Bhopal News Today

Bhopal News

8 May 2017

शोषण न हो, नर्मदा से उतनी रेत लें जितना जरूरत हो: CM

शोषण न हो, नर्मदा से उतनी रेत लें जितना जरूरत हो: CM

शोषण न हो, नर्मदा से उतनी रेत लें जितना जरूरत हो: CM

96 एक्सपर्ट नर्मदा एक्शन प्लान बनाने के लिए एकजुट

प्रसं, भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा से अब केवल उतनी ही रेत का खनन किया जाएगा जितनी जरूरी है। उन्होंने कहा कि हम नदियों का दोहन करें, शोषण नहीं। आज प्रशासन अकादमी में नर्मदा एक्शन प्लान और जल संरक्षण पर आयोजित राष्टÑीय कार्यशाला में उन्होंने कहा कि नदियों से रेत निकालना जरूरी है पर उतनी जितने में पर्यावरण संतुलन बना रहे। इस कार्यशाला में  देश विदेश के 96 जल विशेषज्ञ समेत कई पर्याविद् हिस्सा ले रहे हैं। सीएम ने कहा कि जल सम्मेलन कोई राजनीतिक कर्मकांड नही है। इसे सामाजिक आंदोलन बनाना है। उन्होंने कहा कि धरती पर अब तीस फीसदी जल ही बचा है। यह हमारे लिए चिंता का बिषय है। सीएम ने नर्मदा यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि जब तक उनके शरीर में सांसों की डोर है तब तक नर्मदा सेवा और जल संरक्षण का काम चलता रहेगा। सीएम ने कहा कि नर्मदा के साथ-साथ प्रदेश की अन्य नदियों के संरक्षण पर भी कार्ययोजना तैयार की जाएगी। केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री अनिल दबे ने कहा कि नर्मदा नदी उनके लिए सब कुछ है। यह काम बहुत बड़ा है। उन्होंने इस काम के लिए सीएम की तारीफ करते हुए कहा कि वे नर्मदा के शुद्धिकरण को सामाजिक आंदोलन बनाने में लगे हैं। कार्यक्रम में एनजीटी के जस्टिस ज्ञान सिंह समेत सामाजिक क्षेत्रों से जुड़े कई विद्वान भी मौजूद थे।

नीर, नारी और नदी पर करें फोकस

राजेंद्र सिंह ने कहा कि नीर,नारी और नदी ये तीन शब्द है। इन पर फोकस करने की जरुरत है। समाज किसे अपना काम माने यह राज्य सरकार के मैन्युअल में है या नहीं यह देखना होगा।  राज समाज औरा संत ने अभी भूमिका बांध रखी है। लेकिन आजकल संत अपने काम को भूल गए है। लेकिन खुशी है कि एमपी की सरकार ने संतो का काम भी किया।

11 April 2017

पांचवीं एशियन स्कूल हॉकी चैंपियनशिप

पांचवीं एशियन स्कूल हॉकी चैंपियनशिप

पांचवीं एशियन स्कूल हॉकी चैंपियनशिप

भोपाल। अलीशान मोहम्मद और प्रताप लाकड़ा के दो-दो गोल की बदौलत भारत ने पांचवीं एशियाई स्कूल चैम्पियनशिप के फाइनल में मंगलवार को यहां मलेशिया को 5-1 से हराकर खिताब जीता।

अलीशान ने टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए 12वें मिनट में भारत को बढ़त दिलाई। लाकड़ा ने इसके बाद 20वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर और 23वें मिनट में पेनल्टी स्ट्रोक को गोल में बदलकर भारत को 3-0 से आगे किया।

मलेशिया ने 32वें मिनट में अकीमुल्लाह अनुआर एसुक एम के मैदानी गोल की बदौलत स्कोर 1-3 किया लेकिन अलीशान ने 34वें मिनट में एक और गोल करके मध्यांतर तक भारत को 4-1 से आगे कर दिया।

मनिंदर सिंह ने 38वें मिनट में एक और गोल दागकर भारत को 5-1 से आगे किया जो निर्णायक स्कोर साबित हुआ। मलेशिया को दूसरे स्थान से संतोष करना पड़ा।
सिंगापुर ने चीन को शूटआउट में 3-1 से हराकर तीसरा स्थान हासिल किया। निर्धारित समय के बाद दोनों टीमें 1-1 से बराबर थी।

14 Jan. 2017

सूर्य देव आज से हुए उत्तरायण

सूर्य देव आज से हुए उत्तरायण

शनिवार को मकर सक्रांति का महा महत्व
ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान भास्कर अपने पुत्र शनि से मिलने स्वयं उसके घर जाते हैं। चूँकि शनिदेव मकर राशि के स्वामी हैं, अत: इस दिन को मकर संक्रान्ति के नाम से जाना जाता है।
आज सूर्य और उनके पुत्र शनि को पूजा द्वारा एक साथ खुश किया जा सकता है। इसलिये आज इसका महत्व कई गुना बड़ जाता है।
मकर संक्रान्ति हिन्दुओं का प्रमुख पर्व है। मकर संक्रान्ति पूरे भारत और नेपाल में किसी न किसी रूप में मनाया जाता है। पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तभी इस पर्व को मनाया जाता है। इसी दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रान्ति के दिन से ही सूर्य की उत्तरायण गति भी प्रारम्भ होती है। इसलिये इस पर्व को कहीं-कहीं उत्तरायणी भी कहते हैं। तमिलनाडु में इसे पोंगल नामक उत्सव के रूप में मनाते हैं जबकि कर्नाटक, केरल तथा आंध्र प्रदेश में इसे केवल संक्रांति ही कहते हैं।
विभिन्न नाम
• मकर संक्रान्ति : छत्तीसगढ़, गोआ, ओड़ीसा, हरियाणा, बिहार, झारखण्ड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, राजस्थान, सिक्किम, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, पश्चिम बंगाल, और जम्मू
• ताइ पोंगल, उझवर तिरुनल : तमिलनाडु
• उत्तरायण : गुजरात, उत्तराखण्ड
• माघी : हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब
• भोगाली बिहु : असम
• शिशुर सेंक्रात : कश्मीर घाटी
• खिचड़ी : उत्तर प्रदेश और पश्चिमी बिहार
• पौष संक्रान्ति : पश्चिम बंगाल
• मकर संक्रमण : कर्नाटक
• बांग्लादेश : Shakrain/ पौष संक्रान्ति
• नेपाल : माघे सङ्क्रान्ति या ‘माघी सङ्क्रान्ति’ ‘खिचड़ी सङ्क्रान्ति’
• थाईलैण्ड : สงกรานต์ सोङ्गकरन
• लाओस : पि मा लाओ
• म्यांमार : थिङ्यान
• कम्बोडिया : मोहा संगक्रान
• श्री लंका : पोंगल, उझवर तिरुनलमकर
संक्रान्ति का ऐतिहासिक महत्व
ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान भास्कर अपने पुत्र शनि से मिलने स्वयं उसके घर जाते हैं। चूँकि शनिदेव मकर राशि के स्वामी हैं, अत: इस दिन को मकर संक्रान्ति के नाम से जाना जाता है। महाभारत काल में भीष्म पितामह ने अपनी देह त्यागने के लिये मकर संक्रान्ति का ही चयन किया था। मकर संक्रान्ति के दिन ही गंगाजी भगीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होती हुई सागर में जाकर मिली थीं।

29 Nov. 2016

आंगन में घूम रहा शेर, दहशत में ग्रामीण

देवेंद्र दुबे, भोपाल

राजधानी के समीप स्थित प्रसिद्ध जैन तीर्थ समसगढ़ और उससे लगे गांवों में दो शेरों की दहशत बनी हुई है। पिछले एक सप्ताह से लगातार ये शेर उनके घरों के आंगन तक पहुंच रहे हैं और मवेशियों को अपना शिकार बना रहे हैं। लगभग छह दिन पहले भानपुरा निवासी भूरे खां के घर के बाहर बंधे मवेशियों पर एक बाघ हमला करने पहुंचा। मवेशियों के चिल्लाने की आवाज सुनकर बाघ वापस लौट गया। इसके बाद 26 तारीख की रात को लगभग 9 बजे इश्तियाक ने अपने घर के बाहर बंधी गाय के चिल्लाने की आवाज सुनी तो बाहर आकर देखा कि बाघ उनसे लगभग 100 फीट की दूरी पर खड़ा था। परिवार के अन्य लोगों के चिल्लाने के बाद बाघ वापस लौट गया। इसी रात को लगभग 11 बजे आगे दिनेश मारण के खेत पर जाकर उसने एक बछिया पर हमला किया। इसमें बछिया बुरी तरह घायल हो गई। खेत के चौकीदार जंगल सिंह के शोर मचाने पर बाघ उसे अधमरा छोड़कर चला गया। अगले दिन 27 तारीख की रात को जब चौकीदार अपने कबेलू के छप्पर वाले घर में सो रहा था तो रात लगभग साढे़ आठ बजे उसे छप्पर टूटने और कबेलुओं पर चलने की आवाज आई। उसने बताया कि उसी घर के दूसरे कमरे में उसने घायल बछिया को रखा था, जिसे ढूंढता हुआ शेर मकान के उपर चड़ गया। बुरी तरह घबराया हुआ चौकीदार चिल्लाने लगा तो शेर लौट गया। शेर की इस ऱुफवाकिंग में कई जगह से टीन और कबेलू टूट गए। चौकीदार का कहना है कि पहले बाघ ने दरवाजे पर पंजे मारे फिर छत पर चड़ा। घायल बछिया ने देर रात दम तोड़ दिया जिसे सुबह वन विभाग के अमले ने आकर दाह संसकार करवा दिया। इसके बाद सोमवार शाम को लगभग 6 बजे ही बाघ फिर मज्जू खां के मवेशियों पर हमला करने आ पहुंचा। ग्रामीणों के शोर के बाद वह चला गया और लगभग साढ़े सात बजे फिर घर के पास ही आकर बैठ गया। लगभग आधे घंटे के बाद वो वापस झाडि़यों में चला गया। देर रात तक सभी ग्रामीण टार्च और डंडों के सहारे पहरा देते रहे। ग्रामीणों को कहना है कि कभी कभी बाघ सुबह सुबह भी खेतों के आसपास नजर आ रहा है। डर के कारण ग्रामीणों ने रात को खेतों में पानी देना भी बंद कर दिया है। कुछ खेतों में लोग मचान बनाकर सुरक्षा कर रहे हैं। मज्जू भाई की माता जी का कहना है कि वे लोग बरसों से यहां निवास कर रहे हैं और पास के जंगल में शेर भी नए नहीं हैं लेकिन ये पहली बार घरों में घुसकर मवेशियों का शिकार कर रहे हैं।  वन अधिकारियों का कहना है कि इस क्षेत्र में बाघ टी 1 और उसके जवान बेटे टी 122 का मूवमेंट है। इनको गांव से दूर करने  की कार्ययोजना भी बनाई जा रही है। ग्रामीणों को भी देर रात घर से न निकलने की सलाह दी गई है।

अपने घर में घुसे शेर के बारे में बताते इश्तियाक

अपने घर में घुसे शेर के बारे में बताते इश्तियाक

यहां से झांक रहा था शेर-- छत पर घूमते बाघ के बारे में बताते चौकीदार जंगल सिंह

यहां से झांक रहा था शेर–
छत पर घूमते बाघ के बारे में बताते चौकीदार जंगल सिंह

खटखटाया दरवाजा-- दरवाजे पर शेर की खरोंच के निशान दिखाते दिनेश मारण

खटखटाया दरवाजा–
दरवाजे पर शेर की खरोंच के निशान दिखाते दिनेश मारण

पहरेदारी-- देर रात हथियार और टार्च लेकर पहरेदारी करते ग्रामीण

पहरेदारी–
देर रात हथियार और टार्च लेकर पहरेदारी करते ग्रामीण

15 Nov 2016

कलियासोत में नजर आया विलुप्त प्रजाती का इजिप्शियन वल्चर(गिद्ध)
देवेंद्र दुबे, भोपाल।
कलियासोत डेम क्षेत्र में विलुप्त प्राय गिद्ध इजिप्शियन वल्चर दिखाई दे रहा है। अन्य गिद्धों की तुलना में यह आकार में छोटा होता है। इसकी खूबसूरत पीली चोंच इसको आकर्षक बनाती है। हालांकि यह अन्य गिद्धों की तरह मृतोपजीवी है लेकिन यह छोटे पक्षियों का शिकार भी करता है और उनके अंडे भी खाता है। इसे समझदार पक्षियों की श्रेणी में रखा जाता है क्योंकि यह दूसरे पक्षियों के अंडे तोड़ने के लिये कंकड़ों का प्रयोग करता है। अपना घोंसला बनाने के लिये यह टहनियों में उन को लपेटता है।
यह इकोसिस्टम में महत्वपूर्ण रोल निभाता है इसलिये इनका दिखना पर्यावरणीय दृष्टि से महत्वपूर्ण है। यह दक्षिणी यूरोप से मध्य एशिया, भारतीय उपमहाद्वीप में बहुतायत में पाया जाता था, लेकिन केमिकल पाईसनिंग और मानव द्वारा शिकार के कारण यह अब विलुप्त होने की कगार पर है।

कलियासोत में नजर आया विलुप्त प्रजाती का इजिप्शियन वल्चर(गिद्ध)

कलियासोत में नजर आया विलुप्त प्रजाती का इजिप्शियन वल्चर(गिद्ध)

कलियासोत में नजर आया विलुप्त प्रजाती का इजिप्शियन वल्चर(गिद्ध)

कलियासोत में नजर आया विलुप्त प्रजाती का इजिप्शियन वल्चर(गिद्ध)

10 July 2016

बाढ़ से निपटने के लिये सिंहस्थ में अपनी सेवाएँ देने वाले प्रशिक्षित होमगार्ड के जवानों को फिर से काम पर रखें- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
भोपाल, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में अतिवृष्ठि से उत्पन्न बाढ़ की समीक्षा की। जिसमें उन्होंने अधिकारियों को निम्न निर्देश दिये।
-अति वृष्टि से प्रभावित क्षेत्र का सर्वे कर नुकसानी का आंकलन कर राहत राशि मुहैया कराई जाए।
-लोक स्वास्थ्य और स्थानीय शासन विभाग को युद्ध स्तर पर बीमारियों पर नियंत्रण, जरूरी दवाईयों की व्यवस्था तथा शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश
-कंट्रोल रूम 24 घंटे कार्यरत रहने तथा लोगों के फोन आने पर त्वरित जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश
– सिंहस्थ में अपनी सेवाएँ देने वाले प्रशिक्षित होमगार्ड के जवानों को फिर से काम पर रखने के निर्देश ताकि बाढ़ और अति वृष्टि की परिस्थितियों से कारगर ढंग से निपटने में उनकी सेवाएँ ली जा सकें।
-नदी-नालों के किनारे बने वाटर फिल्टर प्लांट को हमेशा खतरे के निशान से ऊपर स्थापित करने के निर्देश
– जिन गरीब लोगों का अनाज और राशन सामग्री वर्षा से खराब हो गयी है, उन्हें सस्ता अनाज उपलब्ध करवाया जाये
-बैठक में राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा, पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला, पुलिस महानिदेशक आपदा प्रबंधन मैथिलीशरण गुप्त, अपर मुख्य सचिव गृह बी.पी.सिंह, अपर मुख्य सचिव नर्मदा घाटी रजनीश वैश्य, अपर मुख्य सचिव जल संसाधन राधेश्याम जुलानिया, प्रमुख सचिव राजस्व के.के.सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री इकबाल सिंह बैंस एवं एस.के. मिश्रा, प्रमुख सचिव नगरीय विकास मलय श्रीवास्तव और सचिव मुख्यमंत्री विवेक अग्रवाल उपस्थित थे।

अधिकारियों के साथ बाढ़ की समीक्षा करते मुख्यमंत्री

अधिकारियों के साथ बाढ़ की समीक्षा करते मुख्यमंत्री

03 July 2016

दोपहर को छाई काली घटाएं छाया अंधेरा
भोपाल(तुसं) राजधानी में रविवार सुबह से ही रिमझिम बारिश का दौर चल रहा है। कुछ मिनिटों के लिये बारिश तेज भी हो रही है। सुबह सुबह बारिश ने लोगों को खूब भिगोया। सुबह से ही बादल राजधानी को घेरे हुए हैं। दोपहर लगभग 1 बजे अचानक गहरी काली घटाओं ने दोपहर में ही अंधेरा सा कर दिया। लेकिन ये बादल हल्के फुल्के बरस कर चले गए और फिर मौसम सामान्य हो गया। अगले 24 घंटों में भी बारिश का पूर्वानुमान है। लेकिन अच्छी बारिश का अभी भी इंतजार है।

