँ संचालित कर उनका शैक्षणेत्तर ज्ञान बढ़ाने का भी प्रयास किया जाये। उन्हें प्रदेश के पयर्टन एवं ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण कराया जाये। विद्यालयों में होने वाले कार्यक्रमों का संचालन छात्राओं से ही कराया जाये, इससे उनका मनोबल बढ़ेगा और वे कुछ नया सीख सकेंगी।

स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा कि छात्राएँ देश का भविष्य हैं। देश और प्रदेश का विकास और सामाजिक उन्नति उनके कंधे पर है। इनमें से कोई डाक्टर, इंजीनियर बनकर देश और समाज की सेवा करेगी। उन्होंने कहा कि आगे से अतिथियों का स्वागत पुस्तकें भेंट कर किया जायेगा। नये सत्र से स्कूल परिसर में नया शेड बनाया जायेगा। कक्षा में उपस्थिति के समय बच्चे जय-हिंद बोलें, इससे उनमें राष्ट्रभक्ति की भावना जागृत होगी।

इलाज सभी का बुनियादी अधिकार है – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री द्वारा नव अर्पण लोक शिक्षण संस्थान का लोकार्पण

शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, साथ में हैं मंत्री उमाशंकर गुप्ता तथा विधायक रामेश्वर शर्मा

शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, साथ में हैं मंत्री उमाशंकर गुप्ता तथा विधायक रामेश्वर शर्मा

भोपाल : सोमवार, अप्रैल 30, 2018 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रोटी-कपड़ा और मकान के साथ इलाज सभी का बुनियादी अधिकार है। इसके लिये मध्यप्रदेश सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएँ देने वाले निजी अस्पतालों को भी सुविधा दी जायेगी। साथ ही आयुष्मान भारत के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा योजना का संचालन मध्यप्रदेश में ट्रस्ट द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री आज यहाँ निजी क्षेत्र के नव अर्पण लोक शिक्षण संस्थान का शुभारंभ कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आम-आदमी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाए मुहैया कराने के लिये आयुष्मान भारत योजना शुरू की है। इस अभूतपूर्व स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लगभग 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये तक के नि:शुल्क उपचार की सुविधा मिलेगी। प्रदेश में इस योजना का संचालन किसी बीमा कंपनी के द्वारा नहीं बल्कि ट्रस्ट द्वारा किया जायेगा। इस योजना में 60 प्रतिशत राशि केन्द्र सरकार द्वारा और 40 प्रतिशत राशि राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवायी जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने चिकित्सा तकनीशियनों के प्रशिक्षण के लिये नव अर्पण लोक शिक्षण संस्थान को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इससे जहाँ प्रदेश को कुशल चिकित्सा तकनीशियन मिलेंगे वहीं दूसरी ओर प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।

राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि प्रशिक्षित तकनीशियनों के उपलब्ध होने से स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध करवाने में सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हर वर्ग के कल्याण के लिये ठोस कार्यक्रम बनाये हैं।

डीम्ड यूनिवर्सिटी बनने से विंध्य अंचल में तकनीकी शिक्षा को मिलेगी नई दिशा

बच्चों के साथ ग्रुप फोटो में शामिल मंत्री श्री राजेंद्र शुक्ल

बच्चों के साथ ग्रुप फोटो में शामिल मंत्री श्री राजेंद्र शुक्ल

भोपाल : रविवार, अप्रैल 29, 2018 उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि इंजीनियरिंग कॉलेज, रीवा के डीम्ड यूनिवर्सिटी बन जाने से विंध्य अंचल में तकनीकी शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार आयेगा। साथ ही इंजीनियरिंग कॉलेज का विस्तार भी होगा। श्री शुक्ल आज रीवा में छात्रछात्राओं को संबोधित कर रहे थे। हाल ही में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इंजीनियरिंगकॉलेज रीवा को डीम्ड यूनिवर्सिटी बनाने की घोषणा की थी। श्री शुक्ल ने कहा कि यूनिवर्सिटी पूरी तरह से स्वशासी होगी और इसमें नये कोर्स शुरू होंगे। उद्योग मंत्री ने कहा कि इंजीनियरिंग कॉलेज के विस्तार के लिए परिसर में जमीन तथा अन्य संसाधन भी उपलब्ध है। श्री शुक्ल ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का इस घोषणा के लिए आभार भी माना।

स्कूली विद्यार्थियों का गणित समर केम्प आंचलिक विज्ञान केन्द्र में

कार्यशाला में हिस्सा लेते बच्चे

कार्यशाला में हिस्सा लेते बच्चे

भोपाल : रविवार, अप्रैल 29, 2018,  प्रदेश के सरकारी विद्यालयों के गणित विषय के मेधावी विद्यार्थियों का भोपाल के श्यामला हिल्स स्थित आंचलिक विज्ञान केन्द्र में गणित समर केम्प चल रहा है। केम्प एक मई तक जारी रहेगा। केम्प में प्रदेश के हर जिले से एक मेधावी विद्यार्थी सहभागिता कर रहा है। यह वे विद्यार्थी हैं, जिन्होंने जूनियर गणित ओलम्पियाड में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया था।

प्रदेश में वर्ष 2017-18 में सरकारी विद्यालयों के विद्यार्थियों में गणित विषय में रुचि जागृत करने के मकसद से जूनियर ओलम्पियाड का आयोजन किया गया था। राज्य शिक्षा केन्द्र ने इसी उद्देश्य को आगे बढ़ाते हुए आंचलिक विज्ञान केन्द्र, भोपाल के सहयोग से गणित समर केम्प ‘खुशी जोड़ों-तनाव घटाओ” का आयोजन किया है। पाँच दिवसीय केम्प में प्रदेश के विभिन्न अंचलों से आये बच्चे प्रतिदिन गणित के नये-नये प्रयोगों से परिचित हो रहे हैं और मनोरंजन के साथ गणित विषय में दक्षता प्राप्त कर रहे हैं। केम्प की खास बात यह है कि गणित शब्द की संरचना भी गणितीय चिन्हों से तैयार की गई है। इसका मकसद बच्चों को गणित विषय में विचारशील बनाने के साथ-साथ गणितीय चिन्हों से मित्रता कराना भी है।

शिक्षा आत्म-निर्भर और उद्यमी बनाने का माध्यम – राष्ट्रपति श्री कोविन्द

उपाधि वितरण करते राष्ट्रपति

उपाधि वितरण करते राष्ट्रपति

भोपाल : शनिवार, अप्रैल 28, 2018, राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द ने कहा है कि शिक्षा केवल ज्ञानार्जन और नौकरी पाने का साधन मात्र नहीं है, इससे विद्यार्थी आत्म-निर्भर और उद्यमी बने। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण के स्रोत के रूप में है। इसलिये शिक्षा समावेशी, सुलभ और गुणवत्तापूर्ण होनी चाहिए। राष्ट्रपति श्री कोविन्द आज सागर में डॉ. हरिसिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय के 27वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। राष्ट्रपति श्री कोविन्द ने कहा कि आज चरित्र निर्माण और जीवन मूल्यों से ओतप्रोत शिक्षा पद्धति की जरूरत है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के प्रसार के लिए केन्द्र और राज्य सरकारें मिलकर बेहतर काम कर रहीं हैं। युवा आधुनिक शिक्षा पद्धति से शिक्षित और दीक्षित होकर अब नौकरी तलाशने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले बनें।

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि विद्यार्थी विद्या प्राप्ति को सिर्फ नौकरी पाने का माध्यम नहीं समझें। वे ज्ञान-अर्जन कर तेजस्वी और ओजस्वी बनें तथा अपने अर्जित ज्ञान का उपयोग सार्थक कार्यों में करते हुए समाज की उत्तरोत्तर प्रगति में सहभागी बनें।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ज्ञान प्राप्त करना बच्चों का बुनियादी अधिकार है। इसके लिए हमने ठोस योजनाएँ बनाई हैं, जिससे धन के अभाव में कोई भी बच्चा पढ़ाई से वंचित नहीं रहे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कक्षा 12वीं में 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की संपूर्ण शिक्षा का खर्च शासन उठायेगा। साथ ही असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के बच्चों की कक्षा पहली से पीएचडी तक की शिक्षा का खर्च भी शासन उठायेगा। श्री चौहान ने कहा कि 67 वर्ष बाद आज पहली बार भारत के राष्ट्रपति सागर आये हैं। उन्होंने कहा कि यह हम सबके लिये बहुत ही हर्ष का पल है। हमें इसी प्रकार अपनी परंपराओं को आगे बढ़ाना चाहिए।