दोपहर को छाई काली घटाओं से हुआ अंधेरा। राजा भोज की प्रतिमा के पीछे राजधानी पर छाए काले बादलों का यह छायाचित्र रविवार दोपहर 1.30 बजे क्लिक किया है

दोपहर को छाई काली घटाओं से हुआ अंधेरा। राजा भोज की प्रतिमा के पीछे राजधानी पर छाए काले बादलों का यह छायाचित्र रविवार दोपहर 1.30 बजे क्लिक किया है

बारिश में भी जलसंकट– 

भोपाल(तुसं)। कोलार पाईप लाईन से सटी हुई कोलार रोड की  अनेकों कालोनियों के रहवासी साल भर जलसंकट से जूझते हैं। अनेक स्थानों पर जलस्रोत अच्छी बारिश के बाद भी रीचार्ज नहीं होते हैं। हजारों रहवासी सालभर टेंकर के पानी पर निर्भर रहते हैं। गर्मी में स्थिति और बुरी हो जाती है जब जलस्तर और नीचे चला जाता है। हालांकि सरकार ने जल्द ही केरवा से पानी लाने का वादा किया है। इसका काम भी प्रारंभ हो चुका है लेकिन कोलार वासियों को कब इस सालाना सूखे से निजात मिलेगी, ये अभी देखना है। अनियोजित और अनियंत्रित तरीके से बसे नगर के दुष्परिणाम देखने के लिये कोलार रोड सटीक उदाहरण है। अब यह क्षेत्र नगर निगम भोपाल के हाथों में है, देखते हैं भोपाल के साथ साथ यह क्षेत्र कब तक स्मार्ट बनेगा।

रविवार सुबह तेज बारिश के दौरान पानी ढोते लोग

रविवार सुबह तेज बारिश के दौरान पानी ढोते लोग

रविवार सुबह तेज बारिश के दौरान पानी ढोते लोग

रविवार सुबह तेज बारिश के दौरान पानी ढोते लोग

तेज बारिश में भीगे, लोग सड़कों पर भी भरा पानी

तेज बारिश में भीगे, लोग सड़कों पर भी भरा पानी

02 July 2016

भूपेंद्र सिंह बने गृहमंत्री, नरोत्तम मिश्रा संभालेंगे जनसंपर्क
विश्वास सारंग को सहकारिता विभाग का स्वतंत्र प्रभार
भोपाल(तुसं)  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चौहान ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों को विभागों का वितरण कर दिया है। श्री चौहान ने 30 जून को राज्य मंत्रि-परिषद का विस्तार कर 4 केबिनेट और 5 राज्य मंत्री को मंत्रि-परिषद में शामिल किया था। मंत्रि-परिषद के विस्तार के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान सहित राज्य मंत्रि-परिषद के सदस्यों की संख्या 30 हो गयी है। मंत्री और राज्य मंत्री को दिये गये विभाग इस प्रकार हैं-

जयंत मलैया- वित्त, वाणिज्यिक कर
गोपाल भार्गव- पंचायत, ग्रामीण विकास, सामाजिक न्याय
गौरीशंकर शेजवार- वन, योजना, आर्थिक सांख्यिकी
नरोत्तम मिश्रा- जल संसाधन, जनसंपर्क,संसदीय कार्य
भूपेंद्र सिंह- गृह व परिवहन
राजेंद्र शुक्ल- खनिज, वाणिज्य एवं उद्योग, रोजगार
जयभान सिंह पवैया- उच्च शिक्षा, लोकसेवा प्रबंधन, जनशिकायत
विजय शाह- स्कूल शिक्षा
उमाशंकर गुप्ता- राजस्व, विज्ञान, प्रौद्योगिकी
यशोधराराजे सिंधिया – खेल और युवा कल्याण, धर्मस्व
गौरीशंकर बिसेन- किसान एवं कृषि कल्याण
माया सिंह- नगरीय विकास व आवास
कुसुम महदेले – लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और जेल
पारसचंद्र जैन- ऊर्जा मंत्री
अंतरसिंह आर्य- पशुपालन, मत्स्य विकास, ग्रामोद्योग, पर्यावरण
रामपाल सिंह- पीडब्ल्यूडी, विधि-विधायी
ज्ञान सिंह- आदिम जाति, अनुसूचित जाति कल्याण
रुस्तम सिंह- लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण
ओमप्रकाश धुर्वे- खाद्य-नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण, श्रम
अर्चना चिटनिस – महिला-बाल विकास

गुरुवार को राजभवन में नए मंत्रियों के शपथग्रहण समारोह में लिया गया ग्रुप फोटो जिसमें (लेफ्ट से राईट) दिखाई दे रहे है ओमप्रकाश धुर्वे, जयभानसिंह पवैया, रुस्तम सिंह, अर्चना चिटनिस, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, महामहिम राज्यपाल रामनरेश यादव, संजय पाठक, हर्ष सिंह, ललिता यादव, सूर्यप्रकाश मीणा और विश्वास सारंग

गुरुवार को राजभवन में नए मंत्रियों के शपथग्रहण समारोह में लिया गया ग्रुप फोटो जिसमें (लेफ्ट से राईट) दिखाई दे रहे है ओमप्रकाश धुर्वे, जयभानसिंह पवैया, रुस्तम सिंह, अर्चना चिटनिस, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, महामहिम राज्यपाल रामनरेश यादव, संजय पाठक, हर्ष सिंह, ललिता यादव, सूर्यप्रकाश मीणा और विश्वास सारंग

राज्यमंत्रियो की सूची निम्मानुसार है
—————————————————-
दीपक जोशी- तकनीकी शिक्षा , कौशल विकास (स्वतंत्र प्रभार) एवं श्रम व स्कूली शिक्षा राज्य मंत्री
लालसिंह आर्य-नर्मदा घाटी (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन व विमानन राज्य मंत्री
सुरेंद्र पटवा- संस्कृति व पर्यटन (स्वतंत्र प्रभार) एवं कृषि
शरद जैन- चिकित्सा शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) व लोक स्वास्थ्य, संसदीय कार्य राज्यमंत्री
विश्वास सारंग- सहकारिता, गैस त्रासदी राहत व पुनर्वास (स्वतंत्र प्रभार) एवं पंचायत, ग्रामीण विकास राज्य मंत्री
हर्ष सिंह- आयुष व नवकरणीय ऊर्जा (स्वतंत्र प्रभार) व जल संसाधन
ललिता यादव-पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण(स्वतंत्र प्रभार), राज्यमंत्री महिला-बाल विकास
संजय पाठक-सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) एवं उच्च शिक्षा
सूर्यप्रकाश मीना-उद्यानिकी और खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार)

Bhopal 29 June 2016

बड़ी बहन ने दी छोटे भाई को मुखाग्नि
भोपाल(तुसं)। कहते हैं बड़ी बहन मां समान होती है लेकिन जब वो पूरे घर की जिम्मेदारी उठाने लगे तो पिता समान भी होती है। एेसा ही एक घटना छोला विश्राम घाट भोपाल में देखने को मिली। टीलाजमालपुरा निवासी 23 वर्षीय युवक किशोर रायकवार अपनी तीन बहनों का इकलौता और लाड़ला भाई था। पिता की मौत के बाद बड़ी बहनों ने उसे बड़े प्यार से पाला। दो बड़ी बहनों की शादी के बाद तीसरी बहन पिंकी ने उसका ध्यान रखा। अचानक एक खतरनाक बीमारी ने उसे आ घेरा। इस बीमारी में उसके रक्तवाहिनियों में रक्त के थक्के जम जाते थे। 27 वर्षीय पिंकी जो अकाउंटेंट की नौकरी करती है उन्होंने अपने भाई का कई जगह इलाज कराया लेकिन बुधवार को उनका भाई चल बसा। घर के बड़े बूढ़ों और समाज के लोगों ने परिवार को समझाया कि बड़ी बहन पिंकी ने इसकी एक पिता या बड़े भाई की तरह सेवा की है इसीलिये उसी को दाह संस्कार करना चाहिए। इसके बाद श्मशान में जाकर पिंकी ने ही सारी रस्में पूरी कीं और भाई की चिता को अग्नि दी।

छोला विश्रामघाट पर अपने भाई को मुखाग्नि देती पिंकी रायकवार

छोला विश्रामघाट पर अपने भाई को मुखाग्नि देती पिंकी रायकवार

तेज बारिश के बाद इंद्रधनुषी हुए बादल।
भोपाल(तुसं) बुधवार को सुबह से मौसम बारिश जैसा हो गया। दोपहर लगभग पौने चार बजे तेज बारिश शुरु हुई लगभग आधा घंटा तेज बारिश के बाद आसमान साफ होने लगा और धूप भी दिखाई देने लगी। शाम लगभग पौने सात बजे सूर्यास्त से पहले पश्चिम दिशा में सतरंगी बादल दिखाई देने लगे। ये बादल इंद्रधनुषी बादल कहलाते हैं। ये अक्सर बारिश में ही दिखाई देते हैं। बारिश के मौसम में पानी गिरने के बाद बादलों में पानी की सूक्ष्म बूंदे जमी रहती हैं। जब सूर्य का प्रकाश इन बादलों पर पड़ता है तो ये बूंदें प्रकाश को ठीक उसी तरह सप्तरंगों में बांट देते हैं जिस तरह प्रिज्म बांटता है। इस कारण प्रकाश का वर्ण विक्षेपण होता है अर्थात प्रकाश अपने सात रंगों में बंट जाता है और बादल इंद्रधनुषी रंग के हो जाते हैं और इंद्रधनुषी बादल या Cloud iridescence कहलाते हैं।

आसमान पर छाए इंद्रधनुषी बादलों को देखते राजधानीवासी

आसमान पर छाए इंद्रधनुषी बादलों को देखते राजधानीवासी

Bhopal 23 June 2016

सुहाने मौसम में उमस से मिली राहत, अब झमाझम बारिश का इंतजार
भोपाल(तुसं)। गुरुवार शाम को हवाओं के साथ राजधानी के आसमान में गहरे बादलों ने डेरा जमा लिया। कुछ स्थानों पर हल्की बारिश भी हुई। ठंडी हवाओं और काली घटाओं ने मौसम खुशनुमा कर दिया। मौसम विभाग का कहना है कि अभी अच्छी बारिश होने में समय लगेगा, लेकिन अगले कुछ दिनो भी हल्की बारिश होगी और आसमान बादलों से भरा होगा।

न्यू मार्केट क्षेत्र में शाम को हुई तेज बारिश

न्यू मार्केट क्षेत्र में शाम को हुई तेज बारिश

राजधानी में घने बादलों का डेरा रहा, तेज हवाओं से लहराई बड़ी झील

राजधानी में घने बादलों का डेरा रहा, तेज हवाओं से लहराई बड़ी झील

जर्मन साईकिल पर सवार होकर स्मार्ट होगा भोपाल
सेहत और बचत के लिये नगर निगम का नया अभियान
देवेंद्र दुबे(भोपाल)। नगर निगम भोपाल कुछ अन्य संस्थाओं के सहयोग से जल्द ही पब्लिक बाईक शेयर सिस्टम शुरु करने जा रहा है। इसके लिये जर्मनी से वेिशेष साईकिलें मंगवाई जा रही हैं। ये साईकिल गेल्वेनाईज्ड स्टील से बनी हुई अत्यधिक हल्की हैं। इनमें तीन गियर है जिससे राजधानी के उतार चड़ाव भरे रास्तों पर आसानी से चला जा सकता है। इसके पहिए विशेष है जो गीले रास्तों पर भी आसानी से फिसलते नहीं हैं। ये पहिए रात को चमकते हैं जिससे बाईक रात में भी दिखाई देती है। इसमें आगे और पीछे लाईट की भी व्यवस्था है। इसमें छोटा सा डिजिटल सिस्टम भी लगा हुआ है।
इस सिस्टम के अंतर्गत पूरे भोपाल में लगभग 50 स्टेशन बनाए जाएेंगे जहां ये साईकिलें उपल्ब्ध होंगी। इसके लिये स्मार्ट कार्ड की तरह एक कार्ड बनाया जाएेगा। जिसका चार्ज 500 रुं. प्रतिमाह होगा। यह कार्ड प्रीपेड कार्ड की तरह काम करेगा, साथ ही इसके बगैर साईकिल को अनलाक करना भी संभव नहीं होगा। पहले आधा घंटा ये साईकिल फ्री होगी। इसके बाद हर आधा घंटा का 10 रु. चार्ज होगा। इसे किसी भी स्टेशन से लिया जा सकता है और अपने गंतव्य के करीब स्थित अन्य स्टेशन पर वापस किया जा सकता है। पहला स्टेशन बोट क्लब पर बनाया जा रहा है। शुरुआत में लगभग 500 साईकिलें इस सिस्टम में शामिल होंगी। इसके 15 अगस्त तक शुरु होने की उम्मीद है। इस प्रोजेक्ट को देख रहे कार्तिकेय शर्मा ने बताया कि इसमें इंटरमिरेट संस्था, चार्टेड बस और जर्मनी की नेक्स्ट बाईक नगर निगम का सहयोग कर रहे हैं। शुरु में यह सुविधा सुबह 5 से रात दस बजे तक उपलब्ध रहेगी। कार्तिकेय ने बताया कि इस पूरी परियोजना का कांसेप्ट और मार्गदर्शन महापौर आलोक शर्मा का है। इससे लोगों का पेट्रोल बचेगा। प्रदूषण कम होगा और इसके साथ सेहत भी बनेगी। अभी बोट क्लब रोड पर ये साईकिल लोगों के ट्रायल के लिये उपलब्ध कराई जा रही है।

बोट क्लब पर इस विशेष साईकिल की ट्रायल लेते लोग।

बोट क्लब पर इस विशेष साईकिल की ट्रायल लेते लोग।

विशेष साईकिल जो जर्मनी से मंगाई गई है

विशेष साईकिल जो जर्मनी से मंगाई गई है

Bhopal 20 June 2016

सोमवार सुबह-सुबह हुई तेज बारिश, कल तक पहुंच सकता है मानसून
भोपाल(तुसं)। राजधानी भोपाल में सोमवार सुबह लगभग साढ़े 6 बजे कुछ स्थानों पर तेज बारिश हुई। ये बारिश लगभग आधा घंटा लगातार हुई। प्रदेश में मानसून का आगमन हो चुका है। जबलपुर संभाग तक मानसून आ गया है इसके कल तक भोपाल पहुंचने की उम्मीद है। ये बंगाल की खाड़ी से आने वाला मानसून है। अरब सागर से आने वाला मानसून भी जल्द ही प्रदेश में दस्तक देगा। मौसम विभाग ने छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, खंडवा, होशंगाबाद आदि जिलों में अगले 24 घंटों में तेज बारिश की चेतावनी दी है। सुबह सुबह बारिश के बाद दिन में मौसम उमस भरा है, इसलिये शाम को तेज बारिश के आसार हैं।

अचानक हुई तेज बारिश से बचकर भागते मार्निंग वाकर्स

अचानक हुई तेज बारिश से बचकर भागते मार्निंग वाकर्स

कोलार रोड पर तेज बारिश में भीगे स्कूली बच्चे

कोलार रोड पर तेज बारिश में भीगे स्कूली बच्चे

कोलार रोड पर तेज बारिश का दृश्य

कोलार रोड पर तेज बारिश का दृश्य

Bhopal 18 June 2016

प्रीमानसून ने राजधानी को आज फिर भिगोया। देर रात तक रुक रुक कर बरसे बादल
भोपाल(तुसं)।शनिवार शाम को फिर प्रीमानसून बारिश ने शहर को भिगोया। दिनभर आसमान में बादलों का डेरा रहने से अधिकतम तापमान 35 डिग्री पर लुड़क गया। शाम को पूर्व दिशा से उठे घने काले बादलों ने तूफानी बारिश का अंदेशा दिया, लेकिन ये बादल हल्की बारिश करके आगे बड़ गए। हालांकि इसके बाद बीच बीच में बारिश होती रही जो देर रात तक जारी रही और मौसम विशेषज्ञों के अनुसार रात भर बीच बीच में बारिश होती रहेगी। न्यूनतम तापमान 25 डिग्री रहा। मौसम विज्ञानियों ने बताया कि मानसून उड़ीसा तक पहुंच चुका है। इसके कल तक छत्तीसगढ़ पहुंचने की संभावना है और लगभग 20,21 जून तक भोपाल पहुंचेगा।

शाम को कुछ मिनिटों के लिये हुई तेज बारिश

शाम को कुछ मिनिटों के लिये हुई तेज बारिश

रात दस बजे फिर बरसे बादल

रात दस बजे फिर बरसे बादल

रात दस बजे फिर बरसे बादल

रात दस बजे फिर बरसे बादल

Bhopal 17 June 2016

दिनभर तपने के बाद शाम को भीगी राजधानी

भोपाल(तुसं)। दिन में तेज गर्मी से राजधानीवासियों को शाम को राहत मिली। लगभग 5 बजे गरज चमक के साथ लगभग आधे घंटे हुई तेज बारिश हुई। दिन में लगभग 38 डिग्री पर जा पहुंचा तापमान शाम 7 बजे तक 24 डिग्री पर उतर गया। तापमान में हुई गिरावट से मौसम सुहाना हो गया। मानसून के भोपाल में 20,22 जून तक पहुंचने की उम्मीद है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार कल और परसों भी गरज चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है।

शाम 5 बजे भीगी राजधानी।

शाम 5 बजे भीगी राजधानी।

शाम 5 बजे भीगी राजधानी।

शाम 5 बजे भीगी राजधानी।

Bhopal 15 June 2016

खूबसूरत कंवेंशन सेंटर बनेगा 80 साल पुराना मिंटो हाल
भोपाल(तुसं)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश पर्यटन की संभावनाओं का प्रदेश है। पर्यटन विकास के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ाने के प्रयास किये जायेंगे। पिछले साल 7 करोड़ पर्यटक मध्यप्रदेश आये। पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ी है।उन्होंने आज यहाँ भोपाल के ऐतिहासिक भवन मिंटो हॉल के कन्वेंशन सेंटर के रूप में जीर्णोद्धार कार्य का शुभारंभ करते हुए कहा कि इस ऐतिहासिक इमारत को नये स्वरूप में देखने का अनूठा अनुभव होगा। इसे पुरानी विधानसभा के रुप में जाना जाता है।मिंटो हॉल का निर्माण सुल्तान जहां बेगम ने 1909 में करवाया था और यह 1936 में बनकर तैयार हुआ। इसके जीर्णोद्धार का काम 32 करोड़ की लागत से पर्यटन विकास निगम द्वारा किया जा रहा है। यह अगले साल तक पूरा हो जायेगा। आजादी से पूर्व मिंटो हाल मिलिट्री हेडक्वाटर रहा। 1946 में यहां हमीदिया कालेज भी बना। मप्र राज्य बनने के बाद यह 1996 तक विधानसभा भवन रहा। मप्र पर्यटन विकास निगम यहां अत्याधुनिक 500 सीट की क्षमता वाला कन्वेंशन सेंटर बना रहा है। लेकिन इसके मूल रुप को बनाए रखा जाएगा। मिंटो हाल अंग्रेजी और नवाबी स्थापत्य कला का मिश्रण है।

मिंटो हाल का बाहरी स्वरुप

मिंटो हाल का बाहरी स्वरुप

मिंटो हाल का भीतरी दृश्य जहां खूबसूरत नक्काशी है।

मिंटो हाल का भीतरी दृश्य जहां खूबसूरत नक्काशी है।

दीवारों पर खूबसूरत नक्काशी को देखते सीएम शिवराज सिंह चौहान

दीवारों पर खूबसूरत नक्काशी को देखते सीएम शिवराज सिंह चौहान

जीर्णोधार कार्य का शुभारंभ करते सीएम शिवराज सिंह चौहान, साथ में हैं अध्यक्ष मप्र विधानसभा सीताशरण शर्मा, महापौर आलोक शर्मा तथा अन्य अतिथिगण

जीर्णोधार कार्य का शुभारंभ करते सीएम शिवराज सिंह चौहान, साथ में हैं अध्यक्ष मप्र विधानसभा सीताशरण शर्मा, महापौर आलोक शर्मा तथा अन्य अतिथिगण

Special Story

Bhopal 13 June 2016

अच्छी बारिश का संदेशा लेकर साउथ अफ्रीका से आय़ा चातक
देवेंद्र दुबे, भोपाल। भारतीय मान्यताओं में बारिश का घोतक माने जाने वाले पक्षी का भोपाल आगमन हो गया है। इनका आना दक्षिणी पश्चिमी मानसून के आने का संदेश देता है। कलियासोत डेम क्षेत्र में सोमवार को इस पक्षी को क्लिक किया। इसका अंग्रेजी नाम Jacobin Cuckoo or Pied crested Cuckoo होता है। यह कोयल परिवार का सदस्य है। पक्षी विज्ञानियों का कहना है यह पक्षी साउथ अफ्रीका से लगभग 1500 से 2000 किमी लंबी यात्रा कर भारत के कई हिस्सों में आता है। इसका आगमन मानसून से पांच-सात दिन पहले होता है। इसीलिये इसे मानसून पक्षी भी कहा जाता है। भारतीय पौराणिक मान्यताओं के अनुसार चातक पक्षी मानसून के पहले पानी नही पीता और स्वाति नक्षत्र की बारिश की पहली बूंदों से अपनी प्यास बुझाता है। यह पक्षी बरसात में यहीं प्रजनन करता है। मादा चातक अपने अंडे दूसरे पक्षियों के घोंसलो में रखती है। सितंबर अक्टूबर में ये पक्षी वापस अफ्रीका लौट जाते है। मान्यताओं के अनुसार ये दिन में जोड़े में रहते है और रात को अलग अलग हो जाते हैं। लगभग 15 इंच लंबे इस पक्षी का रंग काला होता है जबकि निचला हिस्सा सफेद होता है। चातक का प्राचीन काल से ही साहित्य में बहुत वर्णन किया गया है। कालीदास के मेघदूत सहित कई अन्य काव्य ग्रंथों में चातक का जिक्र किया गया है। इस पक्षी के भोपाल आने से मानसून काउंटडाउन शुरु हो गया है। अब जल्द ही अच्छी वर्षा की उम्मीद की जा सकती है।

कलियासोत डेम क्षेत्र में सोमवार को दिखाई दिया चातक

कलियासोत डेम क्षेत्र में सोमवार को दिखाई दिया चातक

कलियासोत डेम क्षेत्र में सोमवार को दिखाई दिया चातक

कलियासोत डेम क्षेत्र में सोमवार को दिखाई दिया चातक

बारिश के इंतजार में प्यासा चातक

बारिश के इंतजार में प्यासा चातक

Bhopal 12 June 2016

सूख रहे भोपाल के जलस्त्रोत, अब संभल कर बहाएें पानी
भोपाल(तुसं)। राजधानी भोपाल को पानी पिलाने वालेे प्रमुख जलस्त्रोत बड़ी झील और कोलार डेम में तेजी से जलस्तर घट रहा है। कोलार डेम में किनारे दूर दूर तक फैल गए हैं। बीच बीच में छोटे छोटे टापू नजर आने लगे हैं। वहीं बड़ी झील का बड़ा हिस्सा सूख गया है। बैरागढ़ के पीछे और गोरेगांव वाले किनारे से देखने पर दूर तक सूखा नजर आता है। अब पानी की बचत करना जरुरी है। मानसून भी जल्द ही भोपाल पहुंचने की उम्मीद है। पिछले वर्ष कम बारिश की वजह से इस साल ये हालात बने हैं। इस वर्ष मौसम विभाग के अनुसार भोपाल में सामान्य से अधिक बारिश होगी, लेकिन इस जलस्त्रोतों के पूरी तरह भराने तक कृपया अपनी आदतों में ये बदलाव करें
-घर में बचे गंदे पानी को नाली में न बहाएें उसे गार्डन में या सफाई में यूस करें।
-बाथरूम में शावर का उपयोग न करे और टायलेट में फ्लश न चलाएें। इन कामों में बाल्टी का प्रयोग करें।
– गाड़ी धोने के लिये पाईप का इस्तेमाल न करें। कम से कम पानी से गाड़ी साफ करें।
– घर की पाईपलाईन और नलों को चेक करें तथा रिसाव को बंद करें।
– बारिश से पहले घर में रेन वाटर हार्वेस्टिंग का प्रबंध करें ताकि आपके आसपास की भूमि का जलस्तर बड़ सके।

गोरागांव, बिसनखेड़ी वाले झील के किनारों पर दूर तक सूखा नजर आ रहा है

गोरागांव, बिसनखेड़ी वाले झील के किनारों पर दूर तक सूखा नजर आ रहा है

बैरागढ़ के पीछे सूखे तालाब पर हो रही है सिंगाड़े की खेती

बैरागढ़ के पीछे सूखे तालाब पर हो रही है सिंगाड़े की खेती

मई 15 2016 को कोलार डेम में इतना पानी था, अब लगभग एक महीने बाद आप स्वयं स्थित का अंदाजा लगा सकते हैं

मई 15 2016 को कोलार डेम में इतना पानी था, अब लगभग एक महीने बाद आप स्वयं स्थित का अंदाजा लगा सकते हैं

Bhopal 11 June 2016

बसपाईयों के समर्थन से राज्यसभा पहुंचे विवेक तन्खा,दिया मायावती को धन्यवाद
भोपाल(तुसं)। बसपा के चार विधायकों के वोट मिलने के बाद कांग्रेस के विजयी प्रत्याशी विवेक तन्खा ने मायावती को धन्यवाद कहा। जीत के बाद प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में विवेक तन्खा ने अपने उद्बोधन में सांसद कमलनाथ और अन्य वरिष्ठ नेताओं को धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने बहन मायावती को भी धन्यवाद ज्ञापित किया।
भाजपा के प्रत्याशी अनिल दवे तथा एमजे अकबर भी जीत कर राज्यसभा पहुंच गए हैं।
अनिल दवे और एमजे अकबर को 58-58 वोट मिले। विवेक तन्खा को सर्वाधिक वोट 62 मिले वहीं भाजपा समर्थित नर्दलीय प्रत्याशी विनोद गोटिया को 50 वोट मिले। कुल 228 वोट डाले गए।
प्रदेश भाजपा कार्यालय में दोनों प्रत्याशियों की जीत का जश्न मनाया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा, संगठन महामंत्री सुहास भगत,महापौर आलोक शर्मातथा अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी भी मौजूद रहे। पार्टी कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी की और मिठाईयां बांटी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि हम साफ सुथरी राजनीति के पक्षधर है और उसी नीति पर हमने चुनाव लड़ा और परिणाम सामने है। उन्होंने कहा कि अनिल माधव दवे और एम.जे. अकबर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे सामाजिक अभियान और प्रकल्पों को आगे बढ़ाने में सहयोग देंगे। उनके अनुभवों का लाभ हमें निरंतर मिलेगा। उन्होंने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता खरे सिक्के है ऐसे कार्यकर्ताओं पर गर्व है।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में डंटे श्री विनोद गोटिया का समर्थन किया। जिन्होंने मतदाताओं से संपर्क किया लेकिन किसी भी कीमत पर वोटों की खरीद फरोख्त नहीं की। निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन श्री गोटिया को प्राप्त हुआ।

प्रदेश भाजपा कार्यालय में मना जीत का जश्न

प्रदेश भाजपा कार्यालय में मना जीत का जश्न

कांग्रेस विधायकों के साथ जीत का जश्न मनाते विवेक तन्खा

कांग्रेस विधायकों के साथ जीत का जश्न मनाते विवेक तन्खा

मप्र में राज्यसभा की तीन सीटों पर चुनाव के लिये वोटिंग संपन्न, शाम को घोषित होंगे परिणाम
भोपाल(तुसं)। मध्य प्रदेश की राज्यसभा की तीन सीटों के लिए आज मतदान हुआ। प्रत्येक प्रत्याशी को जीत के लिये 58 वोट की आवश्यकता है। भाजपा की ओर से उम्मीदवार अनिल माधव दवे और एमजे अकबर का राज्यसभा पहुंचना तय है। भाजपा के पास कुल 165 वोट हैं जिनमें 116 वोट इन दो उम्मीदवारों की मिलना तय है। बचे हुए 49 वोट निर्दलीय उम्मीदवार विनोद गोटिया को जाने थे, लेकिन विधायक राजेंद्र दादू की दुृर्धटना में मृत्यू होने से तथा राजेद्र मांझी पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद दो वोट कम हो गए हैं। कांग्रेस के पास कुल 57 वोट हैं बसपा के चार विधायकों के समर्थन के बाद माना जा रहा है कि कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तन्खा की जीत तय है। कांग्रेस के सत्यदेव कटारे ने डाक मतपत्र द्वारा वोट दिया। जेल में बंद कांग्रेस विधायक रमेश पटेल को भी जमानत मिल गई और उन्होंने भी वोट किया। शाम 5 बजे से मतगणना शुरु होगी तथा 6 बजे परिणाम घोषित किये जाएेंगे

वोटिंग के दौरान चर्चारत चारों प्रत्याशी एमजे अकबर, अनिल दवे, विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

वोटिंग के दौरान चर्चारत चारों प्रत्याशी एमजे अकबर, अनिल दवे, विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

वोटिंग के दौरान चर्चारत चारों प्रत्याशी एमजे अकबर, अनिल दवे, विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

वोटिंग के दौरान चर्चारत चारों प्रत्याशी एमजे अकबर, अनिल दवे, विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

वोटिंग के लिये लगी विधायकों की लाईन

वोटिंग के लिये लगी विधायकों की लाईन

बस से एकसाथ पहुंचे कांग्रेस विधायक

बस से एकसाथ पहुंचे कांग्रेस विधायक

वोट देने जाते सीएम शिवराज सिंह चौहान

वोट देने जाते सीएम शिवराज सिंह चौहान

विधानसभा में चुनाव के दौरान उपस्थित कांग्रेस के वरिष्ठ नेतागण सुरेश पचौरी, सुशील शिंदे, कमल नाथ, दिग्विजय सिंह, अरुण यादव तथा अन्य़

विधानसभा में चुनाव के दौरान उपस्थित कांग्रेस के वरिष्ठ नेतागण सुरेश पचौरी, सुशील शिंदे, कमल नाथ, दिग्विजय सिंह, अरुण यादव तथा अन्य़

चर्चारत प्रत्याशी विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

चर्चारत प्रत्याशी विनोद गोटिया और विवेक तन्खा

बसपा के विधायकों को गेट पर लेने पहुंचे विवेक तन्खा

बसपा के विधायकों को गेट पर लेने पहुंचे विवेक तन्खा

बसपा के विधायकों को साथ कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव तथा अन्य

बसपा के विधायकों को साथ कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव तथा अन्य

चर्चा के दौरान ठहाके लगाते कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव और गृहमंत्री बाबूलाल गौर

चर्चा के दौरान ठहाके लगाते कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव और गृहमंत्री बाबूलाल गौर

जेल से जमानत पर छूटकर आए कांग्रेस विधायक रमेश पटेल कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तन्खा से मिलते हुए

जेल से जमानत पर छूटकर आए कांग्रेस विधायक रमेश पटेल कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तन्खा से मिलते हुए

अनूठे अंदाज में पहुंचें मंत्री पारस जैन

अनूठे अंदाज में पहुंचें मंत्री पारस जैन

कांग्रेस के बीमार विधायक गोवर्धन उपाध्याय व्हील चेयर से पहुंचे

कांग्रेस के बीमार विधायक गोवर्धन उपाध्याय व्हील चेयर से पहुंचे

भाजपा विधायक रमाकांत तिवारी व्हील चेयर पर आए

भाजपा विधायक रमाकांत तिवारी व्हील चेयर पर आए

निर्दलीय प्रत्याशी विनोद गोटिया से गले मिलते निर्दलीय विधायक मुनमुन यादव

निर्दलीय प्रत्याशी विनोद गोटिया से गले मिलते निर्दलीय विधायक मुनमुन यादव

Bhopal 08 June 2016

Photo Story

टूटी स्कूटर में बनाया घरोंदा फिर टूट गया।
देेवेंद्र दुबे-तेज गर्मी में जहां इंसान परेशान हैं वहीं जंगलों में पेड़ों के पर्णविहीन होने से पक्षी भी अपना घरोंदा बनाने के लिये भटक रहे हैं। बुधवार को कलियासोत डेम के किनारे राबिन पक्षी का एक जोड़ा, जो अपने घरोंदे के लिये सुरक्षित स्थान ढूढ रहा था, अचानक उसे किनारे पर खड़ी एक खस्ताहाल स्कूटर मिल गई। यह स्कूटर एक मछली पकड़ने वाला वहां खड़ी कर गया था। इस स्कूटर में स्पीडोमीटर और इंडीकेटर दोनों ही निकले हुए थे। मादा राबिन ने स्पीडो मीटर वाले खाली स्थान में घास इकट्ठी करना शुरु कर दी वहीं नर राबिन इंडिकेटर के गड्ढे में अपना घरोंदा बनाने लगा। यह मेहनत थोड़ी देर बाद व्यर्थ हो गई जब स्कूटर का मालिक अपनी स्कूटर उठा कर चला गया। इसी घटना को दर्शाती यह फोटो स्टोरी