दीक्षांत समारोह में 356 विद्यार्थियों को उपाधि से विभूषित किया गया। विश्वविद्यालय की अध्ययन शालाओं के टॉपर रहे विद्यार्थियों को स्वर्ण-पदक प्रदान किये गये। स्वर्ण पदक विजेता 11 विद्यार्थियों में 10 छात्राएँ थीं।

उज्जैन में अंतर्राष्ट्रीय विराट गुरुकुल सम्मेलन का शुभारंभ

पुस्तक विमोचन करते अतिथिगण

पुस्तक विमोचन करते अतिथिगण

भोपाल : शनिवार, अप्रैल 28, 2018 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गुरूकुल शिक्षा पद्धति पर चिन्तन-मनन कर आज एक नये अध्याय का प्रारम्भ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आदिगुरू शंकराचार्य ने कहा है कि जो मुक्ति दिलाये, वहीं शिक्षा है।

केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि शिक्षा को और सार्थक बनाये जाने के प्रयास किये जा रहे हैं। गुरूकुलों एवं आधुनिक शिक्षा के बीच समन्वय करने के प्रयास किये जायेंगे। गुरूकुल शिक्षा पद्धति को उचित स्थान दिया जायेगा।

मानव संसाधन राज्य मंत्री श्री सत्यपाल सिंह ने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य क्या है, क्या वर्तमान शिक्षा पद्धति सर्वांगीण विकास कर सकती है, इस पर विचार-मंथन आवश्यक है।

मुख्य वक्ता डॉ. मोहनराव भागवत ने कहा कि वेदों, उपनिषदों का अध्ययन करना विज्ञान की प्रगति के लिये आवश्यक है। शिक्षा का अन्तिम उद्देश्य जीविका नहीं जीवन है। समग्र शिक्षा में आजीविका के साथ-साथ जीवन की शिक्षा दी जानी चाहिये। शिक्षा की गुरूकुल पद्धति शिक्षा की आत्मा है। इस बात पर भी समग्र विचार होना चाहिये कि आज के सन्दर्भ में गुरूकुल शिक्षा कैसी हो। गुरूकुल शिक्षा के कितने रूप हो सकते हैं। शिक्षा की स्वायत्तता कायम रहे, सरकार की मुखापेक्षी न रहें। गुरूकुल शिक्षा के क्षेत्र में शोध एवं अनुसंधान की प्रवृत्ति विकसित करना होगी।

सामाजिक सरोकारों से जुड़कर देश और समाज का निर्माण करें : राज्यपाल

विजेता प्रतिभागियों के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

विजेता प्रतिभागियों के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

भोपाल, शुक्रवार, अप्रैल 27, 2018. राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज ओरिएंटल ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट्स में पुरस्कार वितरण समारोह में कहा कि सामाजिक सरोकारों से जुड़ना हम सब की जिम्मेदारी है। हम सभी को मिलकर कथनी और करनी में सामाजिक सरोकार की भावना जागृत करनी होगी तभी हम अपने लिए एक उन्नत समाज और देश का निर्माण कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा देश आज प्रौद्योगिकी, विज्ञान, शोध और अंतरिक्ष के क्षेत्र में विकासशील देशों में अग्रणी स्थान प्राप्त कर रहा है। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि अपने बच्चों को अच्छी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिलाना हर माँ-बाप का सपना होता है। प्रतिस्पर्धा के इस युग में केवल शिक्षा प्राप्त करना ही सफलता की गारंटी नहीं है। इसके लिए छात्रों के कौशल विकास की ओर भी ध्यान देना जरूरी है। इसी उद्देश्य से सरकार ने स्टार्टअप योजना शुरू की है। योजना में छात्र-छात्राएँ स्वयं का रोजगार शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि अपने भविष्य की सोचने के साथ-साथ देश के गाँववासियों, दूरदराज में रहने वालों और महिलाओं की स्थिति के बारे में भी सोचें। राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का कहना है कि गाँव की छोटी-छोटी बातों पर ध्यान दिया जाये तो वहाँ बहुत बड़ा परिवर्तन आ सकता है। उनका कहना है कि भारत को बदलने के लिये ग्रामीणों की स्थिति में बदलाव लाना आवश्यक है। आज हमारे विद्यार्थियों को गाँव के लिये कुछ करने का संकल्प लेने का अवसर है।

किसानों को फसल का सही दाम दिलवाने प्रतिबद्ध है सरकार:  डॉ. नरोत्तम मिश्र 

किसानों से मिलते मंत्री डॊ. नरोत्तम मिश्रा

किसानों से मिलते मंत्री डॊ. नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, शुक्रवार, अप्रैल 27, 2018 जनसम्पर्क, जल-संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने दतिया कृषि उपज मंडी में पहुँचकर किसानों की फसल का सही नाप-तौल का निरीक्षण कर किसानों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि सभी किसान भाइयों को उनकी फसल का सही दाम दिलाने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने निर्देश दिये कि किसानों के लिए छायादार स्थान और पीने के पानी की समुचित व्यवस्था की जाए। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि किसानों की सभी समस्याएँ हल की जायेंगी। उन्होंने कहा कि मुझे किसी भी किसान भाई की शिकायत नहीं मिलना चाहिए। शिकायत मिलने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर अनेक जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने श्रमदान किया

वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने भदभदा पहुंचकर बड़ी झील के गहरीकरण कार्यक्रम में श्रमदान किया। इस अवसर पर उनके साथ महापौर आलोक शर्मा और कांग्रेस नेता आरिफ मसूद मौजूद रहे।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने भदभदा पहुंचकर बड़ी झील के गहरीकरण कार्यक्रम में श्रमदान किया। इस अवसर पर उनके साथ महापौर आलोक शर्मा और कांग्रेस नेता आरिफ मसूद मौजूद रहे।

भोपाल, 26 अप्रैल। वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने भदभदा पहुंचकर बड़ी झील के गहरीकरण कार्यक्रम में श्रमदान किया। इस अवसर पर उनके साथ महापौर आलोक शर्मा और कांग्रेस नेता आरिफ मसूद मौजूद रहे। महापौर आलोक शर्मा ने राजधानी की ऐतिहासिक बड़ी झील भोजताल के गहरीकरण हेतु संरक्षण श्रमदान अभियान के तहत मंगलवार को प्रात: अनेक जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों और विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थियों के साथ बड़ी झील में श्रमदान किया। इस मौके पर महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि जल ही जीवन है। जल को बचाना हम सबका नैतिक दायित्व है। भोपाल का बड़ा तालाब इस शहर की आत्मा है। इस शहर की धरोहर है। इसकी सुरक्षा करना हम सब जनप्रतिनिधियों और नागरिकों की जिम्मेदारी है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को मध्य प्रदेश इकाई का अध्यक्ष और ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का प्रमुख नियुक्त किया गया 

घोषणा के बाद प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कार्यकर्ताओं ने जमकर खुशियां मनाईं।

घोषणा के बाद प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कार्यकर्ताओं ने जमकर खुशियां मनाईं।

भोपाल, 26 अप्रैल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को गुरूवार को पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई का अध्यक्ष और ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का प्रमुख नियुक्त किया गया है. राज्य में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं. पार्टी महासचिव अशोक गहलोत की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तत्काल प्रभाव से कमलनाथ को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष और सिंधिया को चुनाव का प्रचार समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया है. कमलनाथ ने ट्विटर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) द्वारा जारी अपने नियुक्ति पत्र की कॉपी साझा करते हुए लिखा है, ‘मुझे प्रदेश अध्यक्ष के रूप में जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसके लिए मैं प्रतिबद्धता, साहस और आपसी तालमेल के साथ भाजपा और गैर-धर्मनिरपेक्ष ताकतों की हार सुनिश्चित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ काम करूंगा.’ घोषणा के बाद प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कार्यकर्ताओं ने जमकर खुशियां मनाईं।

राज्यपाल ने किया भोपाल को टीबी मुक्त बनाने में जन-सहयोग का आव्‍हान

मरीजों से मिलतीं राज्यपाल आनंदीबेन

मरीजों से मिलतीं राज्यपाल आनंदीबेन

भोपाल, बुधवार, अप्रैल 25, 2018  राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2022 तक देश को टी.बी मुक्त बनाने के आव्हान पर सबसे पहले राजधानी भोपाल से टी.बी मुक्त अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। योजनाबद्ध तरीके से चलाए जाने वाले इस अभियान में सबसे पहले शिशुओं और महिलाओं को इस रोग से मुक्ति दिलाने पर ध्यान दिया जाएगा। क्षय रोगी 25 बच्चों को खोजा जाएगा और उनके माता-पिता को इलाज के बारे में जानकारी दी जायेगी। इन बच्चों में से टी.बी ऐसोसिएशन के सदस्य तथा देश के सम्पन्न लोगों से कम से कम एक बच्चे को गोद लेने में सहयोग लिया जायेगा। राज्यपाल आज मध्यप्रदेश टी.बी ऐसोसिएशन की कार्यकारिणी की बैठक को सम्बोधित कर रही थी। राज्यपाल टी.बी. अस्पताल में टी.बी. महिला रोगियों से मिलीं और फल भेंट किये। उन्होंने रोगियों को पूरा इलाज कराने का सुझाव दिया। यह 50 वर्षों में पहला अवसर था जब कोई राज्यपाल टी.बी रोगियों से मिलने गया।

जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने लिया दद्दा जी का आशीर्वाद

दद्दा जी से आशीर्वाद लेते जनसंपर्क मंत्री डॊ. नरोत्तम मिश्रा

दद्दा जी से आशीर्वाद लेते जनसंपर्क मंत्री डॊ. नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, बुधवार, अप्रैल 25, 2018  जनसम्पर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र के आज कटनी जिला प्रवास में धाम ग्राम कूड़ा घनश्याम बाग स्थित दद्दा जी आश्रम पहुँचकर गृहस्थ संत देव प्रभाकर शास्त्री दद्दा जी से भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने दद्दाजी के मार्गदर्शन में आगामी श्रावण मास में दतिया में पार्थिव शिवलिंग निर्माण अनुष्ठान के लिए अनुमति प्राप्त की। दतिया में 14 से 20 अगस्त तक यज्ञ होगा। इसके एक दिन पूर्व 13 अगस्त को महिलाओं द्वारा कलश यात्रा निकाली जाएगी, जिसमें दद्दा जी भी आशीर्वाद देने उपस्थित रहेंगे। जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने बताया कि पार्थिव शिवलिंग निर्माण यज्ञ में दतिया जिले के नागरिक बड़ी संख्या में भागीदारी करेंगे।

सर्वांगीण विकास सभी की सामूहिक जवाबदारी :मुख्यमंत्री श्री चौहान

तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका वितरण करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका वितरण करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, बुधवार, अप्रैल 25, 2018 / मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज सीहोर जिले के ग्राम चकल्दी में लघु वनोपज संघ के समारोह में दो करोड़ 72 लाख की राशि तेन्दूपत्ता संग्राहकों के खातों में ई-ट्रांसफर माध्यम से वितरित की। इस अवसर पर ग्राम खजूरी निवासी श्रीमती रामीबाई तथा बनियागांव निवासी श्रीमती केवलीबाई को चप्पल पहनाकर और साड़ी वितरित कर पूरे जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को जूता-चप्पल वितरण की शुरूआत की। सीहोर जिले में पन्द्रह तेन्दूपत्ता संग्रहण समितियाँ हैं और अड़तालीस हजार से अधिक संग्राहक है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सर्वांगीण विकास तभी संभव है जब सभी सामूहिक जिम्मेदारी की भावना से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। प्रकृति प्रदत्त संसाधनों पर सभी का अधिकार है। जो लोग इसका लाभ लेने से वंचित रहे हैं, ऐसे सभी वर्ग के लोगों को आगे आने में सरकार मदद कर रही है। श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के पंजीयन का कार्य अभियान स्तर पर करवाया है। ढाई एकड़ तक की जोत वाले किसानों को भी असंगठित श्रमिक माना गया है। पंजीयन का काम पूरा होने पर पात्र श्रमिकों को सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा।

पंचायती राज व्यवस्था को मजबूत करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया ‘राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान’ का शुभारंभ 

कार्यक्रम स्थल पर आयोजित प्रदर्शनी को देखते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

कार्यक्रम स्थल पर आयोजित प्रदर्शनी को देखते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

पंचायत प्रतिनिधियों के साथ ग्रुप फोटो में शामिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर तथा अन्य

पंचायत प्रतिनिधियों के साथ ग्रुप फोटो में शामिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर तथा अन्य

भोपाल, 24 अप्रैल।राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले के रामनगर में प्रधानमंत्री ने इस अभियान की शुरूआत की. ‘राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान’ का उद्देश्य ‘सशक्त पंचायत सशक्त भारत’ बनाना है. केंद्र सरकार की इस योजना से पंचायतें आत्मनिर्भर एवं वित्तीय रूप से मजबूत होने के साथ-साथ और कारगर होंगी. इस दौरान मोदी ने मध्यप्रदेश की जनजातियों के समग्र विकास के लिए पंचवर्षीय कार्ययोजना की रूपरेखा भी बताई. इस योजना के तहत प्रदेश के जनजातीय इलाकों में अगले पांच साल में दो लाख करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे. इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने मंडला जिले के मनेरी में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट की आधारशिला भी रखी. इससे मंडला एवं आसपास के जिलों में घरेलू एलपीजी गैस पहुंचाना आसान होगा.

भोपाल में आयोजित हुआ अखिल भारतीय किरार धाकड़ युवक युवती परिचय सम्मेलन

सम्मेलन में हिस्सा लेते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष साधना सिंह एवं अन्य

सम्मेलन में हिस्सा लेते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष साधना सिंह एवं अन्य

भोपाल, 22 अप्रैल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष साधना सिंह भेल दशहरा मैदान में आयोजित किरार धाकड़ अखिल भारतीय युवक-युवती परिचय सम्मेलन में सम्पन्न छह जोड़ों के विवाह में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया। परिचय सम्मेलन में विभिन्न राज्यों से आए किरार-धाकड़ नागर समाज के युवक-युवती शामिल हुए। दोपहर तक अपना परिचय देने के बाद शाम तक छह जोड़ों ने एक दूसरे को पसंद किया। सम्मेलन में उपस्थित परिवार के लोगों से आपस में बातचीत की और संबंध तय हो गया। देर शाम तक पूरे विधि विधान से विवाह संस्कार सम्पन्न हुए। मुख्यमंत्री और उनकी धर्मपत्नी साधना सिंह चौहान ने स्वयं आगे बढ़कर उत्साहपूर्वक विवाह की तैयारियां करवाई। हल्दी लगाने से लेकर विदाई तक की रस्म में भाग लिया। विवाह के बाद उन्होंने वर-वधू को विवाह के प्रमाणपत्र भी सौंपे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने किरार, धाकड़ और नागर समाज के प्रतिभाशाली युवाओं को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले से समाज के विद्यार्थियों को बारहवीं कक्षा में जिले में मेरिट में प्रथम आने पर पचास हजार रुपये और द्वितीय आने पर 25 हजार रुपये पुरस्कार स्वरूप दिए जाएंगे। उन्होंने समाज के बुजुर्गों को भी सम्मानित किया।

8वीं जूनियर राष्ट्रीय हाॅकी प्रतियोगिता-तीसरा दिन

आज खेले गए मुकाबले का एक दृश्य

आज खेले गए मुकाबले का एक दृश्य

भोपाल: 22 अप्रैल, 2018 . हाॅकी इंडिया द्वारा खेल और युवा कल्याण विभाग के सहयोग से राजधानी में खेली जा रही 8वीं जूनियर राष्ट्रीय हाॅकी प्रतियोगिता के तीसरे दिन आज बालिका वर्ग में तीन और बालक वर्ग में नौ मुकाबले खेले गए।

प्रतियोगिता के अंतर्गत आज बी डिवीजन बालिका वर्ग में खेले गए मुकाबले में हॉकी बिहार ने हॉकी गुजरात को 14-0 से करारी शिकस्त देकर जीत दर्ज कराई। एक अन्य मुकाबले में हॉकी राजस्थान ने आन्ध्र हॉकी एसोसिएशन को 4-3 से हराया। जबकि हॉकी मध्य भारत और विदर्भ हाॅकी एसोसिएशन के बीच हुआ मुकाबला 1-1 से बराबरी पर रहा।

इसी तरह बालक वर्ग में आज खेले गए मुकाबलों में हॉकी कुर्ग ने हॉकी आंध्र प्रदेश को 5-2 से, हॉकी कर्नाटक ने हॉकी मध्य भारत को 5-3 से, बेंगलुरु हॉकी एसोसिएशन ने हॉकी पांडिचेरी को 4-1 से, बंगाल हॉकी एसोसिएशन ने जम्मू एंड कश्मीर को 8-0 से, हॉकी उत्तराखंड ने हॉकी मध्य प्रदेश को 7-3 से, हॉकी राजस्थान ने केरला हॉकी  को 7-2 से तथा हॉकी बिहार ने तेलंगाना हॉकी को 8-1 से तथा पंजाब नेशनल बैंक ने हॉकी हिम को 5-4 से परास्त किया।  स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ गुजरात हॉकी एकेडमी और आसाम हॉकी के बीच खेला गया मुकाबला दो-दो से बराबरी पर रहा।