भटकती राबिन को मिली स्कूटर

भटकती राबिन को मिली स्कूटर

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

स्पीडोमीटर के खाली स्थान में तिनके भरती मादा राबिन।

इंडीकेटर निकलने से बने खाली स्थान में तिनके भरता नर राबिन

इंडीकेटर निकलने से बने खाली स्थान में तिनके भरता नर राबिन

इंडीकेटर निकलने से बने खाली स्थान में तिनके भरता नर राबिन

इंडीकेटर निकलने से बने खाली स्थान में तिनके भरता नर राबिन

Bhopal, 05 June 2016(World Environment Day)

कुछ सिखाते भी हैं ये पेड़
आज विश्व पर्यावरण दिवस पर आपको राजधानी के कुछ एेसे पेड़ो से परिचित करवा रहे है, जो आपको जीवन में कुछ मूल्य भी सिखाते हैं।

होटल पलाश के पिछली ओर लगा यह पीपल का पेड़ आसपास बनी कांक्रीट की दीवारों पर ही अपनी जड़ें जमाकर बड़ गया। यह बताता है कि साहसी विपरीत परिस्थितियों में भी अपने आगे बड़ने का रास्ता खोज ही लेते हैं।

होटल पलाश के पिछली ओर लगा यह पीपल का पेड़ आसपास बनी कांक्रीट की दीवारों पर ही अपनी जड़ें जमाकर बड़ गया। यह बताता है कि साहसी विपरीत परिस्थितियों में भी अपने आगे बड़ने का रास्ता खोज ही लेते हैं।

कलियासोत नदी के बीचों बीच एक टीले पर एक जड़ के सहारे बरसों से लटका यह पेड़ नदी में आई बाढ़ को कई बार झेल कर भी वहीं अटल है। जो यह सिखाता हुआ लगता है कि चाहे आसपास की मिट्टी भी साथ छोड़ दे धेर्यवान हर परिस्थित में अटल और स्थिर रहता है।

कलियासोत नदी के बीचों बीच एक टीले पर एक जड़ के सहारे बरसों से लटका यह पेड़ नदी में आई बाढ़ को कई बार झेल कर भी वहीं अटल है। जो यह सिखाता हुआ लगता है कि चाहे आसपास की मिट्टी भी साथ छोड़ दे धेर्यवान हर परिस्थित में अटल और स्थिर रहता है।

टीटीनगर दशहरा मैदान के समीप संतोषी माता मंदिर में 17 साल पहले एक छोटे से चौबारे में लगाए गए पीपल और बरगद के ये वृक्ष छोटी सी जगह में भी फल फूल रहे हैं। इन्हें देखकर सीखा जा सकता है कि प्रेम और आपसी सामंजस्य से कम सुविधाओं में भी साथ साथ विकास किया जा सकता है।

टीटीनगर दशहरा मैदान के समीप संतोषी माता मंदिर में 17 साल पहले एक छोटे से चौबारे में लगाए गए पीपल और बरगद के ये वृक्ष छोटी सी जगह में भी फल फूल रहे हैं। इन्हें देखकर सीखा जा सकता है कि प्रेम और आपसी सामंजस्य से कम सुविधाओं में भी साथ साथ विकास किया जा सकता है।

कमला पार्क में लगा ये विशाल वृक्ष हजारों चमगादड़ों को आश्रय देता है। इसे देखकर लगता है मानो काले फलों से भरा हुआ है। इससे हम सीख सकते हैं कि सिर्फ बड़ा होना ही जरुरी नहीं सहृदय लोग, किसी को उसकी जाति या रुप देखकर आश्रय नहीं देते।

कमला पार्क में लगा ये विशाल वृक्ष हजारों चमगादड़ों को आश्रय देता है। इसे देखकर लगता है मानो काले फलों से भरा हुआ है। इससे हम सीख सकते हैं कि सिर्फ बड़ा होना ही जरुरी नहीं सहृदय लोग, किसी को उसकी जाति या रुप देखकर आश्रय नहीं देते।

Bhopal, 01 June 2016

आज सप्लाई नहीं, कल तक ही मिल पाएगा पानी
भोपाल(तुसं)। मंगलवार की सुबह एकांत पार्क के करीब स्थित कोलार की फीडर पाईप लाईन फट जाने से आज कई क्षेत्रों में जलसंकट रहा। इस पाईप लाईन के फटने से लगभग 30 लाख गैलन पानी बह गया। लोगों ने टेंकरों और कोलार पाईप लाईन के वाल्व से बह रहे पानी से अपनी पूर्ति की। नगर निगम अधिकारियों का कहना है कि आज दिनभर सुधार कार्य चलेगा कल तक लाईन के ठीक होने की संभावना है। इस दौरान नगर निगम ने प्रभावित क्षेत्रों में टेंकर से सप्लाई जारी रखी।

शाहपुरा के निकट नाले के समीप बहती पाईप लाईऩ से पानी भरते लोग।

शाहपुरा के निकट नाले के समीप बहती पाईप लाईऩ से पानी भरते लोग।

कोलार रोड पर पहले से जलसंकट से जूझ रहे लोगों को भी आज पाईप लाईन के वाल्व पर धीमे प्रेशर की वजह से धूप में लंबा इंतजार करना पड़ा।

कोलार रोड पर पहले से जलसंकट से जूझ रहे लोगों को भी आज पाईप लाईन के वाल्व पर धीमे प्रेशर की वजह से धूप में लंबा इंतजार करना पड़ा।

कई स्थानों पर टेंकरों से हुई जलापूर्ति

कई स्थानों पर टेंकरों से हुई जलापूर्ति

Bhopal 30 May 2016

एमजे अकबर और अनिल माधव दवे मंगलवार को भरेंगे नामांकन।
एमजे अकबर और अनिल माधव दवे मंगलवार को भरेंगे नामांकन।

Anil Madhav Dave & M J Akbar

Anil Madhav Dave & M J Akbar

भोपाल(तुसं)। मप्र भाजपा की और से राज्यसभा के लिये एक बार फिर से अनिल माधव दवे को चुना गया है। दूसरे प्रतिभागी के रुप में एमजे अकबर को चुना गया है। एमजे अकबर वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। वे कई राष्ट्रीय अखबारों में महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं। वे इससे पहले झारखंड से राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। उनके द्वारा लिखी गई पुस्तकों में प्रमुख हैं Nehru: the Making of India (1990),Riot After Riot (1991), Kashmir: Behind the Vale (1991),India: The Siege within – Challenges to a Nation’s Unity (1996), The Shade of Swords: Jihad and the Conflict between Islam and Christianity (2003), Byline (2004), Blood Brothers – A Family Saga (2006), Have Pen, Will Travel (2010), Tinderbox: The Past and Future of Pakistan (2012)
A Mirror to Power: The Politics of a Fractured Decade, HarperCollins India, 2015.
अनिल माधव दवे प्रदेश भाजपा के थिंकटेंक और पर्यावरणविद के रुप में जाने जाते हैं। वे विचार महाकुंभ और विश्व हिंदी सम्मेलन जैसे भव्य कार्यक्रमों को संचालित कर चुके हैं। वर्तमान में भी वे राज्य सभा सांसद हैं।

Bhopal 28 May 2016

Star or planet (तारा या ग्रह) On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite. 28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Star or planet (तारा या ग्रह)
On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite.
28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Star or planet (तारा या ग्रह) On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite. 28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Star or planet (तारा या ग्रह)
On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite.
28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Star or planet (तारा या ग्रह) On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite. 28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Star or planet (तारा या ग्रह)
On the midnight of May 28th Around 00:40 to 01:15 minute I clicked some photos of a glowing star. These amazing image captured by my camera. This is true or illusion i cant understand, but these are amazing. These images looks like fire ball as STAR, but the texture is looks like planet or their setellite.
28 मई की मध्यरात्रि लगभग 00.40 से 01.15 मिनिट के दौरान मैने एक चमकते तारे के कुछ फोटो क्लिक किये। इस दौरान मेरे कैमरे ने इस अदभुत छवि को पकड़ा। यह सत्य है या भ्रम यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। लेकिन ये अदभुत है। इसके चारों ओर से आग सी निकल रही मानों कोई तारा हो लेकिन इसकी बनावट एक ग्रह या उपग्रह की तरह दिखाई दे रही है।

Bhopal 22 May 2016

लगभग एक करोढ़ श्रद्धालुओं ने किया अंतिम शाही स्नान
उज्जैन(तुसं)।वैशाख पूर्णिमा पर उज्जैन सिंहस्थ महाकुंभ में आज मोक्षदायिनी क्षिप्रा नदी में 13 अखाड़ों का शाही स्नान सम्पन्न हुआ। सदी के दूसरे सिंहस्थ के तीसरे व अंतिम शाही स्नान के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा।लगभग एक करोढ़ श्रद्धालुओं ने इस अंतिम शाही स्नान में हिस्सा लेकर क्षिप्रा में डुबकी लगाई। शाही स्नान में सर्व प्रथम श्री पंचदशनाम जूना अखाड़े के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर श्री अवधेशानंद जी के नेतृत्व में हजारों नागा साधुओं ने क्षिप्रा में आस्था और विश्वास की डुबकियाँ लगाई। जैसे ही सुबह 3 बजे का समय हुआ नागा साधुओं का दल तेजी से क्षिप्रा घाट पर आया और हर-हर महादेव, जय महाकाल, क्षिप्रा मैया की जय हो आदि उदघोष के साथ पावन सलिला में स्नान किया। पंचदशनाम जूना अखाड़े के साथ-साथ आव्हान और अग्नि तथा निरंजनी एवं आनंद अखाड़ों ने भी स्नान किया। इसके बाद महानिर्वाणी, पंच अटल अखाड़ों के साधु सन्यासियों का स्नान हुआ।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आस्था और अध्यात्म के महाकुम्भ सिंहस्थ 2016 के सानंद संपन्न होने एवं अभूतपूर्व रूप से इसे सफल बनाने के लिए करोड़ों श्रद्धालु, संत समुदाय, महामंडलेश्वरों, अखाड़ा प्रमुखों, मुनियों, अखाड़ा परिषद और सभी धर्मों के गुरुओं को सहयोग, समर्थन, मार्गदर्शन और भागीदारी के लिए सादर नमन प्रेषित करते हुए उन्हें अन्तःकरण से धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि सोचता हूँ यह सब कैसे संभव हो गया। लगभग 5 लाख जनसंख्‍या वाले इस छोटे से नगर में 8 करोड़ से अधिक श्रद्धालु और साधु-संत जिस तरह सुविधापूर्वक धर्मलाभ ले सके, उससे यह एक बार फिर सिद्ध हो जाता है कि उज्जैन के कंकर-कंकर में शंकर का निवास है।

नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

सुबह तीन बजे बाबा महाकाल के जयघोष लगाते हुए पहुंचा पहला अखाड़ा। इसके बाद नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

सुबह तीन बजे बाबा महाकाल के जयघोष लगाते हुए पहुंचा पहला अखाड़ा। इसके बाद नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

बाबा महाकाल के जयघोष लगाते हुए एक नागा साधू

सुबह तीन बजे बाबा महाकाल के जयघोष लगाते हुए पहुंचा पहला अखाड़ा। इसके बाद नागा साधुओं और अन्य संतों ने किया शाही स्नान।

भभूति रमाए नागा साधू

भभूति रमाए नागा साधू

भभूति रमाए नागा साधू

स्नान के बाद चिलम सुलगाते नागा साधू

स्नान के बाद चिलम सुलगाते नागा साधू

स्नान के बाद अनूठे अंदाज में शिवलिंग पर जल चड़ाता एक नागा साधू

स्नान के बाद अनूठे अंदाज में शिवलिंग पर जल चड़ाता एक नागा साधू

मोक्षदायिनी क्षिप्रा में छलांग लगाते नागा।

मोक्षदायिनी क्षिप्रा में छलांग लगाते नागा।

मोक्षदायिनी क्षिप्रा में छलांग लगाते नागा।

मोक्षदायिनी क्षिप्रा में छलांग लगाते नागा।

विशाल जटाओं को लहराते एक नागा साधू

विशाल जटाओं को लहराते एक नागा साधू

शाही स्नान का नाईट व्यू।

शाही स्नान का नाईट व्यू।

शाही स्नान का एरियल व्यू। फोटो सौजन्य- मप्र जनसंपर्क

शाही स्नान का एरियल व्यू। फोटो सौजन्य- मप्र जनसंपर्क

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह ने सपत्नीक किया शाही स्नान।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह ने सपत्नीक किया शाही स्नान।

Bhopal 19 May 2016

तेज गर्मी से झुलस कर मर रहीं सैकड़ों चमगादड़े।
देवेंद्र दुबे, भोपाल। तेज गर्मी से इंसान ही नहीं अन्य प्राणी भी परेशान हैं। कमला पार्क और शीतलदास की बगिया क्षेत्र में जहां हजारों की संख्या में चमगादड़े पेड़ पर लटकी दिखाई देती हैं, इस भीषण गर्मी में पेड़ से नीचे गिर रही हैं। गर्मी से झुलसी ये चमगादड़े किसी वाहन से दबकर या पानी न मिलने से मर जाती हैं। आज भोपाल का ताममान 45.5 डिग्री रहा। आम दिनों में ये चमगादड़े पेड़ पर उल्टी लटकी रहती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि पारा 44-45 डिग्री पहुंचने पर ये चमगादड़े गर्मी सहन नहीं कर पातीं। चूंकि चमगादड़ पक्षी नहीं बल्कि हमारी तरह स्तनधारी प्राणी है। इसलिये इसके शरीर पर पंखों का मोटा कवर नहीं होता। विशेष रुप से अधिक आयु की कमजोर चमगादड़े और अपने बच्चों को अपने से चिपकाकर दूध पिलाने वाली चमगादड़े इस गर्मी का शिकार हो रही हैं। रोजाना बड़ी संख्या में इन चमगादड़ों के शव देखे जा सकते हैं। इस गर्मी के बाद बची हुई चमगादड़े बारिश से पूर्व आसपास के पहाड़ी क्षेत्रों में पलायन कर जाती हैं।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

कमला पार्क क्षेत्र में तेज गर्मी से झुलस कर पेड़ से नीचे गिर रही चमगादड़े।

Bhopal 18 May 2016

4 बजे उठना, दोपहर 12 से पहले खाना, 9 बजे सो जाना
नन्हे श्रामनेर(बौद्ध भिक्षु) अब जिएेंगे अनुशाषित जीवन
भोपाल(तुसं)– बुधवार को बौद्ध प्रशिक्षण केंद्र, बुद्ध भूमि, चूना भट्टी में अलग अलग राज्यों से आए सात बच्चों ने खुद को बौद्ध धर्म के प्रति समर्पित करने के लिये श्रामनेर दीक्षा(भिक्षु बनने का पहला चरण) ली। ये बच्चे त्रिपुरा, हिमाचल, अरुणाचल, मिजोरम, भोपाल और मुंगावली के हैं। सबसे पहले इन बच्चों का मुंडन किया गया। इसके बाद इन्होंने अपने गुरु भन्ते शाक्यपुत्र सागर से दीक्षा देने की याचना की। फिर गुरुजी ने इन्हें दसशील साधना का ज्ञान देकर केश, दंत, शरीर इत्यादि की मोहमाया से दूर होकर, अनुशाषित जीवन जीने, प्रकृति और प्राणीमात्र के प्रति प्रेमभाव रखकर साधना करने की दीक्षा दी। अब ये बच्चे कुछ साल अनुशाषित जीवन जीकर साधना करेंंगे। सुबह चार बजे उठेंगे। दोपहर 12 बजे से पहले खाना खाएेंगे। रात को 9 बजे साधना कर सो जाएेंगे। दिनभर साधना करेंगे, धर्मग्रथों का अध्ययन करेंगे। साफसफाई करेंगे, पेड़ों को पानी देेंगे। इस तरह तपस्वी का जीवन जिएेंगे।

सिर के बाल उतारकर त्याग की शिक्षा देते भन्ते शाक्यपुत्र सागर

सिर के बाल उतारकर त्याग की शिक्षा देते भन्ते शाक्यपुत्र सागर

भन्ते शाक्यपुत्र सागर से दीक्षा की याचना करते नए श्रामनेर

भन्ते शाक्यपुत्र सागर से दीक्षा की याचना करते नए श्रामनेर

भगवान बुद्ध की प्रार्थना करते श्रामनेर

भगवान बुद्ध की प्रार्थना करते श्रामनेर

नए भोपाल से इंदौर रोड पहुंचने का शार्टकट
27 करोढ़ की लागत से 13.5 किमी की सबसे लंबी सीसी सड़क का भूमिपूजन
भोपाल(तुसं)केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नीलबड़ के समीप मुगालिया छाप से खजूरी को जोड़ने वाली 13.5 किमी लंबी सीसी सड़क का भूमिपूजन किया। श्री सिंह ने बताया कि यह सबसे लंबी सीसी सड़क है जो नए भोपाल को इंदौर से जोड़ेगी। इस सड़क के निर्माण से मुगालिया छाप और उसके आसपास के दो लाख लोग लाभान्वित होंगे साथ ही नए भोपालवासियों के लिये यह इंदौर पहुंचने का सबसे छोटा मार्ग होगा। 27 करोड़ की लागत से बनने वाली यह भोपाल की सबसे लंबी सीसी रोड हैं। उन्होंने कहा कि जनता के प्रति जिस समर्पित भाव को देखते हुए संगठन ने रामेश्वर शर्मा को चुना था। आज उनके क्षेत्र हो रहे कामों को देखकर उनका समर्पण नजर आ रहा है। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सहयोग से ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में बीमारू राज्य कहलाने वाला मध्यप्रदेश आज विकसित प्रदेशो की श्रेणी में गिना जाने लगा है। लोक निर्माण विभाग के मंत्री सरताज सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि आने वाले 2 वर्षो में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 10 हज़ार करोड़ से हर गाँव को मुख्य मार्ग से जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि काम करने के लिये सबसे पहले नीति सही होनी चाहिए, फिर नेता सही होना चाहिए और फिर नेता की नीयत सही होना चाहिए। मप्र में यही सबकुछ है इसलिये चौतरफा विकास हो रहा है और इसी का परिणाम है की आज हुजूर विधानसभा में 160 करोड़ से सडको का विस्तार किया जा रहा है। भोपाल के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने संबोधन में कहा की भारत में ऐसे अनेक राज्य है जहाँ मुलभुत सुविधाओ के आभाव में लोग गाँव में रहना पसंद नहीं कर रहे ! लोग गाँव से शहर की तरफ पलायन कर रहे है परन्तु मध्यप्रदेश में ऐसा नहीं है , मध्यप्रदेश के गाँवो में पेयजल ,अच्छी सड़के , निस्तार के लिए पानी ,24 घंटे बिजली प्रदाय की जा रही है जिससे आज हमारे गाँव किसी शहर से कम नहीं है यही कारण है की ग्रामीण जन यहाँ से पलायन नहीं कर रहे। उन्होंने मुगालिया छाप में सत्तर लाख रु की लागत से हाट बाजार बनाने की घोषणा भी की। भोपाल के सांसद आलोक संजर ने जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा की दो वर्ष पूर्व आज ही के दिन आप सबके आशीर्वाद से में लोकसभा में भोपाल वासियों की आवाज बना ! उन्होंने कहा की हुजूर विधानसभा के ऊर्जावान विधायक रामेश्वर शर्मा 44 डिग्री तापमान में भी जनता के साथ खड़े रहते है , यह एक अच्छे जनप्रतिनिधि की पहचान है। हूजूर के विधायक रामेश्वर शर्मा ने अपने भाषण में कहा की आगामी दो वर्ष में 800 करोड़ की लागत से सडको का जाल बिछाया जायेगा ! उन्होंने कहा की विधानसभा के एक गाँव में पेय जल , सड़क , नाली, विधायक खेल मैदान ,विधायक मंगल भवन , स्वास्थ्य केंद्र , आगनबाडी , की व्यवस्था करायी जा रही है। विकास में किसी भी प्रकार की रुकावट नहीं आने दी जाएगी।

मुगालिया छाप में सड़क का शिलान्यास करते केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, साथ में हैं मप्र शासन के मंत्रीद्वय सरताज सिंह और गोपाल भार्गव, सांसद भोपाल आलोक संजर तथा हुजूर विधानसभा के विधायक रामेश्वर शर्मा

मुगालिया छाप में सड़क का शिलान्यास करते केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, साथ में हैं मप्र शासन के मंत्रीद्वय सरताज सिंह और गोपाल भार्गव, सांसद भोपाल आलोक संजर तथा हुजूर विधानसभा के विधायक रामेश्वर शर्मा

कड़ी सुरक्षा और हाईटेक स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ साध्वी प्रज्ञा उज्जैन रवाना।
भोपाल(तुसं)-मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा कड़ी सुरक्षा के बीच अत्याधुनिक सरकारी एंबूलेंस में उज्जैन के लिये रवाना हुईं। 2008 में मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा को एनआईए ने क्लीन चिट दे दी है। कड़ी सुरक्षा के बीच साध्वी प्रज्ञा का भोपाल स्थित खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक अस्पताल में पिछले कुछ वर्षोंं से इलाज चल रहा है। वे ब्रेस्ट केंसर और रीड़ की हडडी के रोग से पीड़ित हैं। वे सोमवार सुबह 9 बजे से सिंहस्थ स्नान जाने की मांग को लेकर अनशन पर थीं। कोर्ट के आदेश के बाद शासन ने उन्हें इसकी अनुमति दे दी । बुधवार सुबह निकलने से पूर्व उनका बीपी लो हो गया जिसकी वजह से वे दोपहर 12 बजे तक निकल पाईं। इस दौरान साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि वे निर्दोष हैं, सत्यमेव जयते

क़ड़ी सुरक्षा के बीच उज्जैन के लिये रवाना होतीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

क़ड़ी सुरक्षा के बीच उज्जैन के लिये रवाना होतीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

क़ड़ी सुरक्षा के बीच उज्जैन के लिये रवाना होतीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

क़ड़ी सुरक्षा के बीच उज्जैन के लिये रवाना होतीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

Bhopal 17 May 2016

पूरे भोपाल को बनाएेंगे स्मार्ट- शिवराज सिंह चौहान
भोपाल(तुसं) मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ स्मार्ट सिटी के लिये प्रस्तावित स्थल नार्थ टी.टी.नगर का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के बाद निर्देश दिये कि यहाँ क्षेत्र आधारित स्मार्ट सिटी के लिये युद्ध स्तर पर तैयारियाँ शुरू करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज सुबह नार्थ टी.टी.नगर में स्मार्ट सिटी के प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि पूरे भोपाल शहर को स्मार्ट बनाने वाली व्यवस्थाएँ की जायेंगी। भोपाल के प्राकृतिक सौंदर्य, हरियाली और खुले क्षेत्र की विशिष्टता को बरकरार रखा जायेगा। नार्थ टी.टी.नगर में पहले से खाली पड़ी भूमि पर क्षेत्र आधारित स्मार्ट सिटी बनाई जायेगी। स्मार्ट सिटी के लिये पूर्व में प्रस्तावित शिवाजी नगर की हरियाली और जन-भावनाओं का आदर करते हुए उसके स्थान पर नार्थ टी.टी.नगर में स्मार्ट सिटी बनाने का फैसला लिया गया है। नार्थ टी.टी.नगर में 280 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध है। निरीक्षण के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता, महापौर श्री आलोक शर्मा, सांसद श्री आलोक संजर, नगर निगम सभापति डॉ. सुरजीत सिंह चौहान, कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े, नगर निगम आयुक्त सुश्री छवि भारद्वाज भी उपस्थित थीं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी के लिये प्रस्तावित स्थल नार्थ टी.टी.नगर का निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी के लिये प्रस्तावित स्थल नार्थ टी.टी.नगर का निरीक्षण किया।

अपने रोल माडल पदमश्री वंदना लूखरा से सार्टिफिकेट पाकर अभिभूत हुए युवा
भोपाल(तुसं)। टीटीनगर स्टेडियम में जब युवाओं ने व्हीएलसीसी की संस्थापक और पदमश्री वंदना लूथरा को पाया तो उनकी खुशी का ठिकाना नही रहा। मौका था खेल एवं युवक कल्याण विभाग द्वारा संचालित डी.एस.वॉय.डब्ल्यू व्ही.एल.सी.सी. अकादमी के दीक्षांत समारोह का। प्रदेश की खेल और युवा कल्याण मंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया ने इस अवसर पर कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई कि युवाओं को व्ही.एल.सी.सी. अकादमी के माध्यम से न केवल रोजगार के अच्छे अवसर मिल रहे हैं बल्कि वे अपने अलावा अन्य युवाओं के बेहतर भविष्य का निर्माण भी कर रहे हैं। उन्होने कहा कि शीघ्र ही ग्वालियर में भी व्ही.एल.सी.सी. अकादमी प्रारंभ की जायेगी। समारोह में पद्मश्री श्रीमती वंदना लूथरा विशेष अतिथि के रूप में मौजूद थी। इससे पूर्व अतिथियों द्वारा व्ही.एल.सी.सी. अकादमी के नवनिर्मित स्किन हेयर मेकअप लैब सहित अन्य कक्षों का लोकार्पण किया गया। दीक्षांत समारोह में गत वर्ष कॉस्मेटोलॉजी और न्यूट्रीशियन का डिप्लोमा करने वाले इंदौर और भोपाल व्ही.एल.सी.सी. केन्द्रों के 170 युवाओं को प्रमाण-पत्र प्रदान किये गए। समारोह में श्रीमती वन्दना लूथरा नें बताया कि देश के 52 शहरों में 65 व्ही.एल.सी.सी. केन्द्र संचालित किए जा रहे है। उन्होने कहा कि व्ही.एल.सी.सी. केन्द्र इंदौर और भोपाल के माध्यम से युवाओं को रोजगार के अवसर दिलाने के लिए खेल और युवा कल्याण विभाग के समन्वित सहयोग से प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए बताया कि वे स्वयं एक साधारण परिवार में पली-बढ़ी और कुछ नया करने के जुनून एवं सकारात्मक सोच के चलते आज इस मुकाम पर हैं। उन्होंने प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में खेल मंत्री के प्रयासों की सराहना की।
संचालक खेल और युवा कल्याण श्री उपेन्द्र जैन ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि युवाओं को उनकी रूचि के अनुसार प्रशिक्षण और रोजगार दिलाने में व्ही.एल.सी.सी. अकादमी की सार्थकता सिद्ध हो रहीं है। उन्होने कहा कि साधारण परिवार के युवाओं को उनके कैरियर निर्माण में सहायक बन रहीं व्ही.एल.सी.सी. अकादमी की स्थापना में खेलमंत्री के प्रयासों का सराहनीय योगदान रहा है।
कार्यक्रम में व्ही.एल.सी.सी. अकादमी से डिप्लोमा प्राप्त कर बेहतर कैरियर हासिल करने वाले युवाओं ने अपने अनुभव शेयर किये। युवाओं को खेलमंत्री द्वारा स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। अपना अनुभव साझा करते हुये इटारसी में स्वयं का पार्लर संचालित कर रही मंजु सोनी ने बताया कि व्ही.एल.सी.सी. अकादमी से मिले सहयोग से मैं आज जिस मुकाम पर पहुंची हूँ, उसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी। आज मेरे पार्लर से चार युवाओं को भी रोजगार मिल रहा है। इन्दौर की मिताली नामदेव और भोपाल व्ही.एल.सी.सी. में डायटीशियन सरिता साहू ने बताया कि अकादमी के माध्यम से मेरा सपना साकार हुआ है।

समारोह में युवाओं को प्रमाण पत्र देते खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे, पदमश्री वंदना लूथरा और संचालक खेल एवं युवा कल्याण उपेंद्र जैन

समारोह में युवाओं को प्रमाण पत्र देते खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे, पदमश्री वंदना लूथरा और संचालक खेल एवं युवा कल्याण उपेंद्र जैन

Bhopal 15 May 2016

मानसून हुआ लेट, अब पानी खर्च करें जरा ध्यान से

भोपाल(तुसं)- तेज गर्मी और जलसंकट झेल रहे भोपाल वासियों को अभी राहत नहीं मिलेगी। इस बार मानसून सात दिन विलंब से आ सकता है। अतः ज्यादा से ज्यादा पानी बचाने की कोशिश करें।

कोलार डेम में बहुत नीचे आ गया है जलस्तर।

कोलार डेम में बहुत नीचे आ गया है जलस्तर।

कोलार रोड पर जलसंकट झेलते लोग।

कोलार रोड पर जलसंकट झेलते लोग।

Bhopal 13 May 2016

पारा पहुंचा 43 डिग्री पर
भोपाल(तुसं) राजधानी भोपाल में शुक्रवार को तेज गर्मी रही। पारा 43 डिग्री पर पहुंच गया। दिन में हल्के बादलों ने आसमान में झलक दिखाई, लेकिन सूरज की तेजी को कम न कर सके। दिन भर गर्म हवा के थपेड़ों ने राजधानीवासियों को परेशान किया। प्रदेश में अभी हर तरफ तेज गर्मी पड़ रही है। खजुराहो में आज तापमान 44.4 डिग्री रहा।

तेज गर्मी में बड़ी झील में स्नान का मजा लेते बच्चे।

तेज गर्मी में बड़ी झील में स्नान का मजा लेते बच्चे।

तेज गर्मी से परेशान मछुआरे
तेज गर्मी ने मछुआरों को परेशान कर रखा है। इसकी वजह से उनके दिन खाली हाथ गुजर जाते हैं। तेज गर्मी की वजह से मछलियां तालाब की गहराई में उतर जाती हैं और मछुआरों के जाल खाली रह जाते हैं। रात में ठंडक होने पर मछलियां हाथ लगती हैं। इसलिये ये मछुआरे रात भर जाल डालते रहते हैं।

तेज गर्मी से परेशान एक मछुआरा झील किनारे अपनी नाव की छांव में आराम करता हुआ।

तेज गर्मी से परेशान एक मछुआरा झील किनारे अपनी नाव की छांव में आराम करता हुआ।

Bhopal 12 May 2016

हायर सेकेंडरी 2016 का परिणाम घोषित
सरकारी स्कूल, प्राईवेट से ज्यादा सफल।

रिजल्ट का विमोचन करते स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन और राज्य मंत्री दीपक जोशी तथा अन्य अधिकारीगण।

रिजल्ट का विमोचन करते स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन और राज्य मंत्री दीपक जोशी तथा अन्य अधिकारीगण।

सफलता का इजहार करते बच्चे।

सफलता का इजहार करते बच्चे।

भोपाल(तुसं)गुरुवार को हायर सेकेंड्री का रिजल्ट घोषित हुआ जिसमें शासकीय स्कूल का सफलता प्रतिशत, अशासकीय स्कूलों से ज्यादा रहा। सरकारी स्कूलों के कुल 73 .94 प्रतिशत छात्र वहीं अशासकीय स्कूलों का प्रतिशत 63.66 रहा।
माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र ने आज हायर सेकेंड्री(12th) 2016 का रिजल्ट घोषित किया।
स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन और राज्य मंत्री दीपक जोशी ने माध्यमिक शिक्षा मंडल कार्यालय में दोपहर चार बजे परिणाम घोषित किये। इस वर्ष सफल नियमित परीक्षार्थियों का प्रतिशत 69.33 रहा जबकि स्वाध्यायी परीक्षार्थी का परिणाम 31.27 % रहा। वर्ष 2015 की तुलना में यह 3.39 प्रतिशत ज्यादा रहा। नियमित विद्यार्थियों नें सबसे सफल मंदसौर जिला रहा। जहां सफलता का प्रतिशत 85.63 रहा। वहीं सबसे खराब प्रदर्शन भिंड जिले का है जहां सफलता प्रतिशत मात्र 13 रहा।
मण्डल ने विषयवार प्रावीण्य सूची भी जारी की।
जिसमें प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र निम्न हैं।
कला समूह- अंकित वर्मा, शा. रघुराज उमा विद्यालय शहडोल
मेथ्स साईंस- सम्यक जैन, सरस्वती उमा विद्यालय , मंडला
कामर्स- चिरायु विजयवर्गीय, रोजमेरी स्कूल, सर्वधर्म कालोनी, भोपाल
बायोलाजी- अर्पित अग्रवाल, मुरैना
एग्रीकल्चर- प्रद्युमन सिंह यादव, शा. उत्कृष्ठ उमा विद्यालय, शिवपुरी
फाईन आर्ट- गौरी शर्मा, शा. कन्या उमा विद्यालय, कैलारस मुरैना
मूक बधिर श्रेणी में इंदौर की शिप्रा रानी जायसवाल प्रथम स्थान पर रहीं।
शासकीय स्कूल का सफलता प्रतिशत, अशासकीय स्कूलों से ज्यादा रहा।
सरकारी स्कूलों के कुल 73 .94 प्रतिशत छात्र वहीं अशासकीय स्कूलों का प्रतिशत 63.66 रहा।
मां की मेहनत को बेटी ने किया सार्थक
सीहोर में शा.उत्कृष्ठ विद्यालय में पड़ने वाली कविता यादव आठ भाई बहनों में सबसे छोटी हैं।
पिता की मृत्यू के बाद इनकी मां ने घरों में काम करके इन्हें पड़ाया। कविता ने बायो साईंस में प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त किया।