आईडिया को स्टार्ट अप बनाने के लिये राजधानी मे 100 टीमों का मुकाबला

कार्यक्रम में बोलते महापौर आलोक शर्मा

कार्यक्रम में बोलते महापौर आलोक शर्मा

भोपाल, 21 अप्रेल, 2018.  भोपाल के युवाओं के पास भोपाल को स्मार्ट बनाने के बहुत सारे इनोवेटिव आईडियाज हैं, इन आइडियाज को धरातल पर उतारने का काम स्मार्ट सिटी कंपनी करेंगी। होटल नूर उस सबाह में आयोजित 36 घंटों के हेकाथान कार्यक्रम में यह बात कही। उन्होंने कहा इस हैकाथान से निकले आईडियाज पूरे मध्यप्रदेश के काम आएेंगे। महापौर ने कहा एेसे कार्यक्रमों से युवाओं का उत्साह बड़ता है और उनके विचारों को मूर्त रुप मिलता है। इस हैकाथान में लगभग 200 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में एमएसएमई मध्यप्रदेश शासन के प्रमुख सचिव कांता राव, कलेक्टर भोपाल सुदाम खाड़े और नगर निगम भोपाल की कमिश्नर प्रियंका दास मौजूद रहीं।

जीआरपी भोपाल की गिरफ्त में लुटेरे, तीस लाख का माल बरामद

गिरफ्तार आरोपियों और बरामद माल के साथ पुलिस टीम

गिरफ्तार आरोपियों और बरामद माल के साथ पुलिस टीम

भोपाल, 21 अप्रेल, 2018. बुधनी मिडघाट से 15 दिन पहले व्यापारी से एक किलो सोना लूटने वाली गैंग को जीआरपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने लुटेरों के पास से सवा लाख नकदी सहित तीस लाख का माल बरामद किया है। एसपी रुचिवर्धन मिश्रा ने बताया कि इस लूूट को अंजाम देने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक आरोपी अभी फरार है। ये सभी आरोपी विदिशा और बैरसिया क्षेत्र के रहने वाले हैं। आरोपियों की तलाश में पुलिस ने विदिशा, भोपाल, इटारसी समेत कई अन्य स्टेशनों पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला। तब जाकर आरोपियों का हुलिया मिल सका। इस हुलिये के आधार पर मुखबिरों की मदद से पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया।

सिविल सर्विस डे कार्यशाला में मुख्यमंत्री श्री चौहान 

कार्यशाला को संबोधित करते मुख्यमंत्री

कार्यशाला को संबोधित करते मुख्यमंत्री

भोपाल : शुक्रवार, अप्रैल 20, 2018, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनता और जन-प्रतिनिधियों को जोड़कर शासकीय योजनाओं और कार्यक्रमों का संचालन जन-अभियान के रूप में किया जाना चाहिए। जनता की सहभागिता से किये गये कार्यों की सफलता सुनिश्चित होती है। यह सफलता अन्य किसी तरीके से किये गये प्रयासों से कई गुना अधिक होती है। श्री चौहान आज आर.सी. व्ही.पी.नरोन्हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी में सिविल सर्विस-डे कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जन-प्रतिनिधि जन-भावनाओं से अवगत होते हैं। उनके साथ संतुलित ताल-मेल और समन्वय जरूरी है। जन-प्रतिनिधियों से शासकीय प्रयासों के प्रभावों और जन-भावनाओं का बेहतर फीडबैक मिलता है। योजनाओं एवं कार्यक्रमों की सफलता सुनिश्चित करना सिविल सेवक का दायित्व है। शासन की नीतियों का क्रियान्वयन तभी सफल होगा, जब उसका लाभ लक्षित वर्ग को मिलें, मंशा के अनुरूप जनता को योजना का लाभ नहीं मिलने से विफलता ही हाथ लगेगी। श्री चौहान ने विभिन्न योजनाओं के उद्देश्यों और प्रक्रियाओं के प्रसंगों के आधार पर सिविल सेवक की सकारात्मक सोच की भूमिका का उल्लेख करते हुए कहा कि सिविल सेवा नौकरी नहीं, मिशन है। आम आदमी का भविष्य उज्जवल बनाने की जिम्मेदारी सिविल सेवक की है। उन्होंने कहा कि जनतंत्र की समस्त व्यवस्थाएँ जन के लिये हैं। इसलिये तंत्र को जन-भावनाओं के अनुरूप ही चलना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार नीतियाँ बनाती हैं। उन्हें जमीनी हकीकत देने का कार्य सिविल सेवक द्वारा किया जाता है।

कार्यशाला में अकादमी की महानिदेशक श्रीमती कंचन जैन, पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला, प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री अनिमेष शुक्ला भी मौजूद थे। अंत में अपर सचिव श्री के.के. कतिया ने आभार प्रदर्शन किया।

जनसम्पर्क मंत्री ने गाँव-गाँव जाकर बाँटे गैस कनेक्शन

हितग्राहियों को गैस चूल्हे वितरित करते मंत्री नरोत्तम मिश्रा

हितग्राहियों को गैस चूल्हे वितरित करते मंत्री नरोत्तम मिश्रा

भोपाल : शुक्रवार, अप्रैल 20, 2018, जनसम्पर्क, जल-संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज दतिया जिले के ग्राम गोराघाट, बड़ौनीखुर्द नगर, हमीरपुर, उद्गंवा एवं दतिया नगर में गरीबों को निःशुल्क गैस कनेक्शन बाँटे। इस मौके पर डॉ. मिश्र ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार नाम मात्र कीमत पर गेहूँ, चावल और नमक के अलावा अब निःशुल्क गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास आदि की सुविधा दे रही है। दो वर्ष में सभी गरीबों के पक्के घर होंगे और उज्जवला योजना के तहत् गैस कनेक्शन दिए जायेंगे।जनसम्पर्क मंत्री ने गोराघाट में 100 हितग्राहियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन बाँटे। डॉ. नरोत्तम मिश्र ने ग्राम उद्गंवा में 61 निःशुल्क गैस कनेक्शन बांटे। इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्राम उद्गंवा में पेयजल समस्या का निराकरण हुआ है। अब शीघ्र ही खेतों में सिंचाई समस्या का भी समाधान होगा। डॉ. मिश्र ने दतिया नगर में 25 गैस सिलेण्डर वितरित किए। इस दौरान रसोई गैस उपभोक्ताओं को गैस से संबंधित सुरक्षा के उपाए एवं गैस बचत के तरीके भी बताए गए।

ग्राम हमीरपुर बना धुआँ मुक्त उज्जवला गांव

मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ग्राम हमीरपुर भी पहुँचे, जहाँ उन्होंने कमजोर वर्ग के 101 परिवारों को निःशुल्क गैस सिलेण्डर प्रदान किए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान के साथ मैंने इस गांव का दौरा किया था और धुआं मुक्त गाँव बनाने की घोषणा की थी। अब यहाँ हमीरपुर में सभी परिवारों के पास गैस कनेक्शन है। अब यह गाँव धुआँ मुक्त उज्जवला गाँव कहलाएगा।

बाल विवाह अभिशाप है- राज्यपाल श्रीमती पटेल

नव दंपत्तियों को प्रमाणपत्र प्रदान करतीं राज्यपाल

नव दंपत्तियों को प्रमाणपत्र प्रदान करतीं राज्यपाल

भोपाल, 19 अप्रेल 2018. राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज सीहोर जिले के ग्राम झरखेड़ा में पाटीदार समाज द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में नव-दम्पत्तियों को आशीर्वाद दिया। समारोह में 49 युवक-युवतियों के विवाह सम्पन्न हुए।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने इस मौके पर कहा कि सामूहिक विवाह के आयोजन समय की सबसे बड़ी जरूरत है। समाज के हर वर्ग में सामूहिक विवाह की स्वीकार्यता बढ़ी है। जातिगत भेदभाव मिटाने के लिये इस प्रकार के आयोजन सभी वर्गों के लिये अनुकरणीय हैं। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह के आयोजनों से समाज में नई जागृति आई है, सामाजिक समरसता की भावना बलवती हुई है। अमीर-गरीब सभी अपने पुत्र-पुत्रियों का विवाह एक स्थान पर एकत्रित होकर करते हैं, जिससे धन का अनावश्यक व्यय नहीं होता। इस बचे हुए से धन नव-दम्‍पत्ति अपने भविष्य को संवार सकते हैं ।

बाल विवाह को कुप्रथा बताते हुए राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि बाल विवाह अभिशाप हैं। ऐसे विवाह को रोकने के लिये समाज में जागरूकता पैदा करना जरूरी हो गया है। उन्होंने कहा कि समाज के सामने वर-वधु की उम्र की सही जानकारी होने पर बाल विवाह रोके जा सकते हैं।