अपनी मां के साथ खुशियां बांटती कविता यादव

अपनी मां के साथ खुशियां बांटती कविता यादव

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छात्र छात्राओं को बधाई दी।
उन्होंने अपेक्षित परिणाम ने ला पाने वाले बच्चों से अपील की कि वे स्वयं पर विश्वास रखें। मेहनत करें और फिर सफलता प्राप्त करें। कोई नकारात्मक कदम न उठाएें। परिजन अपने बच्चों का साथ दे और उनका आत्मविश्वास बढ़ाएें।

Ujjain 11 May 2016

समरसता के संदेश देने संतो के साथ लगाई डुबकी
उज्जैन(तुसं)। देश को समरसता का संदेश देने के उद्देश्य से सिंहस्थ में क्षिप्रा किनारे वाल्मिकी घाट पर आयोजित संत-समागम भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं भारतीय सनातन संस्कृति के प्रतिनिधि महान साधु-संतगण तथा जनप्रतिनिधिगणों की ने हिस्सा लिया। संत-समागम के बाद सभी अतिथियों ने पवित्र वाल्मीकि घाट पर अमृतमयी क्षिप्रा में सामूहिक रूप से स्नान किए।
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने कहा कि उज्जैयिनी नगरी अध्यात्म का केन्द्र है और सिंहस्थ के पुनीत अवसर पर महाकुंभ में तपस्यालीन साधु-संतों के दर्शन का लाभ पाकर मैं आज धन्य हुआ हूं। उन्होंने कहा कि ऐसे सफल आयोजन के लिए साधु-संतों की तपष्चर्या के प्रति मैं नतमस्तक हूं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रयास सराहनीय है, उनके नेतृत्व में मध्यप्रदेश अनवरत् प्रगति की दिशा में अग्रसर होगा।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा पवित्र नगरी उज्जैयिनी में समाज के सभी वर्गों के कल्याण के पुनीत उद्देश्य को लेकर यह संत-समागम आयोजित किया गया। उन्होंने कहा भारतीय संस्कृति विश्व कल्याण का उदघोष करती है। हमारी संस्कृति का “बसुधैव कुटुम्बकम” और “सर्वे भवन्तु सुखिना, सर्वे संतु निरामयरू” मूलमंत्र है। श्री चौहान ने कहा कि, भारत के कण-कण में भगवान है और सभी संप्रदायों व समाज के सभी वर्गों का कल्याण भारतीय संस्कृति में निहित है।
अमित शाह इस अवसर पर संतों का सम्मान किया। भानपुरा पीठ के शंकराचार्य स्वामी दिव्यानंद जी महाराज, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेन्द्रगिरी जी महाराज, हरिद्वार के स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी, जूना पीठाधीष्वर श्री अवधेशानंद जी महाराज, श्री चितानंद जी महाराज ऋषिकेश (उत्तराखंड), महामंडलेशवर श्री चित्तप्रकाशानंद जी महाराज (वृंदावन) उत्तर प्रदेश, वाल्मीकि समाज के बालयोगी श्री उमेशनाथ जी महाराज (उज्जैन), भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान तथा अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

वाल्मिकी घाट पर संतों संग स्नान करते भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

वाल्मिकी घाट पर संतों संग स्नान करते भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

वाल्मिकी घाट पर संतों संग स्नान करते भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

वाल्मिकी घाट पर संतों संग स्नान करते भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

संत समागम में संतो का आशीर्वाद लेते अमित शाह

संत समागम में संतो का आशीर्वाद लेते अमित शाह

संत समागम में हिस्सा लेते अमित शाह

संत समागम में हिस्सा लेते अमित शाह

Ujjain 9 may 2016

दूसरा शाही स्नान संपन्न। लाखों ने लगाई आस्था की डुबकी
धर्म एवं आस्था का समागम सिंहस्थ कुभ महापर्व का दूसरा शाही स्नान आज मोक्षदायिनी क्षिप्रा सलिला के रामघाट, दत्त अखाडा, सहित विभिन्न घाट में संपन्न हुआ। शाही स्नान में क्षिप्रा सलिला में डुबकी लगाने के लिए साधु-संत एवं महात्माओं की भीड़ उमड़ पड़ी। शाही स्नान के दौरान साधु-संत एव महात्माओं ने विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की और मोक्षदायिनी क्षिप्रा सलिला में जय-जयकार के नारे लगाते हुए धर्म एवं आस्था की डुबकी लगाई। इसके साथ ही शाही स्नान में लाखों श्रद्धालुओं ने भी डुबकी लगाकर पुण्य-लाभ प्राप्त किया।
सिंहस्थ में लगे शासकीय सेवकों को मिलेगा 5 हजार का सम्मान।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि एक सप्ताह में दो-दो प्राकृतिक आपदा से निपटने और शाही स्नान को सफल बनाने में शासकीय सेवकों ने जो एकजुटता, समर्पण और निष्ठा दिखाई है, वह सचमुच सम्मान के काबिल है। सिंहस्थ में जुटे सभी शासकीय सेवकों को 5-5 हजार रूपये की सम्मान निधि से नवाजा जायेगा। सभी विभाग के कर्मठ शासकीय सेवकों ने न सिर्फ अपनी जिम्मेदारी निभाई बल्कि 20-20 घण्टे भी सेवा करने का अदभुत साहस दिखाया। ऐसे शासकीय सेवकों को निश्चित ही सम्मानित किया जाना चाहिए।

दूसरे शाही स्नान में क्षिप्रा में डुबकी लगाते नागा साधू।

दूसरे शाही स्नान में क्षिप्रा में डुबकी लगाते नागा साधू।

दूसरा शाही स्नान आज
सोमवार को दूसरे शाही स्नान के अवसर पर अल सुबह जूना अखाड़ा के नागा साधुओं ने क्षिप्रा में पवित्र डुवकी लगाई। लगभग 13 अखाड़े इस स्नान में हिस्सा लेंगे। अखाड़ों के लिये दोपहर 12 बजे तक का समय नियत किया गया है। इसके बाद अन्य श्रद्धालु स्नान करेंगे। प्रशासन के अनुसार लगभग 25 लाख श्रद्धालु उज्जैन में इस शाही स्नान के लिये पहुंचे हैं। पुलिस के लगभग 25 हजार कर्मचारी अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में लगे हुए हैं।

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
डॊ. अनुपम कश्यपि ने बताया कि उज्जैन में शाम को बिजली के साथ तेज हवाएें चल सकती हैं। तेज हवाओं की औसत स्पीड 40 से 50 किमी प्रति घंटा हो सकती है। जो अधिकतम 65 से 70 किमी प्रति घंटा तक हो सकती हैं। एक टीवी चैनल से बात करते हुए उन्होंने बताया कि स्नान के लिये सुबह से दोपहर तक का समय उचित है। इसके बाद सुरक्षित स्थानों पर रुकें। गिरने पर नुकसान करने वाले मंडपों के नीचे न रुकें। बच्चों और वृद्धों का विशेष ध्यान रखें।

शाही स्नान की पूर्व संध्या पर उज्जैन में लगा श्रद्धालुओं का मेला। फोटो सौजन्य- जनसंपर्क, मप्र

शाही स्नान की पूर्व संध्या पर उज्जैन में लगा श्रद्धालुओं का मेला। फोटो सौजन्य- जनसंपर्क, मप्र

Bhopal 8 May 2016

मछुआरें हैं लेकिन मछली खाते नहीं, उन्हें खिलाते हैं बिस्किट
देवेंद्र दुबे, भोपाल। बोट क्लब पर आप इस युवक को रोज बतखों को गेंहूं खिलाते देख सकते हैं। ये एक मछुआरा है जिसका नाम है जीतेंद्र रायकवार। 25 वर्षीय यह युवक मछुआरा समाज से है जहां मछली पकड़ना और खाना आम बात है, लेकिन जीतू मछली नही पकड़ते, न खाते हैं ये मछलियों को खिलाते हैं वो भी बिस्किट। आठवी पास जीतू बचपन से ही पशु प्रेमी हैं। ये बोट क्लब पर प्राईवेट बोट चलाते हैं जो इनका मुख्य व्यवसाय है। इनकी सुबह पक्षियों के दाने पानी की व्यवस्था से शुरु होती है और ये सिलसिला दिनभर चलता रहता है। बतखों के लिये ये गेंहू खरीदकर लाते हैं। इनकी आवाज सुनकर सारी बतखें इनकी ओर दौड़ पड़ती हैं। इनका कहना है कि बतखों को गेंहू बहुत पसंद है। गेंहू के अलावा बाजरा भी लाते हैं जो ये पक्षियों को चुगाते हैं। इनके बिस्किट सभी पशु पक्षयों को बहुत पसंद हैं। बोट क्लब पर अलग अलग पेड़ों के नीचे उंचाई पर ये बिस्किट डालते हैं। जो गिलहरी, गौरैया बड़े मजे से खाती हैं। बड़़ी झील की मछलियों को इनके बिस्किट बहुत पसंद हैं जो ये दिन में कई बार उन्हें खिलाते हैं। कुत्तों के छोटे बच्चों के लिये भी ये बिस्किट और दूध का इंतजाम करते हैं। बोट क्लब पर जीतेंद्र ने पेड़ों पर मट्टी के सकोरे बांधे हैं जिसमें पक्षी पानी पीते हैं। पशु पक्षियों के अलावा ये चीटियों को शकर भी डालते हैं। जीतेंद्र ने बताया कि ये बचपन से इनका शौक है। यहां तक कि कहीं मरा हुआ पक्षी पाते हैं तो उसे मिट्टी में गडढा खोदकर गड़ा देते हैं। उन्होने कहा कि वे पूर्णतः शाकाहारी हैं। रोज 200 से 300 रु. कमाने वाले जीतेंद्र अपनी कमाई का एक बड़ा हिस्सा इस काम में खर्च करते हैं।

बतखों को गेंहू खिलाते जितेंद्र

बतखों को गेंहू खिलाते जितेंद्र

जितेंद्र के लगाए सकोरे में पानी पीती गिलहरी

जितेंद्र के लगाए सकोरे में पानी पीती गिलहरी

बिस्किट खातीं गौरैया

बिस्किट खातीं गौरैया

Bhopal 6 May 2016

भोपाल (तुसं) भोपाल में कुछ क्षेत्रों में शाम को फिर हुई बारिश। अचानक हुई बारिश से भीगे लोग। हालांकि ये बारिश कुछ मिनिटों के लिये ही हुई। उसके बाद मौसम सुहाना हो गया।

अचानक हुई बारिश से भीगे लोग।

अचानक हुई बारिश से भीगे लोग।

 

अस्पताल में घायलों से मिलते मुख्यमंत्री

अस्पताल में घायलों से मिलते मुख्यमंत्री. फोटो साभार- मप्र जनसंपर्क

राहत शिविर में जाकर सुबह सुबह लोगों को चाय वितरित करते मुख्यमंत्री फोटो साभार- मप्र जनसंपर्क

राहत शिविर में जाकर सुबह सुबह लोगों को चाय वितरित करते मुख्यमंत्री
फोटो साभार- मप्र जनसंपर्क

Bhopal 5 May 2016

जोरदार बारिश में भीगा भोपाल
भोपाल(तुसं)। गुरुवार शाम को तेज हवाओं और बिजली के साथ बारिश हुई।
दोपहर बाद बादल छाने लगे। शाम लगभग 7 बजे तेज बारिश हुई। कई क्षेत्रों में यातायात अस्तव्यस्त हो गया। अनेक क्षेत्रों में बिजली गुल हो गई जो देर रात तक ठीक हो पाई।
इस बारिश ने लोगों को तेज गर्मी से राहत दी। आज न्यूनतम तापमान गिर कर 23.8 तक आ गया। जो देर रात और गिरने की संभावना है।

तेज बारिश में भीगे लोग।

तेज बारिश में भीगे लोग।

बारिश में भीगा रोशनपुरा चौराहा और कड़कड़ाती बिजली।

बारिश में भीगा रोशनपुरा चौराहा और कड़कड़ाती बिजली।

मां की गोद में वापस लौटा अपहृत मोहित
विदेश जाने के लिये किया था अपहरण
भोपाल(तुसं)। सोमवार को राजधानी के समीप बर्रई गांव से अपहृत हुएे मोहित को भोपाल पुलिस ने 36 घंटे के सर्च आपरेशन के बाद अपरहणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया।
गुरुवार सुबह मोहित अपने परिवार के पास पहुंच गया।

मोहित को दुलारती मां कोमल मीणा

मोहित को दुलारती मां कोमल मीणा

ज्ञात हो कि सोमवार 2 मई को बर्रई गांव के धनाडय अवधनारायण मीणा के पोते मोहित का अपहरण घर के पास से हो गया था। मोहित ने बताया कि जब वो दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था तो एक अनजान व्यक्ति ने उसे यह कहकर अपनी स्पलेंडर मोटरसाईकिल पर बिठा लिया कि अपना खेत दिखा दो। इसके बाद बायपास पहुंचने पर एक व्यकित और बैठ गया। वे मोहित को नरसिंहगढ़ रोड पर स्थित कुरावर ले गए। वहां एक किराए के मकान में उसे बंधक बनाकर रखा। मोहित ने बताया कि वे उसे खाने में सिर्फ समोसे देते थे लेकिन अपहरणकर्ताओं ने उसके साथ कोई मारपीट नहीं की।
घटना की जानकारी देते हुए आईजी योगेश चौधरी ने बताया कि अपहरणकर्ताओं की संख्या चार है और चारों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस अपहरण कांड का मास्टर माईंड अरुण मीणा जो उसी गांव में रहता है और उसके तीन साथियों मलखान, राहुल तथा राजा ने इस अपहरण की प्लानिंग दिसंबर में ही कर ली थी। उन्होंने गांव के अंदर और अन्य रास्तों पर रेकी करके यह सुनिश्चित कर लिया था कि कहीं सीसीटीवी कैमरे न हों। अपराधियों ने अपने मोबाईल की सिम भी अवैध तरीके से ली थी। घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकिल चोरी की थी जिसकी नंबर प्लेट बदल दी थी। उन्होंने बताया कि फिरौती के रुप में अपहरणकर्ताओं ने परिवार के किसी सदस्य को एसएमएस करके एक करोढ़ रुपये की मांग की थी। मास्टरमाईंड अरुण बीएसएस कालेज में बीए मेनेजमेंट का प्रथम वर्ष का छात्र है। वो आगे पड़ाई करने विदेश जाना चाहता था इसीलिये उसने अपहरण के लिये मोहित को चुना। मोहित का परिवार इस क्षेत्र का संपन्न परिवारों में है। कुछ साल पहले परिवार ने शादी में किराये का हेलिकाप्टर भी लाया था। सभी अपहरणकर्ताओं की उम्र 19 से 20 साल है। अरुण के अलावा राजा भी इसी गांव का है। जो बेरोजगार है। अन्य दो आरोपी मलखान और राहुल अन्य गांव के हैं। वे एक माल में काम करते हैं।
मोहित को वापस पाकर उसकी मां कोमल और पिता मनोहर की आंख से आंसू नही रुक रहे थे।
मां कोमल ने बताया कि उन्होंने हरसिद्धी माता से बेटे की सकुशल वापसी की मन्नत मांगी थी।
आईजी श्री चौधरी ने घोषणा करी कि इस आपरेशन में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को इनाम दिया जाएगा।

अपने परिवार के बीच मोहित

अपने परिवार के बीच मोहित

प्रेस कांफ्रेंस में घटना की जानकारी देते आईजी योगेश चौधरी तथा अन्य अधिकारीगण

प्रेस कांफ्रेंस में घटना की जानकारी देते आईजी योगेश चौधरी तथा अन्य अधिकारीगण

पुलिस गिरफ्त में चारो अपहरणकर्ता

पुलिस गिरफ्त में चारो अपहरणकर्ता

Bhopal 4 May 2016

तेज हवा और बिजली के साथ हुई बारिश
भोपाल(तुसं)। राजधानी में आज बारिश के बाद मौसम ठंडा हो गया। दोपहर को तेज धूप के बाद बादलों ने डेरा डाला। शाम को हल्की बारिश भी हुई। रात को बिजली और तेज हवाओं के साथ तेज बारिश भी हुई। आज दिन का अधिकतम तापमान 41 डिग्री रहा वहीं रात को पारा गिरकर 26 डिग्री पर आ गया।

देर शाम को कड़कड़ाई बिजलियां

देर शाम को कड़कड़ाई बिजलियां

रात को हुई बारिश

रात को हुई बारिश

Ujjain 3 May 2016

लाखों श्रद्धालुओं ने किया पर्व स्नान।
उज्जैन(तुसं)-व्रत पर्व वरूथिनी एकादशी बैशाख कृष्ण पर माँ क्षिप्रा के रामघाट तट पर प्रात:काल से ही श्रद्धालुओं का जन-सैलाब उमड़ रहा था। लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई। देश के विभिन्न स्थान से आये श्रद्धालुओं में विशेष उत्साह दिखाई दिया। देर रात तक स्नान के लिये श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

रामघाट पर लगी श्रद्धालुओं की भीड़।

रामघाट पर लगी श्रद्धालुओं की भीड़।

श्रिप्रा में डुबकी लगाते श्रद्धालु

श्रिप्रा में डुबकी लगाते श्रद्धालु

शाम को हुई महाआरती

शाम को हुई महाआरती

Bhopal 3 May 2016

बेतवा नदी के उदगम से बहती है अखंड जलधारा

उदगम स्थल पर बनाए गए कुंड से बहती अखंड जलधारा

उदगम स्थल पर बनाए गए कुंड से बहती अखंड जलधारा

देवेंद्र दुबे, भोपाल। कोलार रोड पर सर्वधर्म पुल से लगभग 20 किमी की दूरी पर रायसेन जिले में झिरी गांव के समीप है बेतवा या वेत्रवती नदी का उदगम स्थल। गर्मियों में जब सारे जलस्रोत दम तोड़ देते हैं तो भी यहां शीतल जल की अखंड जलधारा बहती रहती है। बेतवा नदी यहां से निकलकर उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में जाकर यमुना नदी से मिलती है। यहां स्थित मंदिर के पुजारी बाबा गोपाल दास ने बताया कि यह स्थान एक शिवलिंग के आकार में है यहां जमीन के नीचे कुछ बावड़ियें हैं जिन्हें प्राचीन काल में राजाओं द्वारा बनवाया गया था। उदगम स्थल के आसपास एक निश्चित स्थान में 5 से 10 फीट खोदने पर ही तेज जलधारा निकलती है। लेकिन इसके बाहर 100 फीट भी खोदने पर पानी नहीं मिलता। इस स्थान पर हनुमान जी का एक मंदिर और एक शिवलिंग है। बताया जाता है कि ये शिवलिंग प्राचीन है। तेज गर्मी में भी इस क्षेत्र में ठंडक बनी रहती है। बाबा ने बताया कि यहां कभी भी मच्छरों का प्रकोप नहीं होता। उदगम स्थल पर एक कुंड बना है। आसपास के ग्रामीण इसी से जलापूर्ति करते हैं।

उदगम स्थल पर बनाए गए कुंड से बहती अखंड जलधारा

उदगम स्थल पर बनाए गए कुंड से बहती अखंड जलधारा

उदगम स्थल पर जमीन में दबी बावड़ी दिखाते बाबा गोपालदास

उदगम स्थल पर जमीन में दबी बावड़ी दिखाते बाबा गोपालदास

उदगम स्थल पर स्थापित प्राचीन शिवलिंग

उदगम स्थल पर स्थापित प्राचीन शिवलिंग

bhopal 2 May 2016

संवारेंगे रानी कमलापति का महल

भोपाल(तुसं)मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रानी कमलापति महल को सुंदर बनाया जायेगा। भोपाल में रानी कमलापति की प्रतिमा लगायी जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ रानी कमलापति आर्च ब्रिज का भूमि-पूजन कर रहे थे। उन्होंने महल का भ्रमण भी किया। मुख्यमंत्री ने रानी कमलापति पर केंद्रित फोल्डर का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी, भोपाल विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री ओम यादव, विधायक सर्वश्री विश्वास सारंग और रामेश्वर शर्मा, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष श्री मो. सगीर, पूर्व महापौर श्रीमती कृष्णा गौर, अन्य जन-प्रतिनिधि, महापौर परिषद के सदस्य और पार्षद उपस्थित थे।
परियों से सुंदर थीं रानी कमलापति
कमलापति गौंड राजा निजाम शाह की पत्नी थीं। उनके बारे में कहा जाता है कि वो सुंदरता और बुद्धिमत्ता की अदभुत मिसाल थीं। उन्हें परियों से सुंदर कहा जाता था। उन्होंने नवाब दोस्त मोहम्मद खान को राखी बांधी थी।

रानी कमलापति महल का निरीक्षण करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

रानी कमलापति महल का निरीक्षण करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

Bhopal 01 May 2016

Special Story

पानी में नहाते कुत्ते पर मगर का हमला(लाइव स्टोरी)
देवेंद्र दुबे, भोपाल।
कलियासोत डेम में इस समय कुत्तों पर मगरमच्छों के हमले लगभग रोज हो रहे हैं।
रविवार दोपहर को एक एेसे ही हमले को हमने लाईव कवर किया।
तपती दोपहरी में लगभग 3 बजे कुत्तों का एक झुंड पानी पीने किनारे पर आया। एक कुत्ता ठंडक पाने के लिये पानी में उतर गया, तभी उसे सामने एक मगरमच्छ नजर आया। कुत्ते ने भोककर उसे आगाह किया। फिर मगर पानी में गायब हो गया। बेफिक्र हुए कुत्ते पर पानी के अंदर से अचानक मगर ने हमला कर दिया, लेकिन कुत्ता बच गया और भाग निकला।
सूत्रों ने बताया कि आजकल कलियासोत डेम में मगर कुत्तों का शिकार कर रहे हैं।

पानी मे उतरे कुत्ते को कुछ फीट की दूरी पर नजर आया मगरमच्छ(लाल घेरे में)

पानी मे उतरे कुत्ते को कुछ फीट की दूरी पर नजर आया मगरमच्छ(लाल घेरे में)

फिर पानी में गायब हो गया मगरमच्छ

फिर पानी में गायब हो गया मगरमच्छ

पानी के अंदर कुत्ते पर किया मगर ने हमला

पानी के अंदर कुत्ते पर किया मगर ने हमला

बचकर भागते कुत्ते

बचकर भागते कुत्ते

डेम किनारे बैठे ये विशाल मगरमच्छ इंसान देखते ही पानी में छुप जाते हैं।

डेम किनारे बैठे ये विशाल मगरमच्छ इंसान देखते ही पानी में छुप जाते हैं।

पानी में उतर जाते हैं कई लोग

पानी में उतर जाते हैं कई लोग

क्यों कर रहे हैं हमला
मछुआरों ने बताया कि पहले ये मगर जाल में फंसी मछली को खींच लेते थे। तेज गर्मी में मछलिया तलहटी में चली जाती हैं और जाल खाली रहते हैं, इसलिये ये भूखे मगरमच्छ कुत्तों पर हमला कर रहे हैं।
कहां से आए मगरमच्छ
स्थानीय लोगों के अनुसार सन 2006 मे आई बाढ़ के बाद कुछ मगरमच्छ और घड़ियाल कलियासोत डेम में दिखाई देने लगे। धीरे-धीरे इनकी संख्या बड़ गई है। अब इनकी संख्या 15 से 20 तक पहुंच चुकी है।
क्या है खतरा
ये मगरमच्छ इंसान और बड़े जानवरों से डरते हैं और देखते ही गहरे पानी में चले जाते हैं, लेकिन आजकल डेम के पानी के पास घूमने वालों की संख्या बड़ रही है। लोग पानी में पैर डालकर बैठे रहते हैं। कुछ लोग पानी में भी उतर जाते हैं। इसलिये दुर्धटना हो सकती है।
क्या किया जा सकता है
प्रशासन ने डेम की दीवार के किनारे कुछ चेतावनी बोर्ड लगाए हैं, लेकिन डेम का क्षेत्र बड़ा है इसलिये संवेदनशील स्थानों पर चेतावनी बोर्ड लगाए जा सकते हैं।

(कृपया इस स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेट बाक्स में अवश्य दें।)

Bhopal 30 April 2016

मुख्यमंत्री निवास में लाईन में लगकर खरीदे बल्ब
भोपाल(तुसं)-मुख्यमंत्री निवास में अजब नजारा था। लोग लाइन में लगकर ऊर्जा दक्ष एल.ई.डी. बल्ब खरीदद रहे थे। कोई 10 तो कोई 20 बल्ब खरीद रहा था। मौका था ऊर्जा दक्ष एल.ई.डी. बल्ब वितरण योजना के शुभारंभ समारोह का,जहां ये 9 वाट का ये बल्ब मात्र 85 रु. में विक्रय किया जा रहा था।

उर्जा दक्ष एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल तथा उर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल

उर्जा दक्ष एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, उर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल, सांसद भोपाल आलोक संजर तथा महापौर भोपाल आलोक शर्मा

मुख्यमंत्री निवास में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उजाला योजना लोगों की जिंदगी में उजाला लायेगी। इससे उपभोक्ताओं और ऊर्जा विभाग दोनों की बचत होगी। समारोह में केन्द्रीय ऊर्जा एवं कोयला राज्य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि उजाला योजना देश की ऊर्जा सुरक्षा की महत्वाकांक्षी योजना है। इससे ऊर्जा की बचत होगी और प्रदूषण कम होगा। कार्यक्रम में सांकेतिक रूप से छह नागरिकों को एल.ई.डी. बल्ब वितरित किये गये।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नागरिकों से अपील की कि उजाला योजना में पुराने बल्बों को बदलकर एल.ई.डी. बल्ब लगायें। यह सबके फायदे की योजना है। केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री गोयल ने कहा कि उजाला योजना में सभी पुराने बल्बों को बदल कर एल.ई.डी. बल्ब लगाये जायेंगे। पिछले एक वर्ष में देश में 9 करोड़ एल.ई.डी. बल्ब लगाये गये हैं जिससे वर्ष भर में 5,500 करोड़ रुपये की बचत होगी। वर्ष 2019 तक देश में 77 करोड़ पुराने बल्ब बदलकर एल.ई.डी. बल्ब लगाये जायेंगे, जिससे जनता को 40 हजार करोड़ रुपये का लाभ होगा।
प्रदेश के ऊर्जा एवं जनसंपर्क मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि ऊर्जा के उत्पादन के साथ संरक्षण भी महत्वपूर्ण है। प्रदेश में योजना के तहत तीन करोड़ एल.ई.डी. बल्ब बाँटे जायेंगे। इससे 2,500 करोड़ रुपये की बचत होगी। प्रदेश में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है।
कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी, महापौर श्री आलोक शर्मा, सांसद श्री आलोक संजर, विधायक सर्वश्री विश्वास सारंग, रामेश्वर शर्मा, सुरेन्द्र नाथ सिंह और विष्णु खत्री उपस्थित थे।

उर्जा दक्ष एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम में बल्ब वितरण कर शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, उर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल तथा अन्य अतिथि गण।

उर्जा दक्ष एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम में बल्ब वितरण कर शुभारंभ करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, उर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल तथा अन्य अतिथि गण।

बल्ब खरीदने के लिये सीएम हाउस में लगे स्टालों पर लगी भीड़

बल्ब खरीदने के लिये सीएम हाउस में लगे स्टालों पर लगी भीड़

कुछ लोगों ने खरीदे ढेर सारे बल्ब कहा पूरे घर के बदल डालूंगा।

कुछ लोगों ने खरीदे ढेर सारे बल्ब कहा पूरे घर के बदल डालूंगा।

कुछ लोगों ने खरीदे ढेर सारे बल्ब

कुछ लोगों ने खरीदे ढेर सारे बल्ब

Bhopal 24 April 2016

हरिहर ग्राम(फंदा) से शुरु होगी नई रोशनी

Bhopal 22 April 2016

एक और गर्म दिन
भोपाल(तुसं)राजधानी आज फिर गर्म रही। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री रहा।
अभी तापमान बढ़ने के संकेत हैं। अगले दो तीन दिन में तापमान 42 डिग्री जा सकता है। आज सुबह से तेज हवाएें चलने के कारण लोगों को हल्की राहत मिली।

बोतल की ठंडक का सहारा

बोतल की ठंडक का सहारा

गर्मी से परेशान बच्चे।

गर्मी से परेशान बच्चे।

गर्मी से परेशान बच्चे।

गर्मी से परेशान बच्चे।

भोपाल रेल्वे स्टेशन प्याउ से नहाते साधू

भोपाल रेल्वे स्टेशन प्याउ से नहाते साधू

गर्मी में सहारा बनी छतरी

गर्मी में सहारा बनी छतरी

Bhopal 18 April 2016

महिला कांग्रेस का चूड़ी प्रदर्शन।
भोपाल(तुसं)। सोमवार को महिला कांग्रेस ने रोशनपुरा से विशाल हल्लाबोल रैली निकाली। सैंकड़ों की संख्या में महिला कार्यकर्ताओं ने चूड़ियां लेकर प्रदर्शन किया। रैली का नेतृत्व महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष शोभा ओझा और महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मांडवी चौहान ने किया। कांग्रेस कार्यकर्ता हजारों चूड़ियां लेकर सीएम हाउस की तरफ बड़ रहे थे। पुलिस ने बाणगंगा चौराहे पर इस रैली को रोक दिया। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों में तीखी झड़प हुई। कुछ कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर चूड़ियां फैंकीं। बाद में राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यहीं पर चूड़ियां पुलिस को भेंट करके रैली का समापन किया।

चूडि़यों के डिब्बे सिर पर रखकर आगे बढ़तीं महिला कार्यकर्ता।

चूडि़यों के डिब्बे सिर पर रखकर आगे बढ़तीं महिला कार्यकर्ता।

रैली का नेतृत्व करतीं शोभा ओझा।

रैली का नेतृत्व करतीं शोभा ओझा।

महिला पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच झड़प।

महिला पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच झड़प।

कार्यकर्ताओं ने फैंकी चूड़ियां।

कार्यकर्ताओं ने फैंकी चूड़ियां।

चूड़ी हमले से बचते पुलिसकर्मी।

चूड़ी हमले से बचते पुलिसकर्मी।

चूड़ी हमले से बचते पुलिसकर्मी।

चूड़ी हमले से बचते पुलिसकर्मी।

सड़क पर बिखरी चूड़ियां।

सड़क पर बिखरी चूड़ियां।

प्रदर्शन के बाद सड़क किनारे पड़े चूड़ियों के ढेर लगे रहे।

प्रदर्शन के बाद सड़क किनारे पड़े चूड़ियों के ढेर लगे रहे।

Bhopal 15 April 2016

भोज की नगरी में महामहिम का स्वागत
भोपाल(तुसं) राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी की मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राजाभोज विमानतल पर आज शाम अगवानी की। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता, महापौर श्री आलोक शर्मा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सुरेश पचौरी, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, पुलिस महानिदेशक श्री सुरेन्द्र सिंह, संभागायुक्त श्री एस.बी. सिंह, महानिरीक्षक पुलिस श्री योगेश चौधरी एवं अन्य गणमान्य नागरिक और अधिकारी उपस्थित थे।राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी दो दिवसीय प्रवास पर भोपाल आए हैं। वे यहां नेशनल ज्यूडिशयल अकादमी में हो रहे ‘रिट्रीट ऑफ सुप्रीम कोर्ट जजेज’ का 16 अप्रैल को उद्घाटन करेगें। महामहिम के आगमन पर नगर निगम भोपाल ने राजधानी को रंगीन लाईटों से सजा दिया है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राजाभोज विमानतल पर आज शाम अगवानी की।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राजाभोज विमानतल पर आज शाम अगवानी की।

राजा भोज मार्ग(व्हीआईपी रोड) से गुजरता महामहिम की कारों का काफिला।

राजा भोज मार्ग(व्हीआईपी रोड) से गुजरता महामहिम की कारों का काफिला।

भोपाल नगर निगम ने व्ही आई पी रोड पर रंगीन रोशनी लगाई।

भोपाल नगर निगम ने व्ही आई पी रोड पर रंगीन रोशनी लगाई।

विशेष योग में मनी रामनवमी-
भोपाल(तुसं)- राजधानी में धूमधाम से मनाई गई रामनवमी। चैत्र नवरात्र के अंतिम दिन नवमी पर रामजन्मोत्सव मनाया जाता है। दोपहर 12 बजे राम जन्म पर मंदिरों में विशेष पूजा होती है।इस बार रामजन्म पुष्य नक्षत्र में हुआ। पंडितों के अनुसार यह विशेष योग है। इसमें पूजा करना अत्यंत लाभकारी माना गया है। इसलिये आज रामनवमी का विशेष महत्व है। राजधानी के न्यूमार्केट स्थित राम मंदिर, गुरुबख्श की तलैया सब्जी मंडी स्थित राममंदिर , टीटीनगर राम मंदिर आदि अनेक मंदिरों में महाआरती हुई। कई स्थानों पर भंडारे का भी आयोजन किया गया।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में राम नवमी पूजा करते भक्तगण।