भोज तालाब के संरक्षण के लिए उमड़ा जन सैलाब

श्रमदान करते मंत्री उमाशंकर गुप्ता, कमिश्नर नगर निगम प्रियंका दास तथा अन्य

श्रमदान करते मंत्री उमाशंकर गुप्ता, कमिश्नर नगर निगम प्रियंका दास तथा अन्य

भोपाल, 19 अप्रेल 2018. भोज तालाब के संरक्षण के लिए चलाये जा रहे अभियान में शहर के हर वर्ग के लोग शामिल हो रहे हैं। राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने सुबह एक घंटे तालाब में श्रमदान किया। माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामदयाल प्रजापति और आयुक्त नगर निगम श्रीमती प्रिंयका दास ने भी नागरिकों के साथ श्रमदान किया। राजस्व मंत्री श्री गुप्ता ने कहा है कि नियमित रूप से श्रमदान करने से तालाब के गहरीकरण के साथ ही श्रमदानियों का स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा और मासपेशियॉ मजबूत होंगी। उन्होंने नगर निगम द्वारा संचालित अभियान की सराहना करते हुए कहा कि इस पुनीत कार्य में भोपाल के हर नागरिक को जुड़ना चाहिए। श्रमदान में विभिन्न स्कूलों एवं कालेजों के विद्यार्थी तथा राजनैतिक एवं सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता भी शामिल हुए।

प्रदेश भाजपा कार्यालय में पूजा पाठ कर राकेश सिंह ने संभाला कार्यभार, वरिष्ठ नेताओं का लिया आशीर्वाद

प्रदेश कार्यालय में पदभार ग्रहण करते राकेश सिंह

प्रदेश कार्यालय में पदभार ग्रहण करते राकेश सिंह

भोपाल, 19 अप्रेल 2018 । प्रदेश भाजपा के नए अध्यक्ष राकेश सिंह ने गुरुवार को कार्यभार संभाल लिया है। बीजेपी के नवनियुक्त अध्यक्ष राकेश सिंह ने पार्टी कार्यलाय पहुंचकर विधिवत पूजा अर्चना करने के बाद कार्यभार ग्रहण किया।  पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत सहित प्रदेश पदाधिकारियों ने भी पूजन अर्चना की। तत्पश्चात श्री राकेश सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की.    उन्होंने कहा कि आज से हम चुनावी मैदान में जुटे है। प्रदेश अध्यक्ष से लेकर बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता की पहली प्राथमिकता 2018-2019 के विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत सुनिश्चित करना है। यह चुनाव हम भारी मतों से जीतेंगे। मिशन 200 पार के बारे में उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी 173 सीटें कार्यकर्ता के परिश्रम के बल पर और जनता के आशीर्वाद के रूप में प्राप्त कर चुकी है। 230 विधानसभाओं में अधिकांश विधानसभाएं ऐसी है जहां भाजपा ने जीत हासिल की है। इस आधार पर मिशन 200 पार भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पूरा करेंगे।

राकेश सिंह भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष

नवनियुक्त अध्यक्ष का स्वागत करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान

नवनियुक्त अध्यक्ष का स्वागत करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान

भोपाल, 18 अप्रेल 2018 । जबलपुर से तीन बार के सांसद और महाराष्ट्र के सह प्रभारी राकेश सिंह भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष बन गए हैं। पार्टी आलाकमान के निर्देश के बाद राकेश सिंह ने बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और निवृत्तमान अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की मौजूदगी में कार्यभार ग्रहण कर लिया। वहीं पार्टी ने विधानसभा और लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश की चुनाव प्रबंध समिति का भी ऐलान कर दिया है। केंद्रीय पंचायत मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समिति के संयोजक होंगे। पद संभालने के बाद राकेश ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में चौथी बार पार्टी की सरकार बनाएंगे। उल्लेखनीय है कि 1980 में भाजपा के गठन के बाद से राकेश सिंह 13वें प्रदेश अध्यक्ष होंगे।

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी, श्री बाबूलाल गौर, निवृतमान प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत, पूर्व संगठन महामंत्री श्री माखन सिंह चौहान, प्रदेश महामंत्री श्री मनोहर उंटवाल, जिला अध्यक्ष श्री सुरेन्द्रनाथ सिंह मंचासीन थे   श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि श्री राकेश सिंह जमीनी कार्यकर्ता है। वे जबलपुर जिला भाजपा के अध्यक्ष रहे।

अक्षय तृतीया के महामूहुर्त पर आज राजधानी में हजारों जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

अक्षय तृतीया पर निकली बारात में शामिल दूल्हे

अक्षय तृतीया पर निकली बारात में शामिल दूल्हे

भोपाल, 18 अप्रेल 2018 । विवाह के लिए सर्वाधिक शुभ माने जाने वाले मुहूर्त अक्षय तृतीया पर लगभग पंद्रह सौ से अधिक जोड़े परिणमय सूत्र में संघ. सर्वाधिक आकर्षण का केन्द्र दोपहर बाद निकली पाल समाज की बारात रही. जिसमें ऊंटों पर सवार होकर दूल्हे शहर का भ्रमण किए. बाल विवाह रोकने प्रशासन रहा मुस्तैद: सामूहिक विवाहों व सम्मेलनों में बाल विवाह को रोकने प्रशासन मुस्तैद रहा. इसके लिए कलेक्टर के निर्देश पर टीमें गठित की गई जो आयोजन स्थल पर नजर रखे हुए थी/
लगा रहा जाम: अक्षय तृतीया के मौके पर सामूहिक विवाह के दौरान होने वाली ट्रैफिक की समस्या से निपटने के लिए यातायात पुलिस के जवानों को एक दर्जन स्थानों पर तैनात किया गया था. इसके बावजूद सामूहिक विवाह व बारात के कारण सड़कों पर जाम की स्थिति बनी रही. कोलार रोड, करोंद, छोला मंदिर, गांधी नगर, शाहजहाँनी पार्क, द्वारका नगर, काली मंदिर तलैया, कमला नगर आदि क्षेत्रों की प्रमुख सड़कों पर जाम की

झील गहरीकरण अभियान

कलेक्टर सुदाम खाड़े ने नगर निगम आयुक्त प्रियंका दास के साथ श्रमदान किया।

कलेक्टर सुदाम खाड़े ने नगर निगम आयुक्त प्रियंका दास के साथ श्रमदान किया।

भोपाल, 18 अप्रेल 2018 ।झील गहरीकरण अभियान के तीसरे दिन बुधवार को कलेक्टर सुदाम खाड़े ने नगर निगम आयुक्त प्रियंका दास के साथ श्रमदान किया। उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं सहित मौके पर मौजूद अधिकारियों, शहरवासियों की हौसला अफजाई भी की। बुधवार को अभियान के तहत झील से 296 ट्रक मिट्टी निकाली गई। अभियान के दौरान श्रमदान करने वालों में कलेक्टर और निगम कमिश्नर के साथ ही एमआईसी सदस्य महेश मकवाना, भारत स्काउट एंड गाइड, रूडसेट संस्थान, सीमा सुरक्षा बल, आॅल इंडिया इंस्टीट्यूट आॅफ लोकल सेल्फ गवर्नमेंट, शहीद बीरबल ढालिया जन कल्याण परिषद, माथुर वैश्य महिला मंडल, आईईएस कॉलेज, विक्रमादित्य कॉलेज, ट्रीनिटी कॉलेज, मोन्टफोर्ट स्कूल के छात्र- छात्राएं शामिल थे।

चाय देने में देरी की तो मार दी गोली

Bhopal, 30 March. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में चाय देने में देरी होने से नाराज ग्राहक ने गोलीबारी कर दी. गोलीबारी से क्षेत्र में सनसनी फैल गई. घटना में एक युवक के पैर में गोली लगी है, जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है.
घटना कोहेफिजा थाना क्षेत्र की पंचवटी कालोनी की है. जहां शुक्रवार सुबह गुप्ता टी स्टाल पर कार से एक युवक चाय पीने के लिए आया था. कई लोग दुकान के आसपास खड़े थे. इस दौरान चाय देने में देरी करने की वजह से युवक को गुस्सा आ गया और उसने चाय की दुकान पर खड़े मुकेश शर्मा से मारपीट कर फायरिंग कर दी. आरोपी ने चार फायर किए. एक गोली मुकेश को लगी जबकि चाय बनाने वाला युवक बाल-बाल बच गया. गोली मुकेश में पैर में लगी. उसका हमीदिया अस्पताल में इलाज चल रहा है. इलाके में फायरिंग से सनसनी फैल गई. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है. घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई. कई लोग बाल-बाल बच गए. इस घटना ने प्रदेश की राजधानी की व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी है. जब राजधानी सुरक्षित नहीं है, तो दूसरे जिलों की सुरक्षा और कानून व्यवस्था का आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है