Bhopal 14 April 2016-

प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा महू में अम्बेडकर जन्म-स्थली पर श्रद्धा-सुमन अर्पित एवं ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान का शुभारंभ

भोपाल(तुसं)। भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महू स्थित उनकी जन्म-स्थली पर बने स्मारक में बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। प्रधानमंत्री ने डॉ. अम्बेडकर की आदमकद प्रतिमा के चरणों में पुष्प अर्पित किये। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, विभिन्न जन-प्रतिनिधि, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, पुलिस महानिदेशक श्री सुरेन्द्र सिंह और अम्बेडकर स्मारक संचालन समिति के पदाधिकारी मौजूद थे। श्री मोदी आज डॉ. अम्बेडकर की जन्म-भूमि महू (अम्बेडकर नगर) में विशाल जन सभा को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने बाबा साहेब की 125वीं जयंती पर ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान का भी शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा देश को सुदृढ़ बनाने के लिये संविधान में की गई अपेक्षाओं और महात्मा गाँधी के ग्राम स्वराज को साकार करने का काम अधूरा है। इसे पूरा करने के लिये विकास के सभी स्रोतों और संसाधनों को गाँव की ओर मोड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विकास के लिये टुकड़ों में काम करने से बात नहीं बनेगी।
श्री मोदी आज डॉ. अम्बेडकर की जन्म-भूमि महू (अम्बेडकर नगर) में विशाल जन सभा को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने बाबा साहेब की 125वीं जयंती पर ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान का भी शुभारंभ किया।

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महू स्थित उनकी जन्म-स्थली पर बने स्मारक में बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महू स्थित उनकी जन्म-स्थली पर बने स्मारक में बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

modi101

प्रधानमंत्री ने डॉ. अम्बेडकर की आदमकद प्रतिमा के चरणों में पुष्प अर्पित किये। फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

प्रधानमंत्री ने बाबा साहेब की 125वीं जयंती पर 'ग्रामोदय से भारत उदय' अभियान का शुभारंभ किया।फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

प्रधानमंत्री ने बाबा साहेब की 125वीं जयंती पर ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान का शुभारंभ किया।फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज इंदौर विमान तल पर स्वागत किया फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज इंदौर विमान तल पर स्वागत किया
फोटो सोर्स- मप्र जनसंपर्क

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष
भोपाल(तुसं)। संविधान निर्माता डॊ. भीमराव अंबेडकर की 125 वी जयंती पर बोर्ड आफिस चौराहा स्थित बाबा साहब की विशाल प्रतिमा के समक्ष कई राजनैतिक दलों और सामाजिक संगठनों ने कार्यक्रम प्रस्तुत किये तथा माल्यार्पण किया। इसी तारतम्य में एक अनूठा कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वयं सेवक दल के सदस्यों द्वारा भी प्रस्तुत किया गया। स्वयं सेवकों ने पथसंचलन करते हुए उदधोष रैली निकाली। इस दौरान मान वंदन का कार्यक्रम भी हुआ जिसमें नन्हे स्वयं सेवकों द्वारा भारत माता की झांकी बनाई गई। संभवतः पहली बार संघ द्वारा एेसा कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

स्वयं सेवकों ने बाबा साहब की जयंती पर अंबेडकर की प्रतिमा पर की मान वंदना तथा जयघोष

Bhopal 13 April 2016-

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा सावरकर सेतु लोकार्पित
भोपाल(तुसं)-
बुधवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान में वीर सावरकर सेतु(हबीबगंज आरओबी) का उदधाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अंग्रेजों की दासता से मुक्ति मातृभूमि के भक्तों की कुर्बानियों से मिली है। उन्होंने स्वातंत्र्य वीर सावरकर के संघर्ष और त्याग का स्मरण करते हुए कहा कि शहीदों की स्मृतियों को चिरस्थाई बनाया जाना चाहिये। इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलती है. उन्होंने कहा कि भोपाल के विकास पर 15 हजार करोड़ व्यय होंगे तथा रानी कमलापति महल का जीर्णोद्धार होगा और प्रतिमा लगेगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान में रिमोट द्वारा वीर सावरकर पुल को लोकार्पित किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान में रिमोट द्वारा वीर सावरकर पुल को लोकार्पित किया।

सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने पुल का नामकरण स्वातंत्र्य वीर सावरकर के नाम किये जाने को सराहनीय पहल बताया। महापौर श्री आलोक शर्मा ने कहा कि पुल बनने से नगर की 23 लाख की जनसंख्या लाभान्वित होगी। युग दृष्टा स्वातंत्र्य वीर सावरकर की स्मृति को चिरस्थायी बनाने के लिये रेलवे ओवर ब्रिज का नाम सावरकर सेतु रखा गया है। उन्होंने बताया कि पुल की चौड़ाई 24 मीटर, लंबाई डेढ़ किलोमीटर से अधिक है। आभार प्रदर्शन नगर निगम अध्यक्ष डॉ. सुरजीत सिंह चौहान ने किया। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी, सांसद आलोक संजर, विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह, रामेश्वर शर्मा, विश्वास सारंग और विष्णु खत्री, भोपाल विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष ओम यादव, पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक, पूर्व महापौर भोपाल कृष्णा गौर, निगम में प्रतिपक्ष के नेता मोहम्मद सगीर, पार्षद, मेयर इन काउन्सिल के सदस्य, अन्य प्रशासनिक एवं रेलवे के अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री तथा अन्य अतिथिगणों ने पुल का निरीक्षण किया।

इस अवसर पर महापौर आलोक शर्मा द्वा्रा विशाल पुष्पहार द्वारा मुख्यमंत्री का स्वागत किया गय़ा।

इस अवसर पर महापौर आलोक शर्मा द्वा्रा विशाल पुष्पहार द्वारा मुख्यमंत्री का स्वागत किया गय़ा।

मुख्यमंत्री ने किया पुल का निरीक्षण।

मुख्यमंत्री ने किया पुल का निरीक्षण।

Bhopal 12 April 2016-

वीर सावरकर पुल के स्वागत में हुई रंगारंग आतिशबाजी
भोपाल(तुसं)- 1.8 किमी लंबा, 6 लेन वाला हबीबगंज रेल्वे ओवर ब्रिज का बुधवार को उदधाटन होगा। लगभग 82 करोढ़ की लागत से बने इस पुल का नाम वीर सावरकर पुल होगा। मंगलवार शाम को इस ब्रिज पर आतिशबाजी की गई।

वीर सावरकर पुल के स्वागत में हुई रंगारंग आतिशबाजी

वीर सावरकर पुल के स्वागत में हुई रंगारंग आतिशबाजी

Habibganj railway over bridge, Bhopal is now Veer Savarkar bridge

Habibganj railway over bridge, Bhopal is now Veer Savarkar bridge

अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग।

लांबाखेड़ा में एक अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग लग गई

लांबाखेड़ा में एक अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग लग गई

लांबाखेड़ा में एक अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग लग गई

लांबाखेड़ा में एक अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग लग गई

भोपाल(तुसं)- बैरसिया रोड स्थिर लांबाखेड़ा में एक अगरबत्ती फेक्ट्री में भीषण आग लग गई। फायर ब्रिगेड की कई दर्जन गाड़िये मौके पर आग पर काबू पाने पहुंचीं। आग लगने के कारण अभी अज्ञात हैं। इस दुर्धटना में कोई भी व्यक्ति हताहत नहीं हुआ। सूत्रों के अनुसार यह फेक्ट्री कांग्रेस नेता गोविंद गोयल की हैं। खबर लिखे जाने तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका था।

Bhopal 11 April 2016-

चैत्र नवरात्र में भक्ति के प्रकाश से सजी राजधानी

भोपाल(तुसं)-चैत्र नवरात्र में राजधानी में हर ओर माता के जयकारे गूंज रहे है। राजधानी के कई मंदिरों में नवरात्र के दौरान विशेष हवन व पूजा का आयोजन किया गया है। प्रतिदिन कई स्थानों से भक्त चुनरी यात्रा निकाल रहे हैं। मंदिरों को रंगीन प्रकाश से सजाया गया है। काली मंदिर तलैया, सोमवारा भवानी मंदिर, काली मंदिर चूना भट्टी, खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रांगण में स्थित पहाड़ी मंदिर इत्यादि कई मंदिरों को सजाया गया है। इस बार चैत्र नवरात्र आठ दिवसीय है। 8 अप्रेल से शुरु हुआ नवरात्र उत्सव 15 अप्रेल को रामनवमी पूजा के साथ समाप्त होगा।

खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रांगण में स्थित पहाड़ी मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा की गई है। इसके सामने वाली सड़क के दोनों ओर भी सजावट की गई है। सोमवार शाम को लिये गए इस फोटो में सड़क के बीचोंबीच लाईट ट्रेल भी दिखाई दे रही है। स्लो शटर स्पीड यूस करके वाहनों की लाईट से इस तरह का इफेक्ट दिखाया जा सकता है जिसे लाइट ट्रेल कहते हैं।

खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रांगण में स्थित पहाड़ी मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा की गई है। इसके सामने वाली सड़क के दोनों ओर भी सजावट की गई है। सोमवार शाम को लिये गए इस फोटो में सड़क के बीचोंबीच लाईट ट्रेल भी दिखाई दे रही है। स्लो शटर स्पीड यूस करके वाहनों की लाईट से इस तरह का इफेक्ट दिखाया जा सकता है जिसे लाइट ट्रेल कहते हैं।

भोपाल दि.- 09 अप्रेल 2016

राजधानी में दो दिन रहेगा जलसंकट
भोपाल(तुसं)– कोलार ग्रेविटी मेन लाइन के रखरखाव एवं लीकेज सुधार के लिये मरम्मत का काम आज से शुरु होगा। इसके लिये आज कोलार मेन लाइन को आज खाली किया गया। कई स्थानों पर वाल्व को खोलकर लाइन से पानी बहा दिया गया। इसके कारण 9 एवं 10 अप्रेल को जलप्रदाय बंद रहेगा। 11 अप्रेल से नियमित जलप्रदाय शुरु हो सकेगा। इससे नए एवं पुराने शहर के अनेक स्थान प्रभावित होंगे। कोलार रोड पर जल प्रदाय की कोई व्यवस्था न होने के कारण कई लोग वाल्व से रिसते पानी से ही रोज अपनी जरुरत का पानी प्राप्त करते हैं। ये दो दिन उनके लिये भी बड़ी मुश्किल भरे होंगे।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

कोलार रोड पर मुख्य पाईप लाईऩ को खाली करने के लिये बहाए जा रहे पानी से जलापूर्ति करते लोग।

भोपाल दिं.- 08 अप्रेल 2016

माता की एक किमी लंबी चुनरी लेकर भक्तों ने की चार किमी की यात्रा।
भोपाल(तुसं)– नवरात्र के प्रथम दिवस कोलार रोड नयापुरा से चूनाभट्टी स्थित काली मंदिर तक चुनरी यात्रा का आयोजन किया गया। माता के सैकड़ों भक्त एक किलोमीटर लंबी चुनरी लेकर जय माता दी के नारे लगाते हुए चूनाभट्टी पहुंचे। आयोजकों ने बताया कि इस चुनरी की विशेषता ये है कि इसमें कहीं जो़ड़ नही लगा होता और कपड़ा मिल से इसे विशेष आग्रह पर बनवाया जाता है।

एक किमी लंबी चुनरी लेकर जाते भक्तगण

एक किमी लंबी चुनरी लेकर जाते भक्तगण

भोपाल (तुसं)- आज हिंदु नववर्ष विक्रम संवत 2073 का प्रथम दिन है। हिन्दू पंचांग के बारह महीनों के क्रम में पहले चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा वर्षभर की सभी तिथियों में इसलिए सबसे अधिक महत्व रखती है क्योंकि मान्यता के अनुसार इसी तिथि पर ब्रह्मा ने सृष्टि की रचना प्रारंभ की।

इस तिथि को प्रथम स्थान मिला, इसलिए इसे प्रतिपदा कहा गया है। आज से चैत्र नवरात्र भी प्रारंभ हैं तथा मराठी समाज द्वारा मनाए जाने वाला गुड़ी पड़वा पर्व भी आज ही है।
नौ दिवसीय दैवी अारधना का पर्व चैत्र नवरात्र के प्रथम दिन सुबह से मंदिरों में भारी भीड़ रही। कुछ प्रमुख मंदिर जैसे तलैया स्थित काली मंदिर, सोमवारा स्थित कर्फ्यू वाली माता का मंदिर, माता मंदिर टीटीनगर,चूना भट्टी स्थित काली मंदिर इत्यादि में श्रद्धालुओं का तांता दिनभर लगा रहा।
इसी तरह राजधानी में मराठी परिवारों द्वारा गुड़ी पड़वा का पर्व मनाया गया। इस अवसर पर घर की छत पर गुड़ी की पूजा की गई। गुड़ी को विजय पताका के रुप में पूजा जाता है।

चूना भट्टी काली मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

चूना भट्टी काली मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

चूना भट्टी काली मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

चूना भट्टी काली मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

राज्यपाल, मुख्यमंत्री और जनसंपर्क मंत्री ने प्रदेशवासियों को दी गुड़ी पड़वा और चेटी चंड की बधाई।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, महामहिम राज्यपाल रामनरेश यादव और जनसंपर्क मंत्री राजेन्द्र शुक्ल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, महामहिम राज्यपाल रामनरेश यादव और जनसंपर्क मंत्री राजेन्द्र शुक्ल

भोपाल(तुसं) राज्यपाल श्री रामनरेश यादव ने गुड़ी पड़वा और चैती चाँद पर्व के पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं। उन्होंने कहा कि गुड़ी पड़वा और चैती चाँद का पर्व नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है। यह हमारे देश में विविधता में एकता का उदाहरण है। यहाँ सभी पर्व और उत्सव एकता, सदभाव और समरसता के वातावरण में मनाये जाने की परम्परा है। राज्यपाल ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों के सुखी और समृद्ध जीवन की कामना की है1

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को हिन्दू नव वर्ष गुड़ी पड़वा एवं चैती चाँद (चैटी चंड)  की बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं। श्री चौहान ने कहा कि गुड़ी पड़वा भारतीय इतिहास और आध्यात्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अवसर है। उन्होंने कहा यह पर्व भारतीय संस्कृति का प्रतिनिधि और विजय बोध करवाने वाला पर्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि चैत्र नवरात्र के प्रारंभ से आध्यात्मिक अनुष्ठान की भी शुरूआत हो रही है। आध्यात्मिक वातावरण में सभी नागरिकों की सुख-समृद्धि के लिए आदि शक्ति से प्रार्थना करने का यह पावन अवसर है। उन्होंने सभी नागरिकों के सुखी जीवन की कामना करते हुए  गुड़ी पड़वा, चैती चाँद (चैटी चंड) को हर्षोल्लास से मनाने का आग्रह किया है।

जनसम्पर्क, ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा तथा खनिज साधन मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने गुड़ी पड़वा और चैती चाँद पर्व के पावन पर्व पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ देते हुए सबके मंगल की कामना की है।  श्री शुक्ल ने अपने संदेश में कहा है कि भारत पर्वों का देश है तथा त्यौहार हमारी संस्कृति का एक अहम अंग है। उन्होंने कहा कि गुड़ी पड़वा पर्व से ही नव वर्ष का आरंभ होता है। गुड़ी का अर्थ विजय पताका होता है। श्री शुक्ल ने कहा कि आध्यात्मिक वातावरण में सभी की खुशहाली के लिए आदिशक्ति से प्रार्थना करने का यह पावन अवसर है। जनसंपर्क मंत्री ने चैती चाँद पर्व की बधाई देते हुए कहा है कि जल-ज्योति, वरूणावतार, झूलेलाल सिंधी समाज के इष्ट देव है। भगवान झूलेलालजी के अवतरण को समाज चैती चांद के रूप में मनाता है। उन्होंने कहा कि भगवान झूलेलाल ने समाज के सभी वर्गों को एक कड़ी में जोड़े रखने के लिए महान कार्य किये हैं। उनके उपदेश आज भी प्रासंगिक है। श्री शुक्ल ने विश्वास व्यक्त किया कि यह पर्व प्रदेश में सुख-समृद्धि और सदभाव की भावना को सुदृढ़ बनायेगा।

 

One thought on “Bhopal News Today

  1. sunil parashar says:

    bahut badhiya dubey ji aap ka prayas sarahniya hai aap jaise patrakar is samaj ko acchi aur sacchi khabro se lagatar rubru karwate rahenge aasha hai khabro ke alawa jan samasyo ko bhi aap sarkar taq pahuchane ka prayas kare . punah badhai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title="" rel=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>