परिवहन विभाग द्वारा 2812 करोड़ रिकार्ड राजस्व अर्जित

भोपाल, 29 मार्च। परिवहन विभाग द्वारा वर्ष 2017-18 में 28 मार्च तक ही निर्धारित लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त कर लिया गया है। वर्ष 2017-18 में लक्ष्य 2800 करोड़ रूपए के विरूद्ध परिवहन विभाग द्वारा दिनांक 28 मार्च को ही 2812 करोड़ रूपए राजस्व प्राप्त किया है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2013-14 में 1598 करोड़ रूपए, वर्ष 2014-15 में 1864 करोड़ रूपए, वर्ष 2015-16 में 2073 करोड़ रूपए, वर्ष 2016-17 में 2300 करोड़ रूपए और वर्ष 2017-18 में 2812 करोड़ रूपए राजस्व प्राप्त कर उपलब्धि दर्ज की है। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी अशोक नगर, गुना, पन्ना, शहडोल, सीधी और उमरिया द्वारा निर्धारित लक्ष्य समय सीमा में प्राप्त कर सराहनीय कार्य किया गया है। सीधी जिले ने सर्वाधिक राजस्व लगभग 53 प्रतिशत अधिक राजस्व प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त शहडोल जिले द्वारा क्रमश: 50 प्रतिशत, पन्ना जिले द्वारा 48 प्रतिशत, अशोक नगर 45 प्रतिशत, गुना 45 प्रतिशत एवं उमरिया जिले द्वारा 44 प्रतिशत अधिक राजस्व अर्जित किया गया है।
गृह एवं परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह द्वारा परिवहन आयुक्त डॉ. शैलेन्द्र श्रीवास्तव के अथक प्रयासों से रिकार्ड राजस्व अर्जित करने पर समस्त विभागीय अधिकारियों, कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

27मार्च 2018, भोपाल. मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में 30 नगरीय क्षेत्रों में 43 नवीन तहसीलों के गठन की सैद्धांतिक स्वीकृति दी है। भविष्य में जनसंख्या वृद्धि होने पर जनसंख्या के मापदंड अनुसार नवीन नगरीय तहसीलों के गठन की भी सैद्धातिंक स्वीकृति दी गयी।  महानगरों में इन्दौर और भोपाल में पाँच-पाँच, ग्वालियर और जबलपुर में तीन-तीन तथा उज्जैन नगरीय क्षेत्र में दो नई तहसीलों का गठन किया जायेगा। इसी प्रकार एक लाख से अधिक लेकिन 5 लाख से कम जनसंख्या वाले नगरीय निकाय देवास, सतना, सागर, रतलाम, रीवा, कटनी, सिंगरौली, बुरहानपुर, खण्डवा, मुरैना, भिण्ड, गुना, शिवपुरी, छिंदवाड़ा, विदिशा, छतरपुर, मंदसौर, दमोह, नीमच, होशंगाबाद, खरगोन, सीहोर, बैतूल, सिवनी, और दतिया में एक-एक नई तहसील बनेगी।

सृजित प्रत्येक नई तहसील में तहसीलदार, अतिरिक्त तहसीलदार, नायब तहसीलदार, सहायक ग्रेड-1, जमादार/दफतरी/बस्तावरदार और वाहन चालक के एक-एक पद, सहायक ग्रेड-2 के दो पद तथा सहायक ग्रेड-3 और भृत्य के चार-चार पद कुल 16 पद प्रति तहसील सृजन को मंजूरी दी। मंत्रि-परिषद ने राजस्व विभाग में नायब तहसीलदार के 550 पद तथा सहायक ग्रेड-3 और भृत्य के 191-191 नये पद सृजित करने का भी निर्णय लिया।
‘मुख्यमंत्री कल्याणी सहायता योजना’ शुरू करने को मंजूरी : मंत्रि-परिषद ने प्रदेश की विधवाओं के प्रति सम्मान प्रदर्शित करने तथा उन्हें शासकीय योजनाओं का लाभ देने के लिए शासकीय शब्दावली में ‘विधवा’ की जगह ‘कल्याणी’ कहे जाने का निर्णय लिया। इसी के साथ कल्याणी विवाह को प्रोत्साहित करने तथा प्रदेश की सभी विधवाओं की आर्थिक सुरक्षा के लिए पेंशन देने की ‘मुख्यमंत्री कल्याणी सहायता योजना’ शुरू करने को मंजूरी दी। इसमें कल्याणी विवाह प्रोत्साहन के लिए दो लाख रूपये की प्रोत्साहन  राशि दी जाएगी। कल्याणी की आर्थिक सुरक्षा के लिए 18 से 79 वर्ष तक प्रति माह 300 रूपये तथा 80 वर्ष से अधिक उम्र होने पर प्रति माह 500 रूपये पेंशन देने की स्वीकृति भी दी गई।
मल-जल निकासी योजना : मंत्रि-परिषद द्वारा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के तहत भोपाल शहर की भोज वेटलैण्ड परियोजना, टी.टी.नगर एवं हबीबगंज सीवेज परियोजना, बड़े एवं छोटे तालाब को प्रदूषण मुक्त करने की योजना, राष्ट्रीय नदी संरक्षण योजना के तहत पंचशील नाला प्रदूषण निवारण योजना, शिवपुरी नगर आदि की सीवरेज योजना एवं सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट आदि के विभाग द्वारा संचालन/संधारण के लिए वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 तक निरंतर संचालन के लिये कुल 39 करोड़ 65 लाख रूपये का अनुमोदन दिया गया।
हिरन मध्यम सिंचाई परियोजना : मंत्रि-परिषद ने हिरन मध्यम सिंचाई परियोजना के लिए भू-अर्जन अधिनियम 2013 के अनुसार भू-अर्जन एवं पुनर्व्यवस्थापन के लिए परियोजना प्रतिवेदन अनुसार अनुमानित व्यय के अतिरिक्त डूब क्षेत्र के कृषकों को परियोजना के डूब क्षेत्र में आने वाली भूमि और उस पर स्थित परिसंपत्तियों के क्रय/अर्जन के लिए विशेष पैकेज का लाभ देने का निर्णय लिया। इस निर्णय से परियोजना में भू-अर्जन पर 4 करोड़ 52 लाख के स्थान पर 11 करोड़ 16 लाख की राशि व्यय की जाएगी।
शिक्षण प्रशिक्षण संस्थाओं का सुदृढ़ीकरण : मंत्रि-परिषद ने स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत प्रशिक्षण संस्थाओं द्वारा अकादमिक गतिविधियों के क्रियान्वयन एवं संस्थाओं के अधोसंरचना विकास की योजना को वर्ष 2017-18, 2018-19 और 2019-20 तक निरंतरता के लिए 261 करोड़ 49 लाख 18 हजार रूपये की राशि निर्धारण को मंजूरी दी।
समाधान योजना : मंत्रि-परिषद ने प्रदेश के जिला सहकारी केन्द्रीय बैंको से संबंद्ध प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के डिफाल्टर सदस्यों के बकाया कालातीत ऋणों के निपटारे के लिए समाधान योजना को अनुमोदन दिया। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा अल्पावधि फसल ऋण एवं प्राकृतिक आपदा के कारण पूर्व के वर्षो में मध्यावधि ऋण में परिवर्तित किये गये अल्पावधि ऋण की राशि 30 जून 2017 तक जमा नहीं करने वाले डिफाल्टर किसान इस योजना की परिधि में आयेंगे।
समाधान योजना में पात्रता हासिल करने के लिए किसान को खाते में बकाया ऋण का 50 प्रतिशत मूलधन चुकाना होगा। योजना में भाग लेने के लिए अंतिम तिथि 15 जून 2018 होगी। इस तिथि तक किसान को मूलधन राशि का 50 प्रतिशत चुकाना होगा।
किसान द्वारा मूलधन राशि का 50 प्रतिशत चुका देने पर, किसान के खाते में बकाया ब्याज की सम्पूर्ण राशि माफ कर दी जायेगी। किसान को खरीफ 2018 की फसल के लिए नये ऋणमान (न्यू क्रेडिट लिमिट) स्वीकृत कर दिया जायेगा। शेष आधे मूलधन की राशि को शून्य प्रतिशत ब्याज के नये नगद ऋण में परिवर्तित कर दिया जायेगा। किसान को नवीन ऋणमान के अंतर्गत उपलब्ध शेष साख सीमा का अतिरिक्त ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर वस्तु ऋण के रूप में उपलब्ध होगा।
योजना में शामिल होने वाले किसानों को खरीफ 2018 सीजन में नगद ऋण की मात्रा आधी मूलधन राशि से अधिक नहीं होगी। ऋण का शेष भाग वस्तु ऋण के रूप में होगा। रबी सीजन 2018-19 एवं इसके बाद आने वाले कृषि मौसमों में यह बंधन लागू नहीं रहेगा। नगद एवं वस्तु ऋण का अनुपात नियमित श्रेणी के किसानों की भांति रहेगा। योजना में उन सहकारी संस्थाओं को शामिल किया जायेगा, जो राज्य शासन की इस समाधान योजना को अंगीकृत करने के लिए सहमत होंगी।
योजना में डिफाल्टर कृषकों को दी जाने वाली ब्याज माफी की 80 प्रतिशत राशि का व्यय भार राज्य शासन द्वारा तथा शेष 20 प्रतिशत भार सहकारी संस्थाओं द्वारा वहन किया जाएगा ।

दर्शकों के मध्य लोकप्रिय हुआ ‘जौतुका पेड़ी

भोपाल, 27 मार्च। इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय द्वारा मार्च, 2018 के माह के प्रादर्श के रूप में ”जौतुका पेड़ी: एक दहेज पेटी को प्रदर्शित किया गया हैं। ओडिशा के लोक समुदायों द्वारा विवाह संस्कार में दी जाने वाली एक प्रकार की दहेज पेटी है जिसकी संरचना मंदिर के समान है।
ओडिशा की रूढिग़त परंपराओं के अनुसार जौतुका पेड़ी विवाह के समय वधु के पिता द्वारा वर के परिवार को दिया जाने वाला विशेष उपहार है। इस संदूक में कपड़े, घरेलू बर्तन, गहने तथा दुल्हन द्वारा दैनिक इस्तेमाल की वस्तुएं जैसे सिंदूर, चूड़ी, आलता तथा अन्य आवश्यक वस्तुऐं रखी जाती हैं। पुराने समय में प्राय: और कहीं-कहीं आज भी लकड़ी की बनी इस विशिष्ट रुप से अलंकृत संदूक या पेटी में रखी गयी चीजे दुल्हन के ससुराल में प्रवेश पर यथा सम्भव उसकी प्रतिष्ठा का प्रतीक या वैभव का प्रदर्शन होता था। यह तय करना तो कठिन है कि यह पेड़ी वास्तव में दहेज के लिये ही बनाई या फिऱ किसी अन्य उद्देश्य से। अस्तु समारोह, उर्वरता और रक्त के प्रतीक लाल रंग से चित्रित सौभाग्य चिन्हों से सुसज्जित यह एक अत्यंत अलंकृत विवाह प्रतीक है जो रूढि़वादी दहेज-प्रथा को समाप्त करने की दिशा में प्रयास है।

हवन-पूजन कर मनाई रामनवमी

Bhopal, 25 Marchराजधानी  भोपाल में आज रामनवमी पर्व धूमधाम से मनाया गया. हवन-पूजन और कन्याभोज कराकर श्रद्धालुओं ने नवरात्रि का उपवास समाप्त किया. राजधानी के मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ दिखाई दी. 
राजधानी में सहित पूरे प्रदेश में आज महाष्टमी और रामनवमी पर्व उल्लास के साथ मनाया गया. राजधानी  में आज सुबह से ही मंदिरों में खासकर देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी रही. मंदिरों में सुबह से ही हवन-पूजन होते रहे, वहीं घर-घर श्रद्धालुओं ने कन्यापूजन कर कन्याओं को भोज कराया. राजधानी में इस अवसर पर कई स्थानों पर शोभा यात्राएं निकाली गई. वहीं मानस भवन में आज से रामनवमी महोत्सव शुरु हुआ जो 2 अप्रैल चलेगा.

मुख्यमंत्री निवास पर हुआ कन्याभोज
मुख्यमंत्री शिवराजसिंंह चौहान ने आज अपने निवास श्यामला हिल्स पर सुबह हवन-पूजन कर कन्याओं को भोज कराया. उन्होंने पत्नी साधना सिंह के साथ खुद कन्याओं को भोजन परोसा और खिलाया. मुख्यमंत्री ने कन्याओं का पूजन कर आशीर्वाद लिया. इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश के नागरिकों को रामनवमी पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि मां अम्बे की कृपा से प्रदेश में सबका मंगल और कल्याण हो. उन्होंने कहा कि  बहन, बेटियां खुश होंगी, तो प्रदेश धन्य होगा. यही सृष्टि का आधार हैं. इनका सम्मान करें, आदर दें, यही मां जगदम्बे के प्रति सच्ची आस्था और श्रद्धा होगी.

भोपाल: प्याज और लहसुन को सरकार भावांतर भुगतान योजना के तहत खरीदेगी, वहीं चना, मसूर और सरसों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा|

भोपाल, 24 March, प्याज और लहसुन को सरकार भावांतर भुगतान योजना के तहत खरीदेगी, वहीं चना, मसूर और सरसों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा| इस सम्बन्ध में आज मुख्यमंत्री प्रदेश के किसानों को सम्बोधित कर रहे हैं| सीएम ने अपने सम्बोधन में कहा कि नया इतिहास मध्य प्रदेश की सरकार अपने किसान के लिए रच रही है| लगातार 5वीं कृषि कर्मण अवार्ड मिलने की बधाई देते हुए सीएम ने कहा कि ये आपके परिश्रम का परिणाम है, इसलिए इसे आपको समर्पित करता हूँ| जब हमारी सरकार बनी थी तो प्रदेश में सिंचाई का रकबा 7 लाख 50 हज़ार हेक्टेयर था, जिसे अब 40 लाख हेक्टेयर से ज्यादा कर दिया गया है, इसे कुछ वर्षों में ही 60 लाख से ज्यादा कर देंगे| मैं किसान भाइयों के साथ खड़ा हूँ। फसलों के नुकसान पर 30 हज़ार रुपये प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जायेगी। इसके साथ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भी लाभ दिया जायेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि फसलों के नुकसान पर 30 हज़ार रुपये प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जायेगी। इसके साथ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भी लाभ दिया जायेगा| हमारा प्रयास है कि 2025 तक 1 लाख 10 करोड़ रुपया खर्च कर मध्यप्रदेश में सिंचाई का रकबा बढ़ा कर 80 लाख हेक्टेयर कर दिया जाए। मध्यप्रदेश के हर अंचल में पानी पहुंचाने के लिए हम संकल्परत हैं|

गेंहू और धन का बोनस 16 अप्रैल को जमा किया जाएगा

मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के तहत हम किसानों को 265 रुपए प्रति क्विंटल की राशि का अतिरिक्त लाभ देंगे, ये न्यूनतम समर्थन मूल्य से अलग है| 10 जून को यह किसान के खाते में डाला जाएगा| यह ज़रूरी नहीं है कि आप अपना पूरा गेहूं समर्थन मूल्य पर ही बेचें, बल्कि खुले बाज़ार में मोलभाव कर बेचिए। अच्छा मूल्य मिलेगा, तब भी आपको प्रति क्विंटल 265 रुपये दिया जायेगा| सीएम ने कहा क्या आपने कभी सोचा था कि उपज बेचने के सालभर बाद भी पैसे मिल सकते हैं, लेकिन हम ऐसा कर रहे हैं| पिछले साल किसानों ने जो धान और गेहूं बेचा था, उसका 200 प्रति क्विंटल की दर से भुगतान आप किसानों के बैंक खातों में 16 अप्रैल को जमा हो जाएंगे| किसान को उचित मूल्य देने की हमारी दो योजना है। एक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपज खरीदने की और दूसरी भवान्तर भुगतान योजना है। यह दोनों योजनायें किसानों के लिए सुरक्षा कवच बनेंगी| खरीफ की फसल के लिए किसान के खाते में हमारी सरकार ने 1900 करोड़ रुपये डालने का काम किया|

लहसुन और प्याज की अंतर की राशि तय

लहसुन का बम्पर उत्पादन होने के कारण कीमत गिरने की संभावना से बचने के लिए 3200 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से अंतर की राशि और 800 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से अंतर की राशि प्याज के लिए भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत किसानों के खाते में डाले जाएंगे| किसानों के उत्पादन को अब एक्सपोर्ट करने की ज़रूरत है। आपने उत्पादन के सारे रिकॉर्ड तोड़े हैं, इसके लिए बधाई देता हूँ; लेकिन जब उत्पादन अधिक होता है, तो उसकी कीमत गिर जाती है। इसलिए भारत सरकार से बात कर हम एक्सपोर्ट की व्यवस्था करेंगे

भोपाल: महिला अपराध के खिलाफ कांग्रेस का मौन उपवास

Bhopal, 22 March.महिला सुरक्षा को लेकर कांग्रेस नेताओं ने आज (22 मार्च) भोपाल में मौन प्रदर्शन किया. मौन प्रदर्शन में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC)प्रमुख अरुण यादव भी शामिल हुए.

भोपाल: महिला अपराध के खिलाफ कांग्रेस का मौन उपवास

प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध में लगातार इजाफा हो रहा है- अरुण यादव

भोपाल: महिला सुरक्षा को लेकर कांग्रेस पार्टी सरकार को सदन से लेकर बाहर तक घेरने की कोशिश कर रही है. इसी सिलसिले में कांग्रेस नेताओं ने 22 मार्च भोपाल में मौन प्रदर्शन किया. मौन प्रदर्शन में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव भी शामिल हुए. कांग्रेस नेता भोपाल पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं. इससे पहले 15 मार्च को मध्य प्रदेश विधानसभा में शून्यकाल के दौरान कांग्रेसी विधायकों ने महिला सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए चर्चा की मांग की थी. मांगें पूरी नहीं होने पर कांग्रेसी विधायक सदन से वॉकआउट कर गए थे.

सरकार महिला सुरक्षा को लेकर गंभीर- नरोत्तम मिश्रा
कांग्रेस विधायकों का कहना है कि, अगर राजधानी भोपाल में महिला सुरक्षा का यह हाल है तो दूसरे शहरों का क्या हाल होगा, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है. उनका कहना है कि महिला सुरक्षा को लेकर सरकार बिल्कुल भी गंभीर नहीं है, इसलिए महिलाएं और बच्चियां मजबूरी में सड़कों पर उतर आई हैं. यह गंभीर विषय है, जिसपर सदन में चर्चा जरूरी है. कांग्रेस के आरोपों को लेकर जल संसाधन मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सरकार महिला सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर है. महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार की तरफ से जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.

विधानसभा में बोले BJP विधायक, टोलकर्मियों की गुंडागर्दी से हूं परेशान, इसलिए बस से आता हूं

महिला सुरक्षा को लेकर होगा ‘वैज्ञानिक सर्वेक्षण’- भूपेंद्र सिंह
महिला सुरक्षा के मुद्दे पर प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने सदन में प्रश्नकाल के दौरान बताया था, ‘प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों ,विशेषकर छेड़छाड़ को रोकने के लिए राज्य के बड़े शहरों में ‘वैज्ञानिक सर्वेक्षण’ कराया जाएगा.’ उन्होंने कहा कि इसके लिए निजी संस्थाओं की मदद ली जाएगी. गृहमंत्री ने कहा कि सहयोगी संस्थाओं को कहा जाएगा कि वे उन इलाकों में जाएं, जहां पर महिलाओं से छेड़छाड़ की ज्यादा रिपोर्ट आती हैं. वे पीड़ित महिलाओं से बातचीत करेंगे और उनसे सलाह भी लेंगे. उन्होंने कहा कि इसके बाद तैयार रिपोर्ट के आधार पर पुलिस महिला अपराध में शामिल लोगों को चिन्हित करेगी और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. 

संविदा कर्मचारियों ने किया 16 मार्च से हड़ताल का ऐलाaन

March 14, 2018

भोपाल, प्रदेश के सभी संविदा कर्मचारी अधिकारी कर्मचारी 27 मार्च की जगह 16 मार्च से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं। ऐसा सरकार को महासंघ ने आज नोटिस जारी कर अल्टीमेटम दिया है।

किसान मोर्चा की बैठक 17 मार्च को भोपाल में

Mar 13, 2018

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीर सिंह रावत ने बताया कि किसान सम्मान यात्रा के सफलतम आयोजन के लिए 17 मार्च को प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर, भोपाल में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया हैं। कार्यशाला में यात्रा के सभी विषयों पर वरिष्ठ नेतृत्व का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।
 कार्यशाला में मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी, यात्रा के जिला प्रभारी, विधानसभा यात्रा के प्रभारी, सहप्रभारी,मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी एवं जिला सोशल मीडिया प्रभारी उपस्थित रहेंगे।

बनेगी नीलबड़-सीहोर सड़क, MLA रामेश्वर शर्मा ने किया भूमि पूजन | BHOPAL NEWS

March 12, 2018

भोपाल। भदभदा पुल से नीलबड़ होते हुए बड़झिरी गांव सीहोर सीमा तक 13 किलोमीटर डामरीकरण कार्य लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाएगा। उक्त कार्य का भूमि पूजन क्षेत्रीय हुज़ूर विधायक भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने स्थानीय नागरिको के साथ किया। नीलबड़ चौराहे पर आयोजित भूमि पूजन कार्यक्रम में बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक बंधु उपस्थित रहे। 

विधायक शर्मा ने इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नीलबड़ अपितु नये भोपाल को सीहोर अथवा इंदौर सड़क को जोड़ने वाले इस मार्ग के निर्माण की आवश्यकता बहुत लंबे समय से महसूस की जा रही थी। श्री शर्मा ने कहा कि नीलबड़ क्षेत्र को सर्वसुविधा युक्त करने की दिशा में हम बहुत तेजी से आगे बढ़ रहे है। घर घर पीने के पानी की उत्तम व्यवस्था का कार्य नीलबड़ क्षेत्र की अंदरूनी सड़के , सीवेज समस्या को हल करने की और हम बहुत तेजी से बढ़ रहे है। 
विधायक शर्मा ने कहा कि नीलबड़ से खजूरी मार्ग लगभग पूर्णता की और है। इस अवसर पर जिला महामंत्री वीरेंद्र मारण , मनोज काम्बार , हेमंत बिरथीरिया, महेश पाटीदार , राम सिंह नेता जी सहित बड़ी संख्या में नीलबड़ क्षेत्र के नागरिक उपस्थित रहे। 

इंजीनियरों की हड़ताल से सेवाएं होंगी प्रभावित

March 11, 2018

भोपाल, अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पिछले आंदोलन कर रहे डिप्लोमा इंजीनियरों ने अब हड़ताल की चेतावनी दी है। हड़ताल के पहले क्रमिक छह दिनों तक क्रमिक भूख हड़ताल करेंगे, तो वे 16 मार्च को वादा निभाओ रैली निकाल कर विधानसभा का घेराव करेंगे।। इसके बावजूद यदि समस्याएं हल नहीं होती हैं तो 26 मार्च से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे, जिससे सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं। पदोन्नति, क्रमोन्नति, ग्रेड-पे बढ़ाने और संविदा पर रखे गए इंजीनियरों को नियमित करने की मांग कर रहे डिप्लोमा इंजीनियर 7 मार्च से आंदोलन पर हैं। 12 दफ्तर परिसर में आयोजित धरने को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि हमारा संघ समझौता नहीं करता, संगठन की ताकत 5 क्या 25 मांग भी पूरा कराकर ही दम लेगा। वक्ताओं ने इंजीनियरों को संबोधित करते हुए कहा कि अभी नहीं तो कभ्ी नहीं, हमें अपनी ताकत दिखानी होगी।
लडऩे वालोंं की कभी
हार नहीं होती…
मध्यप्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष इंजीनियर देवेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा कि लडऩे वालों की कभी हार नहीं होती और हारने वाला हमेशा विजय होता है, क्योंकि जो लड़ा ही नहीं वह विजय कैसे प्राप्त कर सकता है। लडऩे वाला आज नहीं तो कल विजय जरूर होगा। हमेशा उसे कुछ न कुछ हासिल होता है। इसलिए हमेशा समस्याओं के खिलाफ लड़ते रहो, आवाज बुलंद करते रहो।
जनसामान्य को हो सकती है परेशानी
एसोसिएशन के महामंत्री आरकेएस तोमर का कहना है कि पिछले एक वर्ष पहले बनाई गई कमेटी द्वारा अभी तक अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत नहीं किया है, न ही शासन स्तर पर निराकरण हेतु कोई कार्यवाही की गई है, जबकि संघ निरंतर कमेटी के अध्यक्ष एवं सदस्यों से भेंट कर निवेदन करता आया है। उनका कहना है कि वर्तमान में अल्पवृष्टि के कारण विभिन्न जल स्रोतों में जल भराव की कमी है, अनेक परियोजनाओं के निर्माण कार्य, रख रखाव के कार्य प्रगति पर हैं। संघ के सदस्य एक जिम्मेदार शासकीय सेवक के साथ जिम्मेदार नागरिक भी हैं तथा शासन की नीतियों के क्रियान्वयन में हमेशा सहयोगी रहे हैं। आवश्यक एवं मूलभूत सेवाओं को जन सामान्य तक लगातार पहुंचाते हैं, किन्तु मांगों के निराकरण में शासन द्वारा अनावश्यक उपेक्षा एवं विलंब के कारण आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title="" rel=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